Hindi News »Madhya Pradesh »Bhind» धुलेंडी आज, स्कूलों में बच्चों ने खेली होली सुरक्षा के लिए बनाए 86 स्थायी प्वाॅइंट

धुलेंडी आज, स्कूलों में बच्चों ने खेली होली सुरक्षा के लिए बनाए 86 स्थायी प्वाॅइंट

अबीर गुलाल के साथ फागुन मास का रंगोत्सव होली आज जिले भर में मनाया जाएगा। इससे पहले गुरुवार को विधि विधान से शहर में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 03:10 AM IST

धुलेंडी आज, स्कूलों में बच्चों ने खेली होली सुरक्षा के लिए बनाए 86 स्थायी प्वाॅइंट
अबीर गुलाल के साथ फागुन मास का रंगोत्सव होली आज जिले भर में मनाया जाएगा। इससे पहले गुरुवार को विधि विधान से शहर में 89 स्थानों पर धूमधाम से होलिका दहन किया गया। इसके बाद सोमवार को जिले में परंपरागत रूप से एक-दूसरे को गुलाल लगाकर धुलेंडी का त्योहार मनाया जाएगा। वहीं नगर पालिका अध्यक्ष कलावती जाटव और कलेक्टर इलैया राजा टी ने लोगों से होली के पर्व पर पानी बर्बाद न कर सूखी होली खेलने का आह्वान किया। साथ ही पुलिस ने त्योहार पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए 86 स्थानों पर स्थायी प्वाइंट बनाए हैं। वहीं होली पर छह के करीब मोबाइल पार्टी बनाई गई हैं।

गुरुवार को विशेष मुहूर्त में विधि विधान से शहर के राजहोली काॅलोनी, कुशवाह कालोनी, नवादा बाग, वाटर वर्क्स, हाउसिंग कालोनी, घास मंडी, कुशवाह कालोनी, अटेर रोड, रानी का ताल, महावीर गंज, भारौली रोड, लहार रोड आदि स्थानों पर धूमधाम से होलिका का दहन हुआ। इसके बाद वातावरण में रंग और गुलाल उड़ना शुरू हो गया। छोटों ने बड़ों के रंग लगाकर पैर छुए और उनसे आशीर्वाद लिया। वहीं बच्चों ने गुरुवार की सुबह से ही होली खेलना शुरू कर दिया था। हाथ में पिचकारी लिए वे एक दूसरे को रंगने में लगे हुए थे। धुलेड़ी से एक दिन पूर्व शहर के बाजार भी गुलजार दिखाई दिए। सर्वाधिक भीड़भाड़ रंग और पिचकारियों की दुकानों पर दिखाई दी। वहीं होली के त्योहार को लेकर छोटे-छोटे बच्चे और युवा अधिक उत्साहित दिखाई दिए।

सुरक्षा के लिए 250 अिधकारी और कर्मचारियों की ड्यूटी

पांच दिनी होली के त्योहार पर धुलेड़ी के दिन होने वाले हुड़दंग पर काबू पाने के लिए पु्लिस प्रशासन ने भी तैयारियां पूर्ण कर ली है। एसपी प्रशांत खरे के अनुसार शहर में सुरक्षा व्यवस्था में 250 अधिकारी और कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। वहीं 86 स्थायी प्वाइंट बनाए गए हैं। वहीं छह मोबाइल पार्टी रहेंगी। साथ की शहर के आउटर में वाहनों की चेकिंग भी होगी।

गुरुवार को स्कूली बच्चे एक-दूसरे को अबीर-गुलाल लगाकर होली खेलते हुए।

बाल आश्रम में बच्चों के बीच मनाई होली

शहर के समाजसेवियों ने गुरुवार को बाल आश्रम में रहने वाले बच्चों के बीच होली का पर्व धूमधाम से मनाया। इस दौरान समाजसेवियों ने बच्चों को पिचकारी और रंग-गुलाल होली खेलने के लिए दिए। इस मौके पर बबलू सिंधी, सतीष भारद्वाज, संदीप कुशवाह, तिलक सिंह, गौरव मेहरोत्रा, विक्रम गुप्ता, अरविंद भदौरिया, नीरज भदौरिया, दीपक चावला, पंकज मेहरोत्रा आदि उपस्थित रहे। इसी क्रम में इन समाजसेवियों के द्वारा विकलांग पुनर्वास केंद्र में रहने वाले बच्चों के बीच हाेली मनाई गई।

सूखी होली खेलकर पानी बर्बाद होने से बचाएं: कलावती

नगर पालिका अध्यक्ष कलावती और उपाध्यक्ष रामनरेश शर्मा ने शहर सहित अंचल के लोगों ने आह्वान किया कि वे पानी की बर्बादी को रोकने के लिए सूखी होली खेलें। अध्यक्ष ने बताया कि पूरा जिला पेयजल संकट से जूझ रहा है। अल्पवर्षा के कारण भूमिगत जल स्तर जहां गिर रहा है। वहीं नदी में भी पर्याप्त पानी नहीं है। तालाबों पर ही निर्भरता है, लेकिन अधिकांश तालाब भी अब सूखने के कगार पर पहुंच चुके हैं। इधर गर्मी ने अभी से अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। जिले में औसत भूमिगत जल का स्तर मार्च में 120 फीट के करीब होता है। इस समय यह 140 फीट तक पहुंच गया है। इसे देखते होली पर पानी की बर्बादी रोकने के लिए लोगों को गंभीर होना होगा। शहर में हर दिन करीब 50 लाख लीटर पानी की खपत होती है। लेकिन होली के दिन यह दुगनी हो जाती है।

डॉक्टरों की रहेगी ड्यूटी

होली पर्व जिले में 2 मार्च को मनाया जा रहा है। इस दौरान जिला अस्पताल में इमरजेंसी ड्यूटी चालू रहेगी। अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. अजीत मिश्रा ने बताया कि त्योहार पर अस्पताल प्रबंधन ने पूरी तैयारी कर रखी है। इस दौरान अगर कोई अप्रिय घटना होती है तो अस्पताल की ओपीडी में डॉक्टर्स की इमरजेंसी लगाई गई है। अगर इस दौरान कोई गंभीर घटना होती है तो संबंधित मरीज को ग्वालियर रैफर के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है।

हानिकारक हाे सकते हैं रंग

डॉ. राधेश्याम शर्मा ने बताया कि होली पर लोग रसायनों रंगों का उपयोग न करें। क्योंकि इन रंगों काे हानिकारक रसायनों के माध्यम से रंग तैयार किए जाते हैं। रंग को चमकदार बनाने के लिए इसमें पिसा हुआ कांच मिलाया जाता है। लाल रंग मरकरी सल्फाइड होता है। यह अत्यधिक विषैला होता है। इसके अधिक संपर्क से त्वचा को कैंसर भी हो सकता है। एम्युनियम ब्रोमाइड से बनने वाला सिल्वर रंग कैंसर कारक होता है। वहीं होली में रंग व गुलालों में शीशा व केमिकल का प्रयोग किया जा रहा है। ऐसे में अगर वह शीशा आंखों में चला जाता है, तो कॉर्निया फटने का डर बना रहता है. अगर आप के आंख में रंग चला जाता है, तो आंख को बार-बार साफ पानी से धोना चाहिए। ब्रांड स्पेक्ट्रम एंटी बायोटिक आइ ड्रॉप का प्रयोग करें व तुरंत नेत्र रोग विशेषज्ञ की सलाह लें। होली में हर्बल रंगों का उपयोग करें।

आरएसएस का हुआ होली मिलन

शहर के ब्रदी प्रसाद बगिया में गुरुवार को आरएसएस द्वारा होली मिलन समारोह मनाया गया। इस मौके पर सभी समाजों के गणमान्य लोग उपस्थित रहेंगे। वहीं इस दौरान मौजूद लोग एक-दूसरे के अबीर-गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं देंगे। कार्यक्रम सुबह 8 बजे आयोजित होगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhind News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: धुलेंडी आज, स्कूलों में बच्चों ने खेली होली सुरक्षा के लिए बनाए 86 स्थायी प्वाॅइंट
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhind

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×