सिलपटी गांव में 14 हैंडपंप सूखे, एक ट्यूबवेल में फंसी मोटर, ग्रामीण बैलगाड़ी से ढाे रहे पानी

Betul News - मई माह आते ही शाहपुर ब्लाॅक में जलसंकट के हालात गंभीर हो गए हैं। सिलपटी पंचायत में जलस्तर तेजी से नीचे गिरने से...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:16 AM IST
SHAHAPUR News - mp news 14 handpumps dried in silapati village trapped motor in a tubewell water filled with rural bullock cart
मई माह आते ही शाहपुर ब्लाॅक में जलसंकट के हालात गंभीर हो गए हैं। सिलपटी पंचायत में जलस्तर तेजी से नीचे गिरने से ग्रामीणों को बैलगाड़ी पर कोठी रखकर पानी ढोना पड़ रहा है। इस गांव में फरवरी माह में ही 21 में से 14 हैंडपंप बंद हो गए थे। गांव में जलप्रदाय करने वाले तीन ट्यूबवेल में से एक में मोटर फंस गई। खेड़ापति मंदिर के पास के ट्यूबवेल से ग्रामीणों को डेढ़ घंटे पानी सप्लाई होता है। इतने में ग्रामीणों को बराबर पानी नहीं मिलने से गांव के बाहर स्कूल के पीछे वाले ट्यूबवेल से बैलगाड़ी में कोठी रखकर पानी लाना पड़ रहा है। यह मोटर भी 2 घंटे ही चल रही है। इससे ग्रामीणों को परेशानी हाे रही है।

गांव में सबसे अधिक स्कूल मोहल्ले के लोगों की परेशानी है। इस मोहल्ले में 100 से अधिक घर हैं। मोहल्ले के सभी पांच हैंडपंप बंद पड़े हुए हैं। नलजल योजना का पानी इस मोहल्ले तक नहीं आता। यहां के निजी ट्यूबवेल भी सूख गए हैं। इस कारण स्कूल के पीछे वाले पंचायत के बोर में डली सिंगल फेस मोटर से पानी लाने

लोग सुबह से बैलगाड़ी में कोठी और डिब्बे लेकर पहुंच जाते हैं। करीब 100 घर के लोगों को यहां पानी लेने दौड़ लगानी पड़ती है। यह मोटर भी महज दो घंटे पानी उगलती है। इसमें पाइप बढ़ाने से मोटर 400 फीट नीचे से पानी निकाल रही है। शुक्रवार को भी दाे घंटे ही मोटर चल पाई।


शाहपुर। हैंडपंप पर पानी भरने के लिए बैलगाड़ी लेकर पहुंचे लोगों ग्रामीण।

कहार मोहल्ले में ट्यूबवेल में फंसी मोटर

आबादी के एक हिस्से में पेयजल आपूर्ति के लिए कहार मोहल्ले के बोर में डली 5 एचपी की मोटर ने मंगलवार से पानी देना बंद कर दिया है। मोटर निकालने के दाैरान वह बाेर में ही फंस गई। शुक्रवार को दोबारा इसे निकालने का प्रयास किया जा रहा है। पंचायत सचिव ने बताया खेड़ापति वाले बोर में भी पाइप बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

सुझाव : तवा नदी के किनारे खोदंे कुआं

सिलपटी गांव के रामकिशोर कहार, सीताराम सिनोटिया, श्रीपत वर्मा, कैलाश चौरे, रामसेवक मोरे का कहना है कि सिलपटी जलसंकटग्रस्त क्षेत्र है। तवा नदी किनारे कुआं खोदकर यहां पेयजल आपूर्ति की जानी चाहिए। गांव के संतोष वर्मा का कहना है कि स्कूल के पीछे वाले बोर में बड़ी मोटर डालकर उसे पाइप लाइन से जोड़ने के लिए पंचायत सचिव को कहा है।

हरिमऊ के ग्रामीणों को पांच दिन बाद मिल रहा पानी, 2 हैंडपंप में पानी हुआ कम

भैंसदेही|
अंचल के आदिवासी गांव हरिमऊ में ग्रामीणों को 5 दिन के अंतराल में पानी मिल रहा है। गांव के यह हालात हैं कि यहां तीन में से एक हैंडपंप बंद हो गया है। एक में रुक-रुककर पानी आ रहा है। धार से पाइप लाइन से हरिमऊ गांव में पानी सप्लाई किया जाता है। लेकिन वह भी पांच दिन के अंतराल में आने से ग्रामीणों को परेशानी उठानी पड़ रही है। धार के एक ट्यूबवेल में सिंगल फेस मोटर फंसने के कारण ग्रामीणों को पांच दिन बाद पानी मिल रहा है। पीएचई के सब इंजीनियर अखिलेश बड़ोदे ने बताया ग्रामीणों को जलसंकट के निराकरण के लिए कुएं से डीजल इंजिन से पाइप लाइन से ग्रामीणों को पानी पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया जनपद पंचायत को पत्र लिखा जा रहा है कि ग्राम पंचायत को पाइप लाइन डालने का काम शीघ्र पूरा करने के निर्देश दें।

X
SHAHAPUR News - mp news 14 handpumps dried in silapati village trapped motor in a tubewell water filled with rural bullock cart
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना