• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhind News
  • टेहनगुर-हिलगांव के बीच सिंध नदी पर पुल के लिए मिले 27 करोड़, पांच सड़कें भी बनेंगी
--Advertisement--

टेहनगुर-हिलगांव के बीच सिंध नदी पर पुल के लिए मिले 27 करोड़, पांच सड़कें भी बनेंगी

खुलेगा जिलास्तरीय उत्कृष्ट छात्रावास जिलास्तरीय उत्कृष्ट छात्रावास भी बनाए जाएंगे। इसके अलावा बिलाव,...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:20 AM IST
खुलेगा जिलास्तरीय उत्कृष्ट छात्रावास

जिलास्तरीय उत्कृष्ट छात्रावास भी बनाए जाएंगे। इसके अलावा बिलाव, भारौली, मेंहदवा, कनावर, सर्वा, उदोतगढ़, पीपरी, नुन्हाटा, हवलदार सिंह का पुरा, नयागांव, चौम्हों, लहरौली और जवासा में हायर सेकंडरी स्कूल के भवन की मंजूरी दी गई। वहीं गोरमी, बरहाद, फूफ, कनावर, मिहोना, हरीचा और चंदूपुरा में भी स्कूल भवन बनाने का प्रस्ताव किया गया।

सरकार ने अंतिम छोर तक के व्यक्ति की चिंता की, बहुत शानदार है बजट


भाजपा विधायक बोले- सभी वर्गांे का रखा ध्यान, विपक्ष ने बताया- धोखे का बजट

सभी वर्गों की चिंता कर बहुत संतुलित बजट पेश किया गया


इन सड़कों के लिए मिली राशि

वर्ष 2018-19 के बजट में राज्य में 532 नई सड़कों और 38 नए पुलों को बनाए जाने की जाने की घोषणा की गई है। इसमें भिंड विधानसभा की 2.53 करोड़ रुपए की बाराकलां से रूप सहाय का पुरा, 1.14 करोड़ की नयागांव से हार की जमेह, लहार विधानसभा क्षेत्र की 13.94 करोड़ की मछरैया से बंथरी, 1.07 करोड़ की नौध से पचोखरा और मेहगांव विधानसभा में 11 करोड़ रुपए से अमायन से मौ और सवा करोड़ रुपए से अमायन से अड़ोखर कमनपुरा तक की सड़क शामिल है।

बनेंगे स्वास्थ्य केंद्र भवन

मानहड़ आैर भारौली गांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन बनाए जाएंगे। इसके साथ ही स्टाफ क्वार्टर का निर्माण भी किया जाएगा। इसकी स्वीकृति बजट में दी गई।

खुलेंगे नए हाईस्कूल व हासे स्कूल

इस बजट में जिले को नए हाईस्कूल व हायर सेकेंडरी स्कूल भी मिले हैं। मेहगांव के मेहदा, विरगंवा सहित चार गांवों में हाईस्कूल और मानगढ़ सहित तीन गांवों में हायर सेकंडरी स्कूल मिले हैं।

पुराने कार्य ही शामिल कर लिए गए सरकार का यह बजट धोखा है


लोगों को मिलेगा लाभ

टेहनगुर-हिलगांव के बीच पुल का निर्माण होने से टेहनगुर, ओझा, डुड़ियन, नयागांव, सगरा, मधूपुरा, सरसई, कोट, हार की जमेह, दबियापुरा, डूंगरपुरा, बीहड़ की जमेह, रौरा, ईसुरी, रमपुरा, गढ़ी सुल्तान, नवलपुरा, ककहारा, नागौर, रूर, मड़रई आदि सहित करीब 80 गांव के लोगों को फायदा होगा। साथ ही उनको उत्तरप्रदेश जाने के लिए लहार होते हुए घूमकर जाने की जरूरत नहीं होगी।