--Advertisement--

हाथठेला वाले बोले-आरटीओ कॉलोनी नहीं जाएंगे

नेशनल हाइवे 92 पर फूप बाजार में लगने वाले हाथठेला वालों को आरटीओ कॉलोनी में शिफ्ट कराने की कवायद शनिवार को जारी रही।...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
नेशनल हाइवे 92 पर फूप बाजार में लगने वाले हाथठेला वालों को आरटीओ कॉलोनी में शिफ्ट कराने की कवायद शनिवार को जारी रही। थाना प्रभारी विजयसिंह तोमर और नगर परिषद सीएमओ एनआर खेंगर ने सभी हाथठेला वालों को थाना परिसर में बुलाकर समझाइश के बाद आरटीओ कॉलोनी में शिफ्ट होने के लिए कहा है। सीएमओ ने हाथठेला वालों से पूछा आप क्या चाहते हो तो जवाब आया कि सभी एक साथ आरटीओ कॉलोनी में जाएंगे तो हम भी चले जाएंगे। लेकिन कुछ लोगों ने तीखे स्वर में विरोध जाहिर करते हुए कहा कि हम अपना धंधा बंद कर देंगे, मगर आरटीओ कॉलोनी में नहीं जाएंगे। बाद में थाना प्रभारी श्री तोमर ने खाली कागज पर सभी ठेला वालों के दस्तखत लेकर उन्हें कॉलोनी में जाने के लिए कहा।

फूप थाना प्रभारी और नप सीएमओ ने हाथठेला वालों को दी समझाइश

फुटपाथ पर लग रहीं दुकानें

सीएमओ की समझाइश के बाद हाथठेला वालों ने बाजार में लगने वाली सब्जी की दुकानों को हटाने के लिए कहा है। ठेला वालों ने बताया बाजार में जितना अतिक्रमण ठेला लगने से होता है, उससे कहीं अधिक फुटपाथ पर सब्जी की दुकानें लगने से हो रहा है। जिस पर सीएमओ ने कहा जो भी सब्जी व्यापारी रोड पर अपनी दुकान सजा रहे हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद भी ठेला वाले आरटीओ कॉलोनी में जाने के लिए राजी नहीं हुए। फुटकर व्यापारियों ने बताया कॉलोनी में ठेला लगाते ही उनका धंधा पूरी तरह से चौपट हो जाएगा। क्योंकि बाजार से कॉलोनी की दूरी 200 मीटर है, जहां ग्राहक सामग्री खरीदने में परहेज करते हैं। ऐसी स्थिति में बाजार से लोग सामान खरीदेंगे।

एक दर्जन हाथठेला हुए शिफ्ट

सीएमओ और थाना प्रभारी की समझाइश के बाद कुछ हाथठेला वाले आरटीओ कॉलोनी में अपने ठेला लगाने के लिए राजी हो गए। बता दें कि बाजार में करीब आधा सैकड़ा सब्जी, फल, चाट-पकौड़ी सहित फुटकर सामग्री के ठेला लगते हैं। जिनमें एक दर्जन ठेला आरटीओ कॉलोनी में शिफ्ट हुए हैं, जबकि अन्य ठेला वाले अपना धंधा बंद करके घर चले गए हैं। इन सभी के बावजूद थाना प्रभारी श्री तोमर का कहना है कि बाजार में किसी भी कीमत पर हाथठेला नहीं लगने देंगे। क्योंकि मेन रोड पर ठेला लगने से आवागमन अवरुद्ध होता है, जिससे हादसों में इजाफा हुअा है। समस्या को लेकर वरिष्ठ अधिकारी भी सख्त नजर आ रहे हैं।

दुकानदारों को थमाएंगे नोटिस