• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Betul News
  • 1.24 करोड़ रुपए से मंडियों में बनेंगे कवर्ड शेड, अनाज होगा सुरक्षित
--Advertisement--

1.24 करोड़ रुपए से मंडियों में बनेंगे कवर्ड शेड, अनाज होगा सुरक्षित

जिले की प्रमुख कृषि मंडी और उपमंडियों में अब किसानों को बेहतर इंतजाम मिलेंगे। अनाज रखने और उसकी बिक्री की बेहतर...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:15 AM IST
जिले की प्रमुख कृषि मंडी और उपमंडियों में अब किसानों को बेहतर इंतजाम मिलेंगे। अनाज रखने और उसकी बिक्री की बेहतर व्यवस्था किसानों को मिल सकेगी। दरअसल मंडी प्रबंधन ने बोर्ड को बडोरा कृषि मंडी और शाहपुर उपमंडी में निर्माण कार्य करने के लिए 1.24 करोड़ के प्रस्ताव भेजे थे। इन प्रस्तावों को मंजूरी मिल गई है।


32 हजार किसानों को होगा फायदा, नहीं भीगेगा अनाज

इन दोनों मंडियों से जुड़े लगभग 32 हजार किसान हैं। इस तरह बड़ी संख्या में किसानों को इससे फायदा होगा। वर्तमान में किसानों को कई बार दो से तीन दिन तक अनाज लेकर मंडी में रुकना पड़ता है। बारिश में खुले में रखा अनाज भीग जाता है, अब ऐसी स्थितियां नहीं बनेंगी। शेड और नीचे सीमेंट कांक्रीट फर्श बनने से अनाज गीला नहीं होगा।

बैतूल। अभी इस तरह मंडियों में बाहर पड़ा रहता है अनाज।

बडोरा कृषि उपज मंडी में 55 लाख रुपए से बनेगा कवर्ड शेड

बडाेरा कृषि उपज मंडी में आने वाले किसानों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसकी तुलना में यहां पर शेड नहीं है। एक बड़े शेड का प्रस्ताव बनाकर बोर्ड को भेजा था। इसे मंडी बोर्ड ने मंजूर कर दिया है। अब 55 लाख रुपए से यहां पर बड़ा शेड बनाया जाएगा। इसके नीचे किसान अनाज रख सकेंगे। बारिश, ठंड और गर्मी में मौसम की मार से अनाज बचेगा। वहीं ऊबड़-खाबड़ जमीन पर 45 लाख से सीमेंट कांक्रीट बिछेगी।

चेक पोस्ट के साथ पानी टंकी भी बनेगी

इन प्रस्तावों के अलावा कुछ अन्य प्रस्ताव भी बोर्ड को भेजे थे। इन्हें एक सप्ताह के भीतर मंजूरी मिल सकती हैं। इनमें शाहपुर उपमंडी में 4 लाख रुपए की लागत से टंकी निर्माण का प्रपोजल भेजा है। इसी तरह शाहपुर उपमंडी में ही 3.5 लाख की लागत से चेक पोस्ट निर्माण का प्रपोजल भी भेजा है। इन दोनों प्रपोजलों को एक सप्ताह के भीतर मंजूरी मिलने के आसार हैं।

शाहपुर मंडी में 24 लाख से बनेगा कवर्ड शेड

शाहपुर की उपमंडी में आने वाले किसानों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। इस साल यहां मक्का की अच्छी आवक हुई थी। ऐसे में किसानों के लिए 24 लाख का कवर्ड शेड बनाने का प्रस्ताव भेजा था। इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। अब यहां बड़ा कवर्ड शेड बनेगा।

15 एकड़ में फैली है बडोरा मंडी

बडोरा कृषि उपज मंडी 15 किलोमीटर एरिया में फैली हुई है। मंडी में रोज 200 से 500 किसान आते हैं। बैतूल शहर के साथ-साथ जिले के अन्य क्षेत्रों से किसान यहां आते हैं। खाली और खुली जगह का सदुपयोग कर इस जगह पर अब शेड बन सकेंगे।