--Advertisement--

रमन प्रभाव की पूरे विश्व में छाप: अली

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर आयोजित संगोष्ठी में प्रो. अली व्यक्त किए विचार भास्कर संवाददाता | भिंड राष्ट्र...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:15 AM IST
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर आयोजित संगोष्ठी में प्रो. अली व्यक्त किए विचार

भास्कर संवाददाता | भिंड

राष्ट्र धर्म से बड़ा कोई धर्म नहीं है। इस धर्म को लोग अलग- अलग क्षेत्र में काम करते हुए निभाते हैं। विज्ञान के क्षेत्र में भौतिक विज्ञानी नोबल पुरस्कार विजेता डा. चंद्रशेखर वेंकट रमन द्वारा 28 फरवरी 1928 को खोजे गए रमन प्रभाव को विश्व मानता है। यह बात विज्ञान दिवस की पूर्व संध्या पर कैलादेवी कंपटीशन क्लासेस में आयोजित संगोष्ठी में मुख्य वक्ता प्रो. इकबाल अली ने व्यक्त किए।

ये हुए शामिल

कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती, भारत माता एवं सर सीवी रमन के चित्र पर माल्यार्पण एवं पूजन से हुआ। तत्पश्चात छात्र- छात्राओं ने सर रमन के व्यक्तित्व- कृतित्व पर प्रकाश डाला। छात्र- छात्राओं में कन्हैयालाल बौहरे ने कहा महान भौतिक विज्ञानी सीवी रमन के अभूतपूर्व खोज को भुलाया नहीं जा सकता। उनके द्वारा मानव कल्याण के लिए कई खोजें की गईं। वंदना शर्मा ने कहा विज्ञान के कारण विश्व उन्नति कर रहा है। गौरव सोनी ने कहा राष्ट्रीय विज्ञान दिवस देश में निरंतर उन्नति का आह्वान करता है। कार्यक्रम में नीतेश बौहरे, अंकिता दुबे, आरती दैपुरिया, प्रदीप शर्मा, अमन तिवारी, अंकित यादव, विनय पाठक आदि की उपस्थित रहे।