--Advertisement--

धर्म... राम नाम सुमिरन से मनुष्य का होता है कल्याण

भिंड | ईश्वर सरलता से प्रसन्न होते हैं। वह प्रेम से पुकारने पर प्रकट हो जाते हैं। जरूरत है तो उन्हें भाव से पुकारने...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:00 AM IST
भिंड | ईश्वर सरलता से प्रसन्न होते हैं। वह प्रेम से पुकारने पर प्रकट हो जाते हैं। जरूरत है तो उन्हें भाव से पुकारने की। वहीं राम नाम सुमिरन से कल्याण होता है। यह बात शनिवार को चौधरी दिलीप सिंह लॉ कॉलेज परिसर में सात दिवसीय राम कथा के दूसरे दिन राजेश्वरानंद जी महाराज ने कही। उन्होंने कहा कि राम नाम वह औषधि है जो जन्म मरण रुपी भयंकर रोग का नाश करती है। मनुष्य पाप की कमाई के लिए कितना य| करता है, लेकिन नाम की कमाई नहीं करता, जो उसे तार देती है। पाप की कमाई जंजालों में फंसाती है। प्रभु का नाम सुमिरन ही जीवन की सच्ची कमाई है, सदैव धर्म के मार्ग पर चलकर प्रभु का दिन रात स्मरण करना चाहिए, क्योंकि राम के नाम से ही भव बंधन की फांस कट सकती है। मनुष्य भौतिक सुख-दुखों को वास्तविक समझता है यह सब नश्वर हैं। केवल प्रभु का नाम ही नित्य अजर-अमर है, धर्म के मार्ग पर चलते हुए गुरुमुख हो ईश्वर का सुमिरन करना चाहिए।