Hindi News »Madhya Pradesh »Betul» धूप में पर्ची कटवाने लगी किसानों की लंबी कतार किसानों ने मंडी का गेट बंद कर किया हंगामा

धूप में पर्ची कटवाने लगी किसानों की लंबी कतार किसानों ने मंडी का गेट बंद कर किया हंगामा

मंडी में अनाज खरीदी तेजी पर है। भीषण गर्मी में भी कोने-कोने से किसान मंडी तक पहुंच रहे हैं। गुरुवार को मंडी के मेन...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:20 AM IST

धूप में पर्ची कटवाने लगी किसानों की लंबी कतार किसानों ने मंडी का गेट बंद कर किया हंगामा
मंडी में अनाज खरीदी तेजी पर है। भीषण गर्मी में भी कोने-कोने से किसान मंडी तक पहुंच रहे हैं। गुरुवार को मंडी के मेन गेट के चेक पोस्ट पर चिलचिलाती धूप में कतार में लगे किसानों में आक्रोश भड़क गया। किसानों ने मंडी का मेन गेट बंद कर दिया और हंगामा करना शुरू कर दिया। इसके बाद मंडी पदाधिकारियों ने छांव में पर्ची काउंटर खुलवाया तब जाकर किसानों का आक्रोश ठंडा हुआ।

गुरुवार दोपहर मंडी में सोयाबीन, गेहूं और मक्के की बंपर आवक के कारण मेन गेट के चेक पोस्ट पर पर्ची कटवाने वाले किसानों की लंबी कतार लग गई। गेहूं की आवक तो 7 हजार बोरे के पार पहुंच गई। अनाज लेकर किसान बाहर पर्ची कटाने कतार में लग गए। लगभग 150 किसान और उनके साथ आए मजदूर यहां जमा हो गए। भीषण गर्मी में चिलचिलाती धूप में पर्ची कटवाने का इंतजार करते-करते आक्रोश भड़क गया। किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष रमेश गायकवाड़ के नेतृत्व में मेन गेट को बंद कर दूसरा काउंटर छांव में खोलने की मांग उठाई। लगभग 10 मिनट गेट बंद रहा। इसके बाद थोक सब्जी व्यापारियों के छांव वाले शेड में दूसरा पर्ची काउंटर खुलवाया। इसके बाद छांव में किसानों की पर्चियां कर्मचारियों ने तेजी से काटी और तब जाकर किसानों का आक्रोश शांत हुआ।

बैतूल। कृषि मंडी का गेट बंद कर हंगामा करते हुए किसान।

गुरुवार को 10,309 बोरे अनाज आया, इसलिए लगी कतार

गुरुवार को मंडी में सोयाबीन, गेहूं और मक्के की बंपर आवक हुई थी। कुल 10,309 बोरे सोयाबीन, गेहूं और मक्के की आवक हुई। 2384 बोरे सोयाबीन, 7103 बोरे गेहूं और 653 बोरे मक्के के आवक मंडी में दिन भर में हुई। यही कारण था कि कतार लंबी हो गई और किसानों में आक्रोश भड़क गया।

55 लाख रुपए से नया शेड स्वीकृत, काम चालू नहीं हुआ

15 एकड़ जमीन पर बनी बडोरा मंडी में कवर्ड शेड बेहद कम हैं। सब्जी व्यापारियों की शिफ्टिंग मंडी में होने के बाद से शेड और कम हो गए हैं। हाल ही में 55 लाख की लागत से नया शेड स्वीकृत हुआ था। लेकिन इसका निर्माण शुरू नहीं हुआ है। निर्माण शुरू करना जरूरी है।

मांग पर दूसरा काउंटर खोल दिया था

बडोरा मंडी में किसानों ने धूप के कारण हो रही परेशानियों के कारण दूसरा काउंटर खोलने की मांग की थी। छांव में दूसरा काउंटर खोल दिया था। एसके भालेकर, मंडी सचिव

चार पानी टंकियां बनाई बोर से नहीं जोड़ीं, पानी भी नसीब नहीं

किसानों के लिए मंडी में 1-1 लाख रुपए की लागत से चार पानी टंकियां बनाईं हैं। इन पानी टंकियों को मुख्य बोर से पानी की पाइप लाइन बिछाकर जोड़ा जाना है। इसका काम भी नहीं किया है। केवल 150 मीटर पाइप लाइन बिछा दी जाए तो चार टंकियों का पानी पीने के लिए उपलब्ध हो जाएगा।

2 की जगह 5 रुपए की काटी जा रही थी वाहन पर्ची

मंडी में गुरुवार को तेज धूप में लगभग 200 किसानों की लंबी कतार लगी थी। कुछ किसानों को धूप में लगे-लगे चक्कर भी आ गए। कतार बेहद धीरे आगे बढ़ रही थी। आधार कार्ड देखने में लंबा समय लगाया जा रहा था। रसीद काटने का 5 रुपए लिया जा रहा था जो ज्यादा था। 2 रुपए की वाहन पर्ची कटती है। इसलिए गेट बंद कर विरोध प्रदर्शन किया था। दो काउंटर खोलने की मांग की थी, बाद में छांव में काउंटर लगाने के बाद विरोध प्रदर्शन रोका था। रमेश गायकवाड़, जिलाध्यक्ष, किसान कांग्रेस

छांव में काउंटर खुलवाने की मांग कर रहे थे किसान

मेन गेट पर ज्यादा किसानों के आ जाने के कारण लंबी कतार लग गई थी। जांच और प्रक्रिया में थोड़ा समय लग रहा था। धूप में खड़े किसान अलग से छांव में काउंटर खुलवाने की मांग कर रहे थे। सब्जी व्यापारियों के शेड में छांव में दूसरा काउंटर खुलवा दिया था। दो काउंटर खोल दिए थे। एचआर लोखंडे, मंडी निरीक्षक

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Betul

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×