पानी नहीं, यहां व्यर्थ बहाया पैसा

Betul News - प्रदेश सरकार के खाली खजाने के कारण चुंगी क्षतिपूर्ति राशि में कटाैती के बैतूल नगरपालिका वित्तीय संकट से जू झ रही...

Feb 22, 2020, 06:40 AM IST
Betul News - mp news no water wasted money here

प्रदेश सरकार के खाली खजाने के कारण चुंगी क्षतिपूर्ति राशि में कटाैती के बैतूल नगरपालिका वित्तीय संकट से जू झ रही बावजूद इसके लाखापुर डैम में 1 अरब 64 करोड़ लीटर पानी रिजर्व करके हर साल 10 लाख 75 हजार का बिल बिना उपयाेग किए चुका रही है।

लाखापुर डैम से चार साल से बैतूल शहर में सप्लाई के लिए पानी ही नहीं छोड़ा गया है। इसके बावजूद नपा काे जलसंसाधन विभाग को एग्रीमेंट के अनुसार हर साल पानी का 10 लाख 75 हजार रुपए का शुल्क देना पड़ रहा है। इस बार तो नपा को जलसंसाधन को बिना पानी लिए ही 21 लाख 50 हजार रुपए चुकाना पड़ेगा। दरअसल पिछले साल का 10 लाख 75 हजार रुपए पहले ही बकाया है और इस साल का 10 लाख 75 रुपए और जुड़ जाएगा। जबकि इस साल भी लाखापुर डैम से शहर में पेयजल सप्लाई के लिए पानी लेने के कोई आसार नहीं दिख रहे हैं। नपा का पूरा ध्यान ताप्ती और पारसडोह डैम से पानी लाने पर है।

सात साल का एग्रीमेंट है जलसंसाधन विभाग के साथ


नपा पर जलसंसाधन का 2019 का बकाया 10 लाख 75 हजार और इस बार का 10 लाख 75 हजार रुपए का बिल बाकी है। पेयजल सप्लाई के लिए नपा हर साल शहर से 18 किमी दूर स्थित लाखापुर डैम का 1 अरब 64 करोड़ लीटर पानी रिजर्व करा रही है। लेकिन इस पानी को शहर में पेयजल सप्लाई के लिए नहीं लाया जाता है। लेकिन 2015 में जलसंसाधन विभाग का नपा के साथ हुए एग्रीमेंट के अनुसार यह राशि चुकाना पड़ रही है।

लापरवाही : 2016 से बैतूल के लिए नहीं लिया गया है लाखापुर डैम का पानी

पारसडोह डैम से भी लिया था 14 लाख 52 हजार

नपा इधर पारसडोह डैम से भी पानी ले रही है। पारसडोह डैम से 2 अरब लीटर पानी पिछले साल गर्मी में छोड़ा गया था। इसका नपा ने 14 लाख 52 हजार रुपए का शुल्क चुकाया था। हालांकि यह पानी शहर में पेयजल सप्लाई के काम आया था। पारसडोह से ताप्ती बैराज तक लाकर इस पानी को बैतूल के फिल्टर प्लांंंंंट तक हैवी मोटरों से पंप किया गया था। सवाल यह है कि पारसडोह डैम से पानी लिया जा रहा है तो फिर लाखापुर डैम से पानी की क्या जरूरत है। किसी एक जगह से पानी लेकर काम चलाया जा सकता था।

उपयोग या एग्रीमेंट बदलवाने का प्रयास किया जाएगा



एग्रीमेंट के अनुसार नपा काे शुल्क तो चुकाना ही पड़ेगा



50 करोड़ लीटर पानी हो गया था चोरी

नपा तो पानी नहीं ले रही है लेकिन लाखापुर डैम के आसपास के किसान जरूर पानी चुरा रहे हैं। 2016 में भास्कर ने लाखापुर डैम से 50 करोड़ लीटर पानी चोरी हो जाने और गन्नाबाड़ी में सींच दिए जाने का मामला उजागर किया था। इसके बाद यहां चौकीदार की व्यवस्था की गई थी। अब यह पानी केवल सहेजकर रखा जा रहा है। इसे शहर तक नहीं लाया जा रहा है।

बैतूल। लाखापुर डैम फाइल फोटो।

X
Betul News - mp news no water wasted money here

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना