• Hindi News
  • Mp
  • Betul
  • KHEDI News mp news dispute even before the formation of ghegari reservoir farmers say will not tolerate injustice

घाेगरी जलाशय बनने से पहले ही विवाद, किसानाें का कहना- नहीं सहेंगे अन्याय

Betul News - सरकार याेजना बदलकर 163 गांवों को पेयजल आपूर्ति किए जाने की योजना बना रही है ताप्ती नदी पर बनने वाली घोगरी जलाशय...

Feb 27, 2020, 08:20 AM IST
KHEDI News - mp news dispute even before the formation of ghegari reservoir farmers say will not tolerate injustice

सरकार याेजना बदलकर 163 गांवों को पेयजल आपूर्ति किए जाने की योजना बना रही है

ताप्ती नदी पर बनने वाली घोगरी जलाशय परियोजना के पानी को लेकर जलाशय बनने के पूर्व ही विवाद की स्थिति बन रही है।

घोगरी जलाशय संघर्ष समिति की सावंगा गांव के दुर्गा मंदिर परिसर में बैठक हुई। इसमें उपस्थित किसानों ने अपना - अपना पक्ष रखा और कहा कि बैतूल ब्लाॅक के किसानों के साथ सरकार जो अन्याय करने जा रही है, हम कदापि नहीं होने देंगे।

ये रखी बैठक में बात

किसान गुलाबराव पोटफोड़े डॉ. विश्वनाथ साबले, नगेंद्र पटेल, शेरू पटेल, मुन्ना देशमुख, रामप्रसाद राठौर, गुलाब राव लोखंडे, भगवानसिंह तोमर ने
कहा घोगरी जलाशय से बैतूल ब्लाॅक के 42 गांवों की 13 हजार 400 हेक्टेयर कृषि भूमि सिंचित होना है, लेकिन वर्तमान सरकार इस जलाशय के उद्देश्यों में परिवर्तन कर प्रभातपट्टन ब्लाॅक के 163 गांवों को पेयजल आपूर्ति किए जाने की योजना बना रही
है, जो गलत है। जबकि समूह नल-जल योजना संचालित करने के लिए मुलताई के वर्धा डैम, चंदोरा डैम आदि बड़े -बड़े डैम मंजूर हैं।

किसान बोले- सिंचाई का रकबा हाे जाएगा कम

घोगरी जलाशय से समूह नल योजना चलाई जाती है, तो किसानों का सिंचाई रकबा बहुत ही कम हो जाएगा। घोगरी जलाशय संघर्ष समिति इसका पुरजोर विरोध करेगी। यह अन्याय को रोकने समिति और किसान किसी भी सीमा तक पहुंच सकते हैं।

पानी देने की है याेजना


पीएचई मंत्री के बयान से किसान हुए चिंतित

घाेघरी जलाशय के पानी काे लेकर यह हलचल पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे के बयान पर मची है। किसान रितेश कालभाेर ने बताया कि मुलताई के एक कार्यक्रम में मंत्री सुखदेव पांसे ने घाेघरा जलाशय से प्रभातपट्टन के गांवाें काे पानी देने की बात कही थी। इससे किसानाें में चिंता बढ़ गई है। उन्हाेंने बताया पीएचई और सिंचाई विभाग के अधिकारियाें से चर्चा की, लेकिन वे स्पष्ट नहीं कह रहे हैं, लेेकिन याेजना के बदलने के संकेत जरूर दिए हैं। उनका कहना है कि मंत्री ने बयान दिए हैं, ताे संभवत: आगे जाकर इसमें परिवर्तन हाे सकता है।

खेड़ीसावलीगढ़। घाेगरी जलाशय संघर्ष समिति की बैठक में उपस्थित किसान।

X
KHEDI News - mp news dispute even before the formation of ghegari reservoir farmers say will not tolerate injustice

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना