--Advertisement--

केंद्र सरकार की नीतियों से देश का मजदूर बर्बाद हुआ है: रेड्डी

मंगलवार को नई कृषि उपज मंडी परिसर में अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस पर बैठक का आयोजन किया गया भास्कर संवाददाता | भिंड...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 02:15 AM IST
केंद्र सरकार की नीतियों से देश का मजदूर बर्बाद हुआ है: रेड्डी
मंगलवार को नई कृषि उपज मंडी परिसर में अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस पर बैठक का आयोजन किया गया

भास्कर संवाददाता | भिंड

केंद्र सरकार की विनाशकारी नीतियों के कारण देश का मजदूर वर्ग बर्बाद हो चुका है। वहीं महंगाई के कारण आम आदमी इन दिनों परेशानी के दौर से गुजर रहा है। साथ ही लाखों युवा बेरोजगार घूम रहे हैं। सरकार ने श्रम कानून का खत्म कर पूंजीवादियों को बलशाली बना दिया है। अगर इन मामलों पर कोई बात करता है तो केंद्र सरकार द्वारा उसको देश का गद्दार कहा जात है। यह बात मंगलवार को सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन द्वारा अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस आयोजित बैठक में मुख्यअतिथि जनार्दन रेड्डी ने कही।

उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओं में व्याप्त भ्रष्टाचार व महंगाई से मजदूर वर्ग सबसे ज्यादा परेशान हुआ है। मजदूरों की समस्याओं का समाधान कराने की बजाय उनकी आवाज दबाने का प्रयास किया जाता है। आये दिन मनरेगा अंतर्गत काम करने वाले मजदूरों द्वारा मजदूरी न मिलने की शिकायत की जाती है। आये दिन मनरेगा अंतर्गत काम करने वाले मजदूरों द्वारा मजदूरी न मिलने की शिकायत की जाती है। माकपा के राज्य कमेटी के सदस्य रामलाल ने कहा कि भारतवर्ष में 42 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे हैं। कृषि कार्य में लगे मजदूरों की मजदूरी की कोई गारंटी नहीं है।

इसके अलावा अन्य कार्यों में लगे मजदूरों के जीवन के सुरक्षा की भी जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है। मजदूर समाज की रीढ़ है। राजनेताओं द्वारा इसकी उपेक्षा की जाती है। इनके जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिये सामूहिक प्रयास होने चाहिए। इस मौके पर ईशा खान, शैलेंद्र, किशन सिंह, मंटोले, उत्तम सिंह, महेश, पूरनसिंह, हवलदार सिंह, अमरसिंह, रोहित सिंह, नाथू सिंह, देशराज आदि मौजूद रहे।

X
केंद्र सरकार की नीतियों से देश का मजदूर बर्बाद हुआ है: रेड्डी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..