• Hindi News
  • Mp
  • Betul
  • Betul News mp news tests will be taken every month in high school after repeated practice you will overcome the shortage of subjects

हाई स्कूल में हर माह लिया जाएगा टेस्ट, बार-बार अभ्यास करवाकर विषयों की कमी को करेंगे दूर

Betul News - सरकारी स्कूलों में 9वीं से 12वीं में पढ़ने वाले कमजोर बच्चों को पांच विषयों में दक्ष करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा...

Oct 13, 2019, 06:41 AM IST
सरकारी स्कूलों में 9वीं से 12वीं में पढ़ने वाले कमजोर बच्चों को पांच विषयों में दक्ष करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा निदानात्मक कक्षाएं लगाई जाएंगी। इसमें हर माह बच्चों को टेस्ट लेकर उसका रिकार्ड रखा जाएगा। जिन विषयों में बच्चे कमजोर हैं, उन विषयों में बार-बार अभ्यास करवाकर दक्ष किया जाएगा ताकि वार्षिक परीक्षा तक बच्चों की त्रुटि दूर हो सके। यह निदानात्मक कक्षाएं स्कूलों में 15 अक्टूबर से लगेंगी। इसको लेकर सभी प्राचार्यों और जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी किए। 9वीं में तीसरा और चौथा कालखंड, 10वीं में दूसरा व तीसरे कालखंड में 80-80 मिनट की कक्षाएं लगेंगी, जबकि 11वीं व 12वीं में शैक्षणिक कैलेंडर के अनुसार कक्षाएं लगेंगी। इन कक्षाओं में 5 विषयों हिंदी, अंग्रेजी, गणित व सामाजिक विज्ञान के मॉड्यूल वार्षिक परीक्षा के ब्लू प्रिंट को ध्यान में रखकर तैयार किए हैं। जिला स्तर के अकादमिक दल के अतिरिक्त नियमित निदानात्मक कक्षाओं के संचालन व व्यवस्था की मॉनिटरिंग के लिए टीम गठित की जाएगी।

प्रत्येक छात्र की एक कॉपी अलग से बनवाई जाएगी : इसके तहत प्रत्येक छात्र की एक कॉपी अलग से बनवाई जाएगी। जो शिक्षक अध्ययन करवाएंगे वे प्रतिदिन कॉपी में बच्चों से लिखवाएंगे। टेस्ट के आधार पर देखा जाएगा कि छात्र क्या सीख नहीं पाए। ऐसे में फिर से उन्हें वही टॉपिक पढ़ाया जाएगा। विद्यार्थियों को बार-बार अभ्यास कराकर उन्हें उस दक्षता में दक्ष बनाया जाएगा।

डी और ई ग्रेड के छात्र होंगे शामिल- निदानात्मक कक्षाएं में तिमाही परीक्षा परिणाम के आधार विद्यार्थियों को शामिल किया जाएगा। इसमें जिन विद्यार्थियों को डी और ई ग्रेड मिला है, उन्हें इन निदानात्मक कक्षाओं में बैठाया जाएगा। इसी तरह ए, बी और सी ग्रेड के विद्यार्थियों के लिए लगने वाली स्पेशल क्लासेज में डी व ई ग्रेड के विद्यार्थियों को शामिल नहीं किया जाएगा। इन दोनों तरह की विशेष कक्षाओं में विद्यार्थियों की कम से कम 40 फीसदी उपस्थिति जरूरी की गई है।


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना