• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Betul News
  • छात्र से परेशान इंजीनियरिंग की छात्रा ट्रेन के सामने कूदी पारिवारिक विवाद में डीजे के स्टेनो ने खाया जहर, मौत
--Advertisement--

छात्र से परेशान इंजीनियरिंग की छात्रा ट्रेन के सामने कूदी पारिवारिक विवाद में डीजे के स्टेनो ने खाया जहर, मौत

बैतूल| होली के पहले जिला व सत्र न्यायाधीश के स्टेनो ने पारिवारिक विवाद तथा चिचोली में कर्ज से परेशान किसान ने...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:00 AM IST
बैतूल| होली के पहले जिला व सत्र न्यायाधीश के स्टेनो ने पारिवारिक विवाद तथा चिचोली में कर्ज से परेशान किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वहीं इंजीनियरिंग की छात्रा ने एक छात्र से परेशान होकर ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। छात्रा बुधवार रात 8 बजे से घर से लापता थी। रात में उसका शव रेलवे पटरी पर मिला। डीजे के स्टेनो ने घर में ही जहर खाकर आत्महत्या कर ली। मुआवजे की मांग को लेकर कांग्रेसियों ने सड़क पर जाम लगाया।

मरने से पहले सहेली को किया था मैसेज, जिंदगी से हो गई हूं हताश

शहर के विनोबा वार्ड निवासी महिमा पिता जगदीश परिहार (22) बालाजी इंजीनियरिंग कॉलेज में बीई की छात्रा थी। बुधवार रात 8 बजे वह अचानक घर से कहीं चली गई। परिजनों ने उसकी तलाश की, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। रात 3 बजे स्टेशन के पास माचना नदी के करीब किमी 852 पर एक लड़की का शव ट्रेन से कटा क्षत-विक्षत हालत में मिला। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने उसकी पहचान महिमा के रूप में की। गुरुवार को सुबह जिला अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराया। मृत छात्रा के परिजन सतीश ने बताया महिमा को उसके साथ पढ़ने वाला एक छात्र लंबे समय से परेशान कर रहा था। महिमा के एक रिश्तेदार ने उसे समझाइश भी दी। इसके बाद भी वह ब्लैकमेलिंग और प्रताड़ित करते रहा। सतीश का कहना है संभवत इसी कारण महिमा ने ट्रेन के सामने कूदकर अपनी जान दे दी। वाट्स एप और फेसबुक पर दोनों ने एक-दूसरे को मैसेज भी किए हैं। पढ़ाई में होनहार महिमा बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर अपना खर्चा उठाती थी। बुधवार रात उसने भोपाल में पढ़ रही अपनी सहेली को मैसेज भेजा कि मैं जीना नहीं चाहती। इस मैसेज के मिलने के बाद सहेली ने परिजनों को सूचना दी। जीआरपी चौकी प्रभारी मकसूद खान ने बताया रात को माचना नदी के पास अप ट्रैक पर छात्रा का शव मिला है। शव का पीएम कराकर परिजनों को सौंप दिया है। प्रथम दृष्टया छात्रा द्वारा आत्महत्या करना सामने आ रहा है। फिलहाल परिजनों के बयान नहीं हुए है। परिजनों के बयान के बाद ही आत्महत्या करने का सही कारण सामने आएगा।

मृतक महिमा परिहार

पिता बोला- ढाई साल से चल रहा था पारिवारिक विवाद

शहर के मोती वार्ड में रहने वाले देवेंद्र सिंह पिता इमरत सिंह नगदे (रघुवंशी) (52) जिला व सत्र न्यायाधीश के न्यायालय में स्टेनो थे। उनके दो बच्चे भी हैं। रात को वह अलग कमरे में सोए हुए थे। सुबह 8.30 बजे जब प|ी ने कमरे में जाकर देखा तो उनका शव मिला। प|ी ने इसकी सूचना ससुर इमरत सिंह को दी। जिला अस्पताल में डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मृतक देवेंद्र के पिता इमरत सिंह ने आरोप लगाया है कि ढाई साल से पारिवारिक विवाद चल रहा था। रात दो बजे भी कोई विवाद हो रहा था, लेकिन मैं नहीं गया। सुबह बहू ने बेटे के आत्महत्या करने की जानकारी दी। उन्होंने आशंका जताई है कि पारिवारिक विवाद के कारण ही बेटे ने आत्महत्या की है। जिला अस्पताल में पीएम करने वाले डॉ. रंजीत परिहार के मुताबिक मृतक ने जहर खाकर आत्महत्या की है।

बैतूल। बेटे की मौत के बाद विलाप करते पिता।

फेसबुक और वाट्सएप पर छात्रा और छात्र के बीच हुई बातचीत।

मृतक देवेंद्र

कर्ज से परेशान सीताडोंगरी के किसान ने की आत्महत्या, कांग्रेसियों ने हाईवे पर दिया धरना

चिचोली| कर्ज से परेशान किसान की आत्महत्या को लेकर कांग्रेस ने किया प्रदर्शन।

भास्कर संवाददाता | चिचोली

कर्ज से परेशान सीताडोंगरी गांव के किसान मनीराम सलामे (30) ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटना से आक्रोशित कांग्रेसियों ने गुरुवार दोपहर को हाईवे पर धरना दिया। कांग्रेसियों ने मृतक किसान के परिवार को 5 लाख की त्वरित आर्थिक सहायता देने की मांग की। इधर भाजपा के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और मृत किसान के परिवार को समझाइश दी। इसके बाद परिवार पीएम और अंतिम संस्कार के लिए राजी हुआ। तहसीलदार लालशाह जगेत ने बताया मृतक के खाते में 16 हजार रुपए की राशि डाली थी। मृतक ने आत्महत्या क्यों की है। इस संबंध कुछ नहीं कह सकते।

ट्रैक्टर से लाए थे शव

किसान के आत्महत्या के बाद कांग्रेसी सक्रिय हो गए और कांग्रेस नेता मृतक किसान के शव को घर से ट्रैक्टर में लेकर नेशनल हाईवे 59 ए पर पहुंचे। लेकिन इसी बीच भाजपा के किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष सुभाष पटेल ने मृतक के पिता को पोस्टमार्टम कराने के लिए मना लिया और वे ट्रैक्टर को वापस पीएम के लिए ले गए। वहीं कांग्रेसी बिना शव के ही धरने पर बैठे रहे। घटना स्थल पर प्रशासनिक अधिकारियों में एसडीएम केशव पांडे, तहसीलदार लालशाह जगेत, थाना प्रभारी सुनील लाटा मौजूद थे।

मृतक के पिता ने कहा: कर्जदार था बेटा

मृतक के पिता भुजल सलामे और गांव के लाेग बुधवार शाम 6 बजे साबाढ़ाना में भागवत कथा सुनने गए थे। तब मनीराम ने प|ी को खेत में भेजकर घर की म्याल से फंदा बांधकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मृतक को फंदे से उतारा। उन्होंने बताया उसके बेटे ने तीन स्वसहायता समूह के अलावा, सहकारी संस्था से खाद- बीज उठा रखा था। बैंक से केसीसी से भी कर्ज ले रखा था। ओलावृष्टि से फसल तबाह होने पर बुरी तरह टूट गया था। मृतक पर 40 से 45 हजार रुपए कर्ज होना बताया जा रहा है।

मृतक किसान का खेत में किया अंतिम संस्कार

चिचोली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मृतक का पीएम बीएमओ डॉ. सत्यजीत ने किया। पीएम के बाद शव परिजनों सौंपा दिया। परिजनों ने खेत में अंतिम संस्कार किया।

मृतक मनीराम

किसान ने फांसी लगाकर दी जान

आठनेर| थाना क्षेत्र के पुसली गांव में बुधवार शाम को एक किसान ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। मृतक युवराज पिता शोभाराम गढ़ेकर (28) ने शाम को खेत से आने के बाद फांसी लगा ली थी। सूचना मिलने पर एएसआई संतोष नागवे प्रधान आरक्षक जगदीश ठाकुर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने पंचनामा बनाया। युवक के फांसी लगाने के कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है।