• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bhind
  • युवाओं ने ग्रामीणों को दहेज और नशे के विरोध की जानकारी दी, दिलाया संकल्प
--Advertisement--

युवाओं ने ग्रामीणों को दहेज और नशे के विरोध की जानकारी दी, दिलाया संकल्प

Bhind News - नशा और दहेज के लिए ग्रामीणों को जागरुक करते युवक। शिक्षित बनाओ बच्चों को: समाजसेवी अभियान के दौरान...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:05 AM IST
युवाओं ने ग्रामीणों को दहेज और नशे के विरोध की जानकारी दी, दिलाया संकल्प
नशा और दहेज के लिए ग्रामीणों को जागरुक करते युवक।

शिक्षित बनाओ बच्चों को: समाजसेवी

अभियान के दौरान समाजसेवी भूरे सिंह यादव ने ग्रामीणों को बताया कि जिले के अधिकांश गांव में बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं। इसके पीछे कारण यह है कि बच्चों के माता-पिता शिक्षा के प्रति जागरूक नहीं हैं। इस कारण से ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा का स्तर काफी नीचे है। ऐसी स्थिति में सुधार लाने के लिए ग्रामीण लोगों को आगे आकर अपने बच्चों को शिक्षित बनाने के लिए उनको स्कूल भेजना चाहिए। जिससे वे भी पढ़-लिखकर देश और समाज के लिए बेहतर काम कर सकें। क्योंकि छात्र के जीवन में शिक्षा का वह स्थान है, जितना कि व्यक्ति के जीवन में ऑक्सीजन का। इसलिए हमें बच्चों की शिक्षा के प्रति सदैव तत्पर रहना चाहिए। क्योंकि शिक्षा के बिना बच्चों का जीवन जीरो के समान है। इसके बिना न कोई शहर और न कोई गांव विकास कर सकता है। साथ ही अगर कुप्रथाओं को बंद करना है तो इसके लिए आगे की पीढ़ी को शिक्षक करना होगा। इसके लिए लोग अपने बेटे और बेटियों को शिक्षित करें। उनको नियमित स्कूल पहुंचाए। क्योंकि शिक्षा वह हथियार है। जिससे कुप्रथाओं को दूर कर सकते हैं।

समाजसेवी ने ग्राम पिड़ौरा में अभियान चलाकर गांव में जागरूकता पोस्टर चस्पा किए

भास्कर संवाददाता | भिंड

शहर के युवाओं के द्वारा पिछले एक से कुप्रथाएं बंद अभियान ग्रामीण क्षेत्रों में चलाए जा रहे। इस क्रम में रविवार को युवाओं के द्वारा ग्राम पिड़ौरा में अभियान चलाया गया। इस दौरान उन्होंने ग्रामीण लोगों को मृत्युभोज, दहेज, नशा की प्रथा बंद करने के साथ शिक्षा के महत्व के संबंध में जानकारी दी। साथ ही ग्रामीणों को ऐसी कुप्रथाओं से दूर रहने का संकल्प दिलाया। इसके अलावा समाजसेवियों ने गांव के हर घर की दीवारों पर जागरूकता पोस्टर चस्पा किए। इस मौके पर समाजसेवी गगन शर्मा, अश्वनी तिवारी उपस्थित रहे।

जागरूकता अभियान के दौरान समाजसेवी गनन शर्मा ने ग्रामीणों से कहा कि हमारे हिंदू समाज के हर वर्ग में मृत्युभोज, दहेज, नशा सहित कई ऐसी कुप्रथाएं हैं। जिसमें व्यक्ति सदियों से जकड़ा हुआ है। इस कारण से वह पिस रहा है। लोग इसको बंद करने के इच्छुक हैं। लेकिन समाज के दबाव के चलते वे कुप्रथाओं को दूर नहीं हो पा रहे हैं।

अगर इन प्रथाओं को बंद करना है तो इसके लिए आगे आना होगा। लेकिन हमारा समाज इतना सुस्त और सोया हुआ है के उन्हें छोड़ना तो दूर कुछ लोगों ने एक कदम आगे जाकर इन कुरीतियों को समाज की संस्कृति का चोला ओढ़ा दिया और कुछ कुरीतियों जैसा मृत्युभोज और दहेज आदि को झूठी शान का प्रतीक बना दिया। इस झूठी शान में गरीब वर्ग का आदमी कई साल से पिस रहा है। वहीं दहेज और मृत्युभोज आज भारतीय समाज में सबसे बड़ा सामाजिक कलंक है। दहेज प्रथा जैसी कुप्रथा न केवल समाज बल्कि संपूर्ण राष्ट्र के विकास के मार्ग में अवरोधक है। पहले पिता द्वारा कन्या को उपहार, इत्यादि देने का प्रचलन था, जिसने अब दहेज का रूप धारण कर लिया है।

एक साल पहले दो लोगों ने शुरू किया था अभियान

युवा समाजसेवी अश्वनी तिवारी ने अभियान के दौरान भास्कर से चर्चा के दौरान बताया कि कुप्रथाओं को दूर करने के लिए इस अभियान को समाजसेवी जयदीप सिंह और गनन शर्मा ने अप्रैल 2017 में शुरू किया था। शुरूआत में इन दोनों लोगों ने नुन्हाटा और हवलदार सिंह के पुरा में पहला अभियान चलाया था। उसके बाद इस अभियान से शहर के करीब 30 युवा जुड़ चुके हैं। साथ ही इस अभियान के माध्यम से 25 लोगों को मृत्युभोज न करने का संकल्प दिलाया गया है। वहीं कुछ गांव में दुकानदारों ने गुटखा, तंबाकू सहित अन्य नशे के पदार्थ बेचना बंद कर दिया है। इसके अलावा जिन गांव में हम लोगों के द्वारा अभियान चलाया गया है। वहां पर शिक्षा के स्तर में सुधार हुआ है।

चस्पा किए पोस्टर

युवा समाजसेवियों ने अभियान के दौरान गांव में 150 से मकानों की दीवारों पर जागरूकता पोस्टर चस्पा किए गए। इसी क्रम में समाजसेवी जयदीप सिंह ने बताया कि अब हम लोगों का लक्ष्य शहर में रोड के किनारे रह रहे लोह पीटा समाज को जागरूक करने का है। जिसकी शुरूआत मई महीने में की जाएगी। इसके लिए हमारे द्वारा कार्ययोजना तैयार की जा रही है। इस मौके पर बालेंद्र सिंह, संजीव, राजकुमार थापक, अमित सीरोठिया, मयंक तिवारी, प्रवेंद्र शर्मा, राहुल भारद्वाज, रक्षपाल सिंह आदि उपस्थित रहे।

X
युवाओं ने ग्रामीणों को दहेज और नशे के विरोध की जानकारी दी, दिलाया संकल्प
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..