• Hindi News
  • Mp
  • Betul
  • Betul News mp news in anganwadi the drug company put a flax bearing the photo of modi in the name of investigation 100 100 rupees from women recovered

आंगनबाड़ी में मोदी की फोटो वाला फ्लैक्स लगाकर दवा कंपनी ने जांच के नाम पर महिलाओं से 100-100 रु. वसूले

Betul News - महिला एवं बाल विकास विभाग के आंगनबाड़ी केंद्रों में अवैध रूप से महंगे न्यूट्रीशियन उत्पाद बेचने का मामला सामने...

Nov 05, 2019, 06:40 AM IST
महिला एवं बाल विकास विभाग के आंगनबाड़ी केंद्रों में अवैध रूप से महंगे न्यूट्रीशियन उत्पाद बेचने का मामला सामने आया है। दवा कंपनी ने भ्रमित करने के लिए पंफ्लैट और फ्लैक्स पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो के साथ में भारत सरकार सहित आयुष विभाग जैसे उपक्रमों के लोगो लगा रखे थे। एलीमेंटस नामक दवा कंपनी के स्टाफ ने परीक्षण शुल्क के नाम पर महिलाओं से 100-100 रुपए वसूले। उत्पाद की मार्केटिंग करते रहे। भास्कर ने जब सरकारी परिसर में कंपनी के उत्पाद बेचने और रुपए वसूलने पर सवाल पूछे तो कंपनी प्रतिनिधि बचता रहा। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका एक-दूसरे को जिम्मेदार बता रही हैं।

मोती वार्ड के आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 78 मोती वार्ड भाग-2 में इसी तरह का जांच शिविर लगा मिला। जहां 100 रु. शुल्क वसूलकर यहां आयुर्वेदिक कंपनी की दवाएं 700 से 1500 रुपए में बेची जा रही थी। हालांकि, कितनी महिलाओं से रुपए वसूले गए या कितना उत्पाद बेचा गया, यह बताने से कंपनी प्रतिनिधि ने इंकार किया। परिसर में शिविर लगाने व मार्केटिंग की परमिशन नहीं दिखा सका।

शहर में दवा कंपनियां मुनाफा कमाने के लिए आंगनबाडिय़ों को बना रही ठिकाना

बैतूल। आंगनबाड़ी केंद्र में शिविर लगाकर बैठा दवा कंपनी का स्टाफ। दूसरे व तीसरे फोटो में फ्लैक्स, पंफ्लैट में पीएम मोदी का फोटो, सरकारी लोगो और 100 रु. शुल्क की बात है।

शिविर के पंपलेट में रोगमुक्त करने का किया गया दावा

शिविर के लिए एक पंपलेट भी बांटा था। गंगारे ग्राफिक्स से प्रिंट करवाए गए पंप लेट में एक दिवसीय चिकित्सा आयुर्वेदिक शिविर लिखा हुआ था, स्थान की जगह पर खाली जगह छोड़ी गई थी। ब्लड प्रेशर, थाइराइड, किडनी, इंफेक्शन, एनिमिया, बाल झड़ना, लीवर इंफेक्शन जैसे रोगों का अचूक इलाज करने का दावा पंपलेट में किया गया था। मशीनों से परीक्षण करवाकर शरीर को रोगमुक्त करने का दावा भी किया था। इधर आंगनबाड़ी सहायिका, कार्यकर्ता और महिला बाल विकास अधिकारी द्वारा दवा कंपनी के कर्मचारियों पर बिना अनुमति घुस आने का आरोप लगा रहीं हैं।

सहायिका काे नोटिस जारी करेंगे


कार्यकर्ता से बात कर शिविर लगाया था, प्रशासनिक अनुमति नहीं है


सहायिका काे मेरा नाम लेकर शिविर लगाया, मैं ताे बैठक में थी


मैंने तो कार्यकर्ता के कहने पर बैठने दिया


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना