--Advertisement--

हत्या के प्रयास के केस में एक को दस साल की सजा

वर्ष 2014 में आरोपी ने किया था फायर भास्कर संवाददाता | भिंड जिला एवं सत्र न्यायाधीश बीएस औहरिया ने हत्या के...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 01:10 PM IST
वर्ष 2014 में आरोपी ने किया था फायर

भास्कर संवाददाता | भिंड

जिला एवं सत्र न्यायाधीश बीएस औहरिया ने हत्या के प्रयास के मामले में एक युवक को 10 साल के सश्रम कारावास और तीन हजार रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई है। साथ ही अर्थदंड न चुकाने पर दो माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। जबकि इसी मामले एक अन्य युवक को दोष मुक्त किया गया है।

एडीपीओ इंद्रेश कुमार प्रधान ने बताया कि 15 अगस्त 2014 को फरियादी धर्मेंद्र के जीजा सोनू और उनके भाई जगवीर राजावत ट्रैक्टर से ग्राम गोअरखुर्द हनुमान टेकरी के पीछे वाले खेत जोतने गए थे। जबकि धर्मेंद्र अपनी बहन को छोड़ने उसकी ससुराल आया हुआ था और जीजा से मिलने खेत पर गया था। वह खेत पर जीजा से बातचीत कर रहा था। तभी अवधेश उर्फ भंवर व उसका भाई संतोष शर्मा अपनी 12 बोर की बंदूक लेकर आ गए और चिल्लाते हुए उक्त खेत नहीं जोतने देंगे कहकर देख लेने की धमकी। तभी अवधेश उर्फ भंवर ने धर्मेंद्र, उसके जीजा सोनू को जान से मारने की नियत से 12 बोर की बंदूक फायर किया। जिसकी गोली धर्मेंद्र के दाहिने हाथ की बाजू में लगी। उसके बाद संतोष ने भी जगवीर जो जान से मारने से फायर किया। लेकिन जगवीर नीचे बैठ जाने से बच गया। इस मामले में पावई पुलिस ने धर्मेंद्र की फरियाद उक्त आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट लिखकर न्यायालय में प्रकरण भेजा। वहीं जिला एवं सत्र न्यायाधीश बीएस औहरिया ने अवधेश उर्फ भंवर (36) पुत्र कृष्णानंद शर्मा निवासी गोअरखुर्द को 10 साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। वहीं संतोष (27) पुत्र कृष्णानंद शर्मा निवासी गोअरखुर्द को दोष मुक्त किया है।