पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक साल पहले समतल की जमीन आज भी अधूरा है हॉकी का मैदान

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जेएच कॉलेज में हॉकी मैदान का निर्माण कार्य दो सालों से अधूरा पड़ा है। कॉलेज में हॉकी मैदान के लिए जमीन समतल करने के बाद करीब 1 साल से काम बंद है। हॉकी मैदान का निर्माण कार्य अधूरा होने छात्रों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। जानकारी के अनुसार कॉलेज में 6 लाख 4 हजार रुपए की लागत से हॉकी मैदान का निर्माण होना है।

जिले के सबसे बड़े कॉलेज में हॉकी मैदान बनने से खिलाड़ियाें काे लाभ मिल सकता था, लेकिन अारईएस विभाग की लापरवाही के चलते निर्माण कार्य शुरू भी नहीं हो सका। आरईएस के अधिकारी को मैदान का काम क्यों बंद पड़ा है। जिसकी जानकारी तक नहीं है। आरईएस विभाग के कार्यपालन यंत्री आरके श्रीवास्तव ने बताया वर्तमान में आचार संहिता के कारण मैदान का काम बंद है। एक साल से काम बंद क्यों है ये फाइल देकर ही बता पाऊंगा।

बैतूल। एक साल से जमीन समतल करने के बाद ऐसी है स्थिति।

कॉलेज ने मैदान के लिए दिए तीन लाख रुपए
कॉलेज की ओर से हॉकी मैदान के निर्माण के लिए दिए जाने वाला अंशदान की राशि 3 लाख 2 हजार रुपए आरईएस को भुगतान कर दिया है। शेष राशि 3 लाख 2 हजार रुपए शासन की ओर से दी जानी है। राशि के अभाव में मैदान का कार्य पूर्ण नहीं हो पा रहा है।

हॉकी मैदान का निर्माण कार्य आरईएस विभाग कर रहा है। कॉलेज की ओर से अंशदान की राशि दे दी गई है। मैदान का काम क्यों बंद है, आरईएस विभाग ही बता सकता है। डाॅ. राकेश तिवारी, प्राचार्य, जेएच कॉलेज

खबरें और भी हैं...