जीवन में कष्टों के निवारण के लिए गुरु जरूरी : वैभवश्री

Betul News - मुलताई| गुरु के बिना जीवन अधूरा है। कष्टों के निवारण के लिए गुरु का होना जरूरी है। यह बात शुक्रवार को श्रीमद् देवी...

Feb 09, 2019, 03:16 AM IST
मुलताई| गुरु के बिना जीवन अधूरा है। कष्टों के निवारण के लिए गुरु का होना जरूरी है। यह बात शुक्रवार को श्रीमद् देवी भागवत कथा के पहले दिन शुक्रवार को गुरु की महिमा बताते हुए देवी वैभवश्री ने कही। मासोद रोड पर स्थित श्री ज्ञानेश्वर शिव मंदिर परिसर में आयोजित भागवत कथा की शुरूआत ताप्ती सरोवर के तट से कलश यात्रा निकालकर हुई। कलश यात्रा नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए ज्ञानेश्वर शिव मंदिर पहुंची। जहां कलश यात्रा के समापन के साथ देवी भागवत कथा शुरू हुई। देवी वैभवश्री ने देवी भागवत कथा के महत्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी। आयोजन समिति के सदस्यों ने बताया गुप्त नवरात्र पर ज्ञानेश्वर मंदिर परिसर में सहस्त्रचंडी महायज्ञ के साथ श्रीमद देवी भागवत कथा भी की जा रही है। इसके साथ रोज सुबह 8 बजे से रूद्राभिषेक हो रहा है। दोपहर 12.30 से 3.30 बजे तक श्रीमद देवी भागवत कथा और शाम 4 बजे से सहस्त्रचंडी महायज्ञ अनुष्ठान हो रहा है। कथा स्थल तक पहुंचने के लिए निशुल्क बस की व्यवस्था की है।

मुलताई। कलश यात्रा के साथ शुरू हुई श्रीमद देवी भागवत कथा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना