--Advertisement--

कविता जीवन का महामंत्र है: निराला

कविता जीवन में आनंद की अनुभूति कराती है। इसका रसास्वादन चेतना का संचार करता है। कविता जीवन का महामंत्र है। कवियों...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:05 AM IST
कविता जीवन का महामंत्र है: निराला
कविता जीवन में आनंद की अनुभूति कराती है। इसका रसास्वादन चेतना का संचार करता है। कविता जीवन का महामंत्र है। कवियों के द्वारा अपनी रचनाओं की जिस विषय पर प्रस्तुति दी जाती है तो वह पूर्ण सत्य होती है। यह बात कवि सुनील त्रिपाठी निराला ने मिहोनी शाला पर आयोजित कवि सम्मेलन के दौरान कही।

कार्यक्रम के दौरान कवि निराला ने अपनी लोकप्रिय रचना हुनरमंद हैं रस्सी का भी सांप बना लेते हैं, गर्ज पड़े तो गधे को भी बाप बना लेते हैं। वहीं कवि किशोरी लाल बादल ने अपनी गजलों की प्रस्तुति दी। इसी क्रम में रविंद्र तिवारी ने शेर है न शायरी है, पेन है न डायरी है रचना की प्रस्तुति दी। वहीं धर्मेंद्र त्रिपाठी, आशुतोष शर्मा नंदू,डॉ.ओम प्रकाश नीरस,रामशंकर शर्मा आदि कवियों ने प्रस्तुति दी। अंत में स्वामी राघवदास जी महाराज ने अपने आशीर्वचनों के बाद कवियों का सम्मान किया।

सम्मेलन में कविता सुनाते कवि।

X
कविता जीवन का महामंत्र है: निराला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..