पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sarni News Mp News The Mla Asked 26 Lakh Casings So How Much Tubewells Officials Could Not Answer Proposal Rejected

विधायक ने पूछा- 26 लाख की केसिंग, तो ट्यूबवेल कितने में, जवाब नहीं दे सके अधिकारी, प्रस्ताव खारिज

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर पालिका परिषद का सम्मेलन बुधवार को हंगामेदार रहा। विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे की मौजूदगी में शुरुआत में ही विरोध की स्थिति बन गई। नलकूपों के अतिरिक्त भुगतान के एक प्रस्ताव पर खुद विधायक ने आपत्ति ली। अतिरिक्त व्यय में यदि 26 लाख रुपए की केसिंग ही लगा दी गई तो नलकूप खनन में कितना खर्च हुआ? विधायक के सवाल उठाने के बाद परिषद ने प्रस्ताव ही खारिज कर दिया। बैठक में कुल 21 में से 4 प्रस्तावों को परिषद ने खारिज किया।

नपा में बुधवार दोपहर 1 बजे से परिषद का विशेष सम्मेलन हुआ। वार्ड 29 के पार्षद संतोष देशमुख ने कहा परिषद के अधिनियम में बाहरी लोगों के शामिल होने का नियम है। जबकि अध्यक्ष आशा भारती बाहरी लोगों को न बैठने का कह चुकी थीं। बाद में बाहरी लोगों को हाल से बाहर किया। स्टोन डस्ट की दरें ज्यादा स्वीकृत किए जाने को लेकर विवाद हुआ। हालांकि सीएमओ ने कहा नपा स्टोन डस्ट नहीं 6 एमएम गिट्‌टी जरूरी स्थानों पर डालेगी। इसके बाद मामला शांत हुआ।

पुराने कामों की जांच के बाद भुगतान की मांग, स्ट्रीट लाइट के नए प्रोजेक्ट के लिए किया मना

सारनी। नगर पालिका में परिषद का सम्मेलन हुआ।

ये प्रस्ताव किए खारिज

यातायात नियंत्रण के लिए स्पीड ब्रेकर। अनुमानित लागत 15 लाख

इसलिए खारिज : फाइबर स्पीड ब्रेकर उखड़ जाते हैं। जलावर्धन का काम होने के बाद डामर या सीमेंट के ब्रेकर बनाए जाएं।

नलकूप खनन में 26.64 लाख के व्यय का भुगतान।

इसलिए खारिज : अंतर की राशि का हिसाब मांगा। नहीं देने पर अगली परिषद में रखने का प्रस्ताव।

बगडोना हवाई पट्‌टी से सारनी बैरियर तक 50 लाख से सोलर एनर्जी लाइट।

इसलिए खारिज : वार्डों की स्ट्रीट लाइट व्यवस्था ठीक नहीं। पहले ही इस मार्ग पर करोड़ों खर्च कर चुकी नपा। मामला जांच के दायरे में भी।

मठारदेव मंदिर परिसर में मंगल भवन के संचालन, संधारण का टेंडर बढ़ाने।

इसलिए खारिज : वार्ड 9 के पार्षद बंडू माकोड़े ने कहा संधारण नहीं हो पा रहा। नपा ही सफाई कर रही तो ठेकेदार का क्या काम।

बैठक में इन प्रस्तावों को मिली मंजूरी

कचरा परिवहन के लिए 40.44 लाख से टीपर खरीदने, वार्ड 22 में रिटर्निंग वाॅल की राशि का भुगतान करने, हैंडपंप मरम्मत में अतिरिक्त व्यय का भुगतान करने, पेयजल वितरण का भुगतान करने, नपा में दमुआ नाका और मोरडोंगरी राेड पर स्वागत द्वार लगाने की डीपीआर बनाने और जलावर्धन योजना में अनुबंध करने की अनुशंसा परिषद ने की।

विधायक कर ही नहीं पाए परिषद को संबोधित

उपाध्यक्ष भीम बहादुर थापा, नेता प्रतिपक्ष संजय अग्रवाल, सीएमओ सीके मेश्राम ही बोलते रहे। पहली बार आए विधायक डॉ. पंडाग्रे भी परिषद को संबोधित नहीं कर पाए। नपाध्यक्ष भी पूरे समय चुप बैठी रहीं। मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा ने कहा पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज के निधन के कारण विधायक ने संबोधित नहीं किया।

जीपीएस से होगी कचरे की मॉनीटरिंग

कचरा उठाने 30 लाख से टेंडर हुआ। पार्षदों ने कहा कचरा उठाया नहीं जाता, बिल निकल जाते हैं। सीएमओ सीके मेश्राम ने स्पष्ट किया ठेकेदार 5 ट्रक नंबर समेत देगा। इन पर जीपीएस ट्रेकिंग सिस्टम होगा। ट्राॅलियों पर नपा अनुबंधित लिखा होगा।

पार्षद बोले- मैं इलेक्ट्रिकल ठेकेदार हूं, लाइट के बारे में मुझे मत सिखाओ

बगडोना हवाई पट्‌टी से सारनी बैरियर तक 154 पोलों पर स्ट्रीट लाइट बदलकर सोलर लैंप लगाने के प्रस्ताव को परिषद ने खारिज कर दिया। पार्षद रेवाशंकर मगरदे, नेता प्रतिपक्ष संजय अग्रवाल समेत अन्य ने कहा पहले वार्डों में लाइट लगाए जाएं, फिर इस तरह के प्रस्ताव लाएं। वार्ड 9 के पार्षद बंडू माकोड़े ने कहा रुपए का अपव्यय है। शाखा प्रभारी श्रीपत काटोलकर ने कहा केबल खराब हो गए हैं, बदलने की अनुमति वन विभाग से नहीं मिल रही। इसलिए नए लगाए जा रहे हैं। बंडू माकोड़े ने कहा जमीन में बिछाने वाले केबल का गलत तरह से उपयोग किया गया। मैं खुद इलेक्ट्रिकल ठेकेदार हूं। मुझे ही यहां बैठकर सिखाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...