• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhind News
  • स्कूल तक सरपंच ने नहीं बनवाई सीसी रोड अपने घर के पीछे बनवा लिया पक्का चौक
--Advertisement--

स्कूल तक सरपंच ने नहीं बनवाई सीसी रोड अपने घर के पीछे बनवा लिया पक्का चौक

खरिका गांव में स्कूल की वह रोड, जिस पर सरपंच को बनवाना थी सीसी सड़क। चंबल नदी के रेत से कराया जा रहा काम ...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:15 AM IST
खरिका गांव में स्कूल की वह रोड, जिस पर सरपंच को बनवाना थी सीसी सड़क।

चंबल नदी के रेत से कराया जा रहा काम

ग्रामीण राकेश शर्मा, माेनू शर्मा, रामकिशोर कुशवाह सहित अन्य का कहना है कि पंचायत में अभी तक जो भी विकास कार्य हुए हैं। उन कामों में चंबल नदी का रेत उपयोग में लिया गया है। वहीं वर्तमान में जो काम हो रहे हैं। उसमें भी खुलेआम चंबल रेत का उपयोग किया जा रहा है। जबकि शासन की ओर से चंबल नदी के रेत से निर्माण कार्य कराने पर प्रतिबंध लगा हुआ है। लेकिन हमारी पंचायत में शासन के आदेश का पालन नहीं किया जा रहा है। खास बात यह है कि गांव में पंचायत भवन का निर्माण हो रहा है। उसमें भी बड़ी मात्रा में चंबल नदी के रेत का उपयोग हो रहा है। जिसकी जानकारी प्रशासन के अधिकारियों को है। लेकिन वे कार्रवाई न करके शांत बैठे हुए हैं।

एसडीएम ने ग्रामीणों की मांग पर जनपद पंचायत सीईओ को दिए जांच के आदेश

भास्कर संवाददाता | भिंड

अटेर क्षेत्र की ग्राम पंचायत खरिका में पंचायत की ओर से सरकारी स्कूल तक सीसी रोड का निर्माण होना था। लेकिन सरपंच दुलारी बाई और उनके बेटे डब्बल ने स्कूल भवन तक छात्रों के आवागमन के लिए रोड का निर्माण न कराकर पंचायत की राशि से अपने घर के पीछे पक्का चौक का निर्माण कराया है। जिसका बुधवार को गांव के ग्रामीणों के द्वारा विरोध किया गया। इस दौरान उन्होंने सरपंच के खिलाफ जमकर नारेबाती करते हुए कलेक्टर और एसडीएम से जांच कराने की मांग की है।

गौरतलब है कि ग्राम पंचायत खरिका में स्कूली बच्चों के लिए पक्की सड़क का निर्माण नहीं होने से ग्रामीण लोगों ने सरपंच दुलारी बाई और उनके बेटे डब्बल का विरोध करना शुरू कर दिया है। सरपंच और उपसरपंच मिलकर खरिका निवारी में गुणवत्ताविहीन कार्य करा रहे है। वहीं दूसरी ओर सरपंच के खिलाफ पहले भी जनपद सीईओ से लेकर कलेक्टर इलैया राजा टी से ग्रामीणों ने शिकायत की थी, लेकिन आज तक सरपंच के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि कई बार शिकायत के बाद भी संबंधित अधिकारी हम लोगों को जल्द कार्रवाई करने का आश्वासन देकर वापस लौटा देते हैं। वहीं सरपंच सहित पंचायत के अन्य जनप्रतिनिधि और अधिकारियों पर कार्रवाई नहीं होने से उनके हौंसले बुलंद हो रहे हैं। इस कारण से वे पंचायत में विकास कार्य के लिए आने वाली राशि का उपयोग अपने निजी कार्य पर खर्च कर रहे हैं।

सरपंच के खिलाफ कराएंगे कार्रवाई: जनपद सदस्य शंभूदयाल बघेले ने कहा कि स्कूल के रास्ते पर बनने वाली सीसी रोड के निर्माण तो नहीं किया, लेकिन अपने घर के पीछे पक्के चौक का निर्माण किया है। वह इस संबंध में कलेक्टर इलैया राजा टी से लेकर जनपद सीईओ से शिकायत करेंगे। साथ ही कार्रवाई को लेकर प्रदेश सरकार के मंत्री को भी पत्र लिखेंगे।

ग्रामीणों ने किया विरोध

ग्रामीण लोगों ने स्कूल भवन तक सरपंच द्वारा सीसी रोड का निर्माण नहीं किए जाने को लेकर विरोध किया गया। इस दौरान ग्रामीण रमेश शर्मा, रामौतार भारद्वाज, जगदीश पटले आदि का कहना है कि गांव के सरकारी स्कूल तक सीसी सड़क निर्माण को मंजूरी मिली थी। लेकिन सरपंच द्वारा अभी तक रोड नहीं बनाई गई है। ऐसी स्थिति में गांव के बच्चों को कच्चे रास्ते से रोजाना स्कूल जाना पड़ता है। वहीं बारिश के दिनों में सड़क पर जलभराव होने के कारण इस रास्ते से स्कूल तक जाना संभव नहीं हो पाता है। इस वजह से बारिश के सीजन में बच्चे कम ही स्कूल जा पाते हैं। जिससे उनकी पढ़ाई काफी प्रभावित होती है।

जांच के आदेश देता हूं


जितना एस्टीमेट, उतनी रोड बनाई