• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Betul News
  • सागौन के पेड़ काटने वाले को 20 दिन की सजा, बांस काटकर झोपड़ी बनाने वाले को न्यायालय उठने तक का दंड
--Advertisement--

सागौन के पेड़ काटने वाले को 20 दिन की सजा, बांस काटकर झोपड़ी बनाने वाले को न्यायालय उठने तक का दंड

बैतूल| वन अपराध के अलग-अलग चार मामलों में न्यायालय ने चार आरोपियों को सजा सुनाई। न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:15 AM IST
बैतूल| वन अपराध के अलग-अलग चार मामलों में न्यायालय ने चार आरोपियों को सजा सुनाई। न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी पंकज कुमार ने भारतीय वन अधिनियम 1927 के चार अलग-अलग मामलों में चार आरोपियों को सजा सुनाई। सागौन के पेड़ काटने वाले आरोपी को 20 दिन का कारावास तो बांस काटकर झोंपड़ी बनाने वाले को न्यायालय उठने तक यानी एक दिन न्यायालय में निषेध के रूप में बैठने की सजा सुनाई। जंगल की जमीन पर खेती करने वाले को 2 हजार रुपए जुर्माने से दंडित किया। वहीं सागौन के पेड़ों की फेंसिंग के तार काटकर अतिक्रमण करने वाले को 1500 रुपए जुर्माने की सजा दी। सभी मामलों में अभियोजन का संचालन एडीपीओ अमित राय ने किया और सहयोग एडीपीओ अमित जैन ने किया।

केस 1: खेती करने जंगल को नुकसान पहुंचाया, 2 हजार रुपए जुर्माने की सजा

20 अगस्त 2012 के आसपास चिचोली वन परिक्षेत्र की खैरी बीट में आरक्षित वन भूमि के कक्ष क्रमांक 1441 की वन भूमि की सफाई कर अतिक्रमण करने के मामले में दिनेश पिता मुन्ना निवासी लक्कड़जाम को आरोपी बनाया था। आरोपी ने खेती करने के लिए वन क्षेत्र को नुकसान पहुंचाया था। न्यायालय ने आरोपी को 2 हजार रुपए जुर्माने से दंडित किया।

केस 2: सागौन के पेड़ काटने वाले आरोपी को बीस दिन कारावास

6 सितंबर 2014 को खारी नाका के कक्ष क्रमांक आरएफ 254 के आरक्षित वन क्षेत्र में कुल्हाड़ी से सागौन के पेड़ काटने के आरोप में रामदास कतिया पर प्रकरण दर्ज किया था। पचामा निवासी आरोपी रामदास को भारतीय वन अधिनियम की धारा 26 के तहत बीस दिन के साधारण कारावास से दंडित किया।

केस 4: बांस काटकर हल्दुभाटिया में बना ली थी झोपड़ी

17 नवंबर 2014 को आरक्षित वन क्षेत्र के कक्ष क्रमांक 52 में बांस रोपड़ को अवैध रूप से काटकर झोंपड़ी बनाने के मामले में खोड़ पिता ओझा निवासी हल्दुभाटिया को आरोपी बनाया था। न्यायालय ने आरोपी को न्यायालय उठने तक कारावास और 200 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। आरोपी को एक दिन न्यायालय में निषेध के रूप में बैठाकर रखा जाएगा।

केस 3: सागौन की फेंसिंग के तार काटने पर 1500 रुपए जुर्माना

26 अप्रैल 2014 को बीट शोभापुर के कक्ष क्रमांक 342 के कूप नंबर-1 में सागौन रोपड़ी की सुरक्षा में लगी फेंसिंग के तार को काटकर अतिक्रमण करने के मामले में आरोपी रतन सरकार को 1500 रुपए अर्थदंड से दंडित किया।