--Advertisement--

कांग्रेस जिला महामंत्री जला रहे थे पुतला, झुलसे

शहर कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने शनिवार को शहर के बाजार में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:05 AM IST
शहर कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने शनिवार को शहर के बाजार में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला जलाया। वहीं पुतला दहन के दौरान जिला महामंत्री विनोद पंडित के दोनों हाथ और चेहरा झुलस गया। वहीं कार्यकर्ताओं ने प्रदेश और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर पार्टी के वरिष्ठ नेता डॉ. राधेश्याम शर्मा, शहर अध्यक्ष रहीस खान मौजूद रहे।

गौरतलब है कि कांग्रेसी जिला महामंत्री विनोद पंडित अग्रसेन तिराहा से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जलता हुआ पुतला हाथों में लेकर परेड चौराहा तक आ रहे थे। लेकिन हवा के संपर्क में आने से आग की लपटें तेज हो गई। जिससे उनके दोनों हाथ और चेहरा आग से झुलस गया। कार्यकर्ता उनको तुरंत इलाज के लिए अस्पताल लेकर गए। वहीं पुतला दहन के दौरान डॉ. शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों के लाभ के लिए भावांतर योजना शुरू की है। लेकिन इसका सही लाभ प्रदेश के किसानों को अभी तक नहीं मिला है। यह योजना सिर्फ सूट बूट वालों को लाभ पहुंचे के लिए सीएम द्वारा बनाई गई है। हमारी मांग है कि भावांतर योजना का लाभ किसानों मिले। वहीं किसानों की सरसों फसल की खरीदारी 10 अप्रैल से करने की घोषणा की गई है। जबकि किसान मंडी में सरसों बचने के लिए ला रहा है। लेकिन उसकी फसल को खरीदा नहीं जा रहा है। ऐसी स्थिति में शासन को 1 अप्रैल से फसल को समर्थन मूल्य पर खरीदारी शुरू कर देना चाहिए। इसके अलावा सीएम साहब अपनी सभाओं में किसान का बेटा होने की बात बोलते हैं।

छह सूत्रीय मांगों को लेकर कलेक्टर को दिया राज्यपाल के नाम ज्ञापन, मुख्यमंत्री का जलाया पुतला

रेत का अवैध कारोबार में पुलिस भी शामिल है: खान

पुतला दहन करने के दौरान जिला महामंत्री विनोद पंडित के दोनों हाथ और चेहरा झुलस गया। वहीं शहर अध्यक्ष रहीस खान ने कहा कि जिले में बड़े स्तर पर रेत का अवैध कारोबार हो रहा है। इस काम में पुलिस विभाग के अधिकारी भी शामिल हैं। स्थिति यह है कि कई पुलिस कर्मचारी और अधिकारियों के लोडिंग वाहन रेत का परिवहन कर रहे हैं। खास बात यह है कि इस संबंध में प्रदेश सरकार के मंत्रियों को जानकारी होने के बाद भी उनकी ओर से इस अवैध कारोबार पर प्रतिबंध नहीं लगाया जा रहा है। स्थिति यह है कि जिले की सिंध, चंबल सहित अन्य नदियां रेत खनन के कारण सूख चुकी हैं। इस क्रम में ग्रामीण अध्यक्ष बुद्ध सिंह कुशवाह ने कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए कानून में जो संशोधन किया गया है। उसको वापस लिया जाए। साथ जिला कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. रमेश दुबे पर भाजपा सरकार की दमनकारी कार्रवाई पर रोक लगाई जाए। कार्यक्रम के अंत में सभी पार्टी पदाधिकारियों ने राज्यपाल के नाम कलेक्टर इलैया राजा टी को ज्ञापन दिया। इस मौके पर दिलीप बौहरे, शिवप्रताप सिंह, वीरेंद्र, रामदास, डॉ. अरविंद, संतोष, अनिल,संदीप सिंह, अनुज, नीतू, प्रदीप, शिवम,चैतन्य शर्मा आदि मौजूद रहे।