--Advertisement--

रोड पर झूलते बिजली के तार से मंडरा रहा करंट का खतरा

सड़क से 18 फीट ऊंची होनी चाहिए बिजली लाइन, चक्कर रोड पर केवल 11 फीट ऊंची रह गई भास्कर संवाददाता | बैतूल चक्कर रोड पर...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:15 AM IST
सड़क से 18 फीट ऊंची होनी चाहिए बिजली लाइन, चक्कर रोड पर केवल 11 फीट ऊंची रह गई

भास्कर संवाददाता | बैतूल

चक्कर रोड पर नया पुल बनाया जा रहा है। बिना बिजली लाइन को सही ढंग से शिफ्ट करवाए पीडब्ल्यूडी ने बगल से डाइवर्ट सड़क बना दी है। इस डाइवर्ट सड़क पर बिजली के तार बड़े वाहनों के ऊपरी हिस्से के बेहद करीब आ गए हैं। यहां से स्कूली वाहन और बड़े ट्रक गुजरते हैं ऐसे में यदि लाइन को शिफ्ट नहीं किया तो बड़ी दुर्घटना हो सकती है। जिस जगह डाइवर्ट रोड बना है। उस जगह बिजली लाइन क्रॉस हो रही है। इसे शिफ्ट करना बेहद जरूरी हो जाता है।

एक सप्ताह पहले तोड़ा था पुल

एक सप्ताह पहले ही पीडब्ल्यूडी ने जैन दादावाड़ी के समीप स्थित इस पुल को तोड़ा था। इसके बगल से डाइवर्ट रोड बनाया है। पुल को पूरी तरह उखाड़ दिया है। इस तरह बिजली तारों के खतरे वाली डाइवर्ट रोड से ही वाहन चालकों को गुजरना पड़ रहा है।

प्राइवेट स्कूलों की बसें और ट्रक गुजरते हैं

इस रूट से प्राइवेट स्कूलों की बसें गुजरती हैं। इसमें मासूम बच्चे बैठे रहते हैं। इसी तरह ओवरलोड ट्रक भी इस एरिया से गुजरते हैं। इनके ऊपरी हिस्से तार में केवल आधा से 1 फीट दूर ही रह जाते हैं। ऐसे में किसी भी समय हादसा हो सकता।

तार की ऊंचाई जमीन से सात फीट कम

विद्युत अधिनियम के अनुसार बिजली के इन तारों की सड़क से ऊंचाई कम से कम 18 फीट रहनी चाहिए। लेकिन चक्कर रोड पर बनाए डाइवर्ट रोड पर सड़क से केवल 11 फीट ऊपर बिजली के तार हैं।

बिजली के खंभों के नीचे से गायब हुई मिट्‌टी, गिर सकते हैं खंभे : नया पुल बनाने के लिए की जा रही खुदाई के कारण इससे सटे बिजली के खंभों के नीचे से मिट्‌टी धंसक गई है। मिट्‌टी धंसकने के कारण यहां पर तीन खंभे गिरने की कगार पर आ गए हैं। यदि ये बिजली खंभे गिरते हैं तो बड़ा हादसा हो सकता है।

मुआयना करेंगे


शिफ्ट करने का प्रयास करेंगे