• Hindi News
  • Mp
  • Betul
  • Betul News mp news call it chamber or leakage water fountains coming out of 6 places in 50 km pipeline

इसे चैंबर कहें या लीकेज : 50 किमी पाइप लाइन में 6 जगह से निकल रहे पानी के फव्वारे

Betul News - लंबी दूरी तक प्रेशर से पानी पहुंचाने वाली पाइप लाइन में एअर वाल्व चैंबर लगाने की टेक्नालॉजी उपयोग किया है, इन एयर...

Nov 11, 2019, 06:40 AM IST
लंबी दूरी तक प्रेशर से पानी पहुंचाने वाली पाइप लाइन में एअर वाल्व चैंबर लगाने की टेक्नालॉजी उपयोग किया है, इन एयर वाल्व चैंबरों की तकनीकी खामियां पेयजल सप्लाई शुरू होने के 3 साल के भीतर ही सामने आने लगी हैं, वाल्व में लीकेज होने के बाद ऊंचे फव्वारे निकलने लगे हैं। इसके बावजूद पीएचई ने इनकी रिपेयरिंग करवाने की सुध नहीं ली है। प्रधानमंत्री सड़क के बगल में लगे इन चैंबरों से छूट रहे फव्वारों से वाहन अनियंत्रित हो जाते हैं। इधर ग्रामीण छूट रहे फव्वारों से वाहन धो रहे हैं।

50 किमी पाइप लाइन में बनाए हैं 30 चैंबर

धनोरा समूह जलप्रदाय योजना के तहत ताप्ती नदी पर पारसडोह बांध से 3 किमी दूर एक बैराज बनाया है। इस बैराज पर इंटक वेल है। इंटक वेल से कुछ दूरी पर फिल्टर प्लांट है। फिल्टर प्लांट में रोजाना 30 लाख लीटर पानी फिल्टर करके 20 गांवों तक पानी सप्लाई की जाती है।

पाइप लाइन के वाल्व चैंबरों में लीकेज, वाहन धो रहे लोग, बर्बाद हो रहा पानी

धनोरा गांव के समीप ऐसे रहते हैं नजारे

धनोरा गांव के समीप पाइप लाइन के दो एअर चैंबरों से 30 से 40 फीट ऊंचे पानी के फव्वारे निकलते हैं। प्रधानमंत्री सड़क के ठीक बगल में होने के कारण फव्वारों का पानी सड़क तक आता है। पीएचई भले ही पेयजल सप्लाई के पानी को दिशा नहीं दे पा रही है। लेकिन वाहन मालिकों ने इस पानी को दिशा देना सीख लिया है। इस पानी के फव्वारे पर चपटा पत्थर लगाकर लोग वाहनों को प्रेशर से धो रहे हैं।

इधर, अमृत के लीकेज चैंबर नहीं हुए ठीक, मोती वार्ड समेत अन्य जगह बहता है पानी

इधर अमृत प्रोजेक्ट के तहत भी शहर में नई 42 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाई गई है। इस पाइप लाइन में कुल 52 चैंबर हैं। 15 चैंबर शहर में हैं। इन चैंबरों से रोजाना पानी निकल रहा है। आकाशवाणी रोड, एसपी ऑफिस के सामने और मोती वार्ड में फांसी खदान टंकी के सामने के हिस्से में वाल्व लीकेज से पानी बहता रहता है। इन चैंबरों के लीकेज की जांच के लिए पूर्व में तीन सदस्यीय जांच कमेटी भी बनी थी, लेकिन इसकी जांच रिपोर्ट आने बावजूद सुधार नहीं हुए हैं।

बैतूल। एयर वाल्व से निकल रहे पानी से वाहन धो रहे लोग।

तेज पानी के फव्वारों के कारण हो सकती हैं दुर्घटनाएं

अधिकांश पाइप लाइन धनोरा और धनोरी गांव से गुजरने वाली प्रधानमंत्री सड़क के किनारे पर है। इसी सड़क के किनारे लीकेज चैंबर हैं। पेयजल सप्लाई के समय पानी के फव्वारे अचानक वाहनों और चालकों पर आने पर कई बार वाहन चालक अनियंत्रित भी हो जाते हैं। ऐसे में दुर्घटनाओं का भी खतरा रहता है।

इस तरह धनोरा समूह से होती है सप्लाई







X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना