Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhind News» 1 साल पहले आलमपुर-रतनगढ़ मार्ग खोदकर छोड़ दिया, अब हो रहे हादसे

1 साल पहले आलमपुर-रतनगढ़ मार्ग खोदकर छोड़ दिया, अब हो रहे हादसे

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 02:05 AM IST

आलमपुर-रतनगढ़ मार्ग जर्जर हालत में, जहां लोगों को परेशानी हो रही है। इसलिए नहीं बनी सड़क पीडब्ल्यूडी विभाग...
आलमपुर-रतनगढ़ मार्ग जर्जर हालत में, जहां लोगों को परेशानी हो रही है।

इसलिए नहीं बनी सड़क

पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा बनाई जा रही सड़क का काम धीमी गति से चल रहा है। जिसमें सबसे बड़ी लापरवाही प्रशासनिक अधिकारियों की है। जिम्मेदार अधिकारियों से शिकायत करने पर वह हर बार आश्वासन देकर अपना पलड़ा झाड़ देते हैं। दूसरी तरफ राजनीतिक दबाव के चलते अधिकारी मूक बने हुए हैं। गौरतलब है कि राजनीति और प्रशासन की मिली भगत के चलते आम लोगों को आवागमन में मुसीबत झेलनी पड़ रही है। जिसके खिलाफ विभागीय अधिकारी अपनी जिम्मेदारी निभाने से बच रहे हैं।

हादसे दे रहे जीवनभर का दर्द

मार्ग पर अब तक हुए हादसों में जान गंवाने वाले परिजन को जीवनभर का दर्द सहना पड़ेगा। हादसों की बात करें तो ग्वालियर निवासी शैलेन्द्र सिंह परिहार को जर्जर सड़क से अपनी जान गंवानी पड़ी है। शैलेन्द्र अपनी कार से अपने दो साथियों के साथ किसी काम से रतनगढ़ जा रहे थे। इसी दौरान उनकी कार गड्ढे में फिसलकर खंती में जा गिरी। जिसमें शैलेन्द्र की मौत हो गई, जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके अलावा कई बड़े हादसे हुए लेकिन प्रशासन ने सबक नहीं लिया है।

एस्टीमेट में निकला समय

रतनगढ़ मार्ग बनाने के लिए एस्टीमेट में एक साल का समय निर्धारित किया गया था। लेकिन सड़क का काम इतनी मंद गति से किया जा रहा है कि अभी तक मार्ग पर पूरी तरह से मुरम भी नहीं बिछाई जा सकी है। मार्ग से करीब एक दर्जन से अधिक गांव जुड़ते हैं, जिन्हें आवागमन में भारी परेशानी होती है। समाजसेवियों ने निर्माण के लिए प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत की लेकिन कुछ नहीं हुआ।

आवागमन हुआ मुश्किल

ठेकेदार ने पांच महीने पहले सड़क खोदकर मार्ग पर मिट्टी बिछाई थी। जिसके बाद रोड पर आवागमन बाधित हो रहा है। इस मार्ग से होकर समथर, भिंड, लहार, दबोह, झांसी, दतिया, रतनगढ़ से होकर यूपी के लिए हर रोज सैकड़ों वाहनों का आवागमन रहता है। गर्मियों के दिनों में हवा चलने पर सड़क पर धूल के गुबार उड़ते हैं, जिससे लोगों का स्वास्थ्य बिगड़ रहा है। इसके बावजूद सड़क पर चल रहे निर्माण का काम तेज नहीं हुआ है।

सड़क पर उड़ती है धूल

मार्ग खोदकर डाल दिया है। ठेकेदार ने गिट्टी बिछाकर महज खानापूर्ति कर दी है। शिकायत करने पर अधिकारी नहीं सुनते हैं। -मुरलीमनोहर दिबोलिया, स्थानीय वार्ड 8 आलमपुर

रतनगढ़ जाने में हो रहा विलंब

रतनगढ़ जाने के लिए 9 किमी के मार्ग में 10 मिनट लगते हैं, लेकिन मार्ग की स्थिति इतनी जर्जर है कि मंदिर तक पहुंचने में एक घंटा लग जाता है। -ब्रजभूषण मिश्रा, स्थानीय निवासी वार्ड 7 आलमपुर।

ठेकेदार काम कर रहा है

ठेकेदार द्वारा सड़क का काम ठीक से किया जा रहा है। मशीनें खराब हो जाती हैं तो परेशानी आती है, जल्द ही मार्ग बनकर तैयार हो जाएगा। -राधाकांत दुबे, सब इंजीनियर पीडब्ल्यूडी लहार

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhind News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 1 साल पहले आलमपुर-रतनगढ़ मार्ग खोदकर छोड़ दिया, अब हो रहे हादसे
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Bhind

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×