• Hindi News
  • Mp
  • Betul
  • Betul News mp news 14 pipes were diverted to change the direction of the drain yet the dirt getting found in the kitchen near the filter plant

नालेे की दिशा बदलने डाल दिए 14 पाइप, फिर भी फिल्टर प्लांट के पास ही माचना में मिल रही गंदगी

Betul News - शहर के पेयजल सप्लाई के माचना नदी पर एनीकट के समीप नाले के ड्रेनेज का गंदा पानी मिलने का मामला दैनिक भास्कर में...

Dec 11, 2019, 07:41 AM IST
Betul News - mp news 14 pipes were diverted to change the direction of the drain yet the dirt getting found in the kitchen near the filter plant
शहर के पेयजल सप्लाई के माचना नदी पर एनीकट के समीप नाले के ड्रेनेज का गंदा पानी मिलने का मामला दैनिक भास्कर में उजागर होने के बाद नगर पालिका ने नाले की दिशा बदलने के लिए ड्रेनेज पाइप की नई लाइन बिछा दी। लेकिन उसे भी इंटकवेल से 200 मीटर दूर माचना में ही मिला दिया।

जिस जगह से डायवर्टेड पाइप लाइन शुरू हुई है उस जगह लेवल गड़बड़ होने और मिट्टी जमा होने के कारण पानी रुक रहा है। विवेकानंद वार्ड स्थित माचना नदी के इंटकवेल और फिल्टर प्लांट से पानी शहर में सप्लाई हाेता है। विवेकानंद वार्ड की नई कॉलोनियों की गंदगी नाले के जरिए इंटकवेल से 200 मीटर दूर माचना नदी में मिल रही है। नपा ने नाले का रूट डायवर्ट करने के लिए 2 लाख 60 हजार रुपए खर्च कर 14 पाइप डालकर नई ड्रेनेज तो बिछा ली। लेकिन बावजूद इसके पहले की तरह पुराने रूट पर माचना के इंटकवेल से 200 मीटर दूर ही पानी मिल रहा है।

बेमतलब का काम : जिस जगह से पानी जाना है वहां लेवल नहीं किया ठीक, मिट्टी भी नहीं की साफ

बैतूल। इस तरह माचना में अभी भी मिल रही है गंदगी, इस तरह डाले गए हैं पाइप।

2.60 लाख रुपए का खर्च, 17 पाइप बुलाए थे, 14 डाले गए

नगर पालिका ने यह काम फिल्टर प्लांट को सुरक्षित करने और बाउंड्रीवॉल निर्माण के कार्य के तहत ही करवाया है। सीमेंट के 17 बड़े पाइप नगर पालिका ने बुलवाए थे। इनमें से 14 लगाए जा चुके हैं। पाइप को उठाने और रखने के लिए मशीनों का उपयोग किया था। इसका भी भुगतान किया है।

ताप्ती नदी से पानी सप्लाई बंद पड़ी, अब माचना पर ही दारोमदार

इधर 24 अगस्त को ताप्ती नदी की पेयजल सप्लाई पाइप लाइन बह गई थी। इसे ठीक करने के लिए काम शुरू नहीं हुआ है। चार महीने से नगरपालिका माचना नदी से ही पानी ले रही है। ऐसे में पूरा दारोमदार माचना नदी पर टिका हुआ है। ऐसे में माचना का पानी साफ रखने के लिए प्रयास करना जरूरी है।

नई लाइन का पाइप ऊंचा बिछाया, पुराने पाइप को बंद करने की जरूरत

पानी जिस जगह पर दो भागों में बंटता है वहां पर दो पाइप हैं। नई बिछी लाइन के पहले पाइप में जिस जगह से पानी को मोड़ा जाना था। वहां मिट्टी जमा है। इस पाइप को नीचे लगाया जाना था लेकिन पाइप का लेवल ऊंचा है। घास में दबा नाले की गंदगी तेज शोर के साथ नदी के पानी के साथ मिल रही थी। यह पानी डायवर्टेड नई लाइन में नहीं जा रहा था।

भास्कर ने उठाया था मामला

भास्कर ने 26 नवंबर को बैतूल से खिलवाड़, माचना में जहां से पीने का पानी लेती है नपा, उससे 200 मीटर ऊपर मिल रहा नाला शीर्षक से खबर प्रकाशित करके मामले को उजागर किया था।

माचना से सप्लाई के लिए रोजाना लिया जाता है 67 लाख लीटर पानी

नपा रोजाना माचना नदी पर बने इंटकवेल से 67 लाख ली. पानी लेती है। 19 हजार कनेक्शनधारियों को यह पानी सप्लाई होता है। इंटकवेल पर लगी मोटरों से पानी फिल्टर प्लांट में पंप किया जाता है। माचना नदी पर जिस जगह यह इंटकवेल है उससे केवल 200 मी. दूर नाले का यह पानी माचना नदी में मिल रहा है।

 

26 नवंबर को प्रकाशित खबर।

यदि पानी डायवर्ट नहीं हाे रहा है ताे कराया जाएगा


Betul News - mp news 14 pipes were diverted to change the direction of the drain yet the dirt getting found in the kitchen near the filter plant
Betul News - mp news 14 pipes were diverted to change the direction of the drain yet the dirt getting found in the kitchen near the filter plant
X
Betul News - mp news 14 pipes were diverted to change the direction of the drain yet the dirt getting found in the kitchen near the filter plant
Betul News - mp news 14 pipes were diverted to change the direction of the drain yet the dirt getting found in the kitchen near the filter plant
Betul News - mp news 14 pipes were diverted to change the direction of the drain yet the dirt getting found in the kitchen near the filter plant
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना