Hindi News »Madhya Pradesh »Betul» 14 दिन से तीन रेस्क्यू पिंजरे लगाकर रखे, तेंदुए का सुराग तक नहीं लगा, पगमार्क भी नहीं मिले

14 दिन से तीन रेस्क्यू पिंजरे लगाकर रखे, तेंदुए का सुराग तक नहीं लगा, पगमार्क भी नहीं मिले

उत्तर वनमंडल के डोकली रैयत गांव में एक बालिका को घर से खींचकर ले जाने वाले तेंदुए का कोई भी सुराग बीते 14 दिनों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:25 AM IST

उत्तर वनमंडल के डोकली रैयत गांव में एक बालिका को घर से खींचकर ले जाने वाले तेंदुए का कोई भी सुराग बीते 14 दिनों में नहीं लगा है। वन विभाग ने तीन रेस्क्यू पिंजरे 14 दिन से लगाकर रखे हैं, लेकिन तेंदुए का कहीं अता-पता नहीं है। तेंदुए का पिंजरे में आना तो दूर उसका कोई पगमार्क भी बीते 14 दिन में नहीं मिला है। 2 और 3 मई की दरमियानी रात एक तेंदुए ने डोकली रैयत गांव में एक घर में घुसकर सशीला नाम की बालिका को घायल कर दिया था। 3 मई को लोनिया में भी ग्रामीणों ने एक तेंदुए को देखा। इसके बाद वन विभाग ने 4 मई को डोकली रैयत गांव में एक रेस्क्यू पिंजरा लगाया था। 5 मई को सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के दो और रेस्क्यू पिंजरे बुलाए। इनमें बकरियां रखी जा रही हैं। 14 दिनों से वन अमला रोज रेस्क्यू पिंजरे चेक कर रहा है लेकिन तेंदुए का पकड़ आना तो दूर इनके आसपास भी तेंदुआ दिखा भी नहीं। रेंजर विजय बारस्कर ने बताया रेस्क्यू पिंजरे लगाए हैं। हालांकि अभी तक तेंदुआ पकड़ नहीं आया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Betul

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×