जबरदस्ती घर में घुसे अधिकारी तो लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, बोले- बाथरूम में थीं महिलाएं इसलिए बाद में आने को कहा था, लेकिन वो नहीं माने / जबरदस्ती घर में घुसे अधिकारी तो लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, बोले- बाथरूम में थीं महिलाएं इसलिए बाद में आने को कहा था, लेकिन वो नहीं माने

dainikbhaskar.com

Jan 10, 2019, 04:24 PM IST

अधिकारी के गोली चलाने के आदेश के बाद भड़क गए थे लोग

Forcefully entered in house for checking, Electricity department workers beaten by local people in Bhind

भिंड. गोहद से बिजली विभाग के जेई प्रदीप भदौरिया को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने का मामला सामने आया है। दरअसल, चेकिंग के नाम पर वो घर में जबरदस्ती घुस गए। तब घर में महिलाएं बाथरूम में थीं। उन्हें बाद में आने को कहा गया, लेकिन वो नहीं माने। लोगों ने विरोध किया तो जेई ने अपने गनमैन से फायर करने को कह दिया। ये सुनते ही लोग भड़क गए। उन्होंने जेई को ऐसा दौड़ाया कि वो भागने पर मजबूर हो गए। हालांकि, पुलिस ने मामले को शांत करवाया और दोनों पक्षों की बात सुनी। मौके पर पार्षद ने भी जेई को धमकाते नजर आए। संबल योजना के तहत जिनके घरों का लोड एक हजार किलोवाट से अधिक है, उन्हें 200 रु. फ्लैट बिल योजना से बाहर किया जा रहा है।

प्रतिदिन 50 से 60 ग्राहक किए जा रहे बाहर
श्रमिक कार्ड से बिल माफी योजना का लाभ लेने वाले उपभोक्ताओं को बिजली कंपनी ने बड़ा झटका दिया है। अब कंपनी ऐसे उपभोक्ताओं के घरों का लोड जांच रही है, जिन लोगों के यहां एक हजार किलोवाट से ज्यादा का लोड मिल रहा है, उन्हें योजना से बाहर किया जा रहा है और रीडिंग के अनुसार ही बिल भेजा जा रहा है। प्रतिदिन ऐसे 50 से 60 उपभोक्ताओं को 200 रुपए महीना के फ्लैट बिल की योजना से बाहर किया जा रहा है। बिजली कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक शहर में 35 हजार बिजली के उपभोक्ता हैं। इनमें से 57 प्रतिशत उपभोक्ताओं ने बिजली बिल माफी योजना का लाभ लिया। प्रतिदिन 80 से 90 घरों में जाकर लोड चेक किया जा रहा है।

X
Forcefully entered in house for checking, Electricity department workers beaten by local people in Bhind
COMMENT