Hindi News »Madhya Pradesh »Bhind» उपद्रव में संदिग्ध भूमिका वाले पांच पुलिसकर्मी लाइन अटैच, 18 कर्मचारियों को नोटिस की तैयारी

उपद्रव में संदिग्ध भूमिका वाले पांच पुलिसकर्मी लाइन अटैच, 18 कर्मचारियों को नोटिस की तैयारी

भारत बंद के दाैरान अटेर रोड पर उपद्रवियों को खदेड़ते पुलिसकर्मी। सीसीटीवी फुटेज और वीडियो से मिली जानकारी ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:20 AM IST

उपद्रव में संदिग्ध भूमिका वाले पांच पुलिसकर्मी लाइन अटैच, 18 कर्मचारियों को नोटिस की तैयारी
भारत बंद के दाैरान अटेर रोड पर उपद्रवियों को खदेड़ते पुलिसकर्मी।

सीसीटीवी फुटेज और वीडियो से मिली जानकारी

उपद्रव में बीच-बीच में ढील भी दी गई। लेकिन अब जब हालात सामान्य होने लगे हैं तो प्रशासन इस उपद्रव के पीछे के कारणों और इसको हवा देने वालों पर कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। पुलिस अधीक्षक को उपद्रव में शामिल पांच पुलिसकर्मियों के सीसीटीवी फुटेज और वीडियो मिले हैं, जिसके बाद इन्हें थानों हटाकर लाइन अटैच किया गया है। यहां बता दें कि आईबी (इंटेलिजेंस ब्यूरो) ने भी प्रशासन को जो रिपोर्ट दी है कि उसमें भी दो अप्रैल के आंदोलन में सरकारी अधिकारी कर्मचारियों की भूमिका बड़ी बताई गई है।

आवेदन हुए गायब तो उपस्थिति से चिह्नित किए संदिग्ध

भारत बंद के आंदोलन में शामिल होने के लिए कई विभागों के अधिकारी कर्मचारी अवकाश लेकर गए थे। लेकिन उपद्रव के बाद जब यह खबर प्रशासनिक अधिकारियों को लगी तो उक्त कर्मचारियों ने अपने आवेदन गायब कर दिए। ऐसे में कलेक्टर डॉ इलैया राजा टी ने कलेक्टोरेट कार्यालय में पदस्थ कर्मचारियों की दो अप्रैल की बायोमेट्रिक हाजिरी निकलवाई है, जिसमें करीब 18 नाम संदिग्ध सामने आए हैं। हालांकि प्रशासन अभी इनके नाम नहीं खोल रहा है। लेकिन इन्हें नोटिस देने की तैयारी चल रही है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार तक इन कर्मचारियों को नोटिस जारी कर दिए जाएंगे।

57 उपद्रवियों पर 3.24 लाख का इनाम घोषित

दो अप्रैल को हुए उपद्रव के बाद पुलिस प्रशासन ने 297 नामजद और 5750 अज्ञात लोगों के खिलाफ अलग अलग अपराध पंजीबद्ध किए हैं। इनमें से अब तक 177 नामजद लोगों की गिरफ्तारियां हो चुकी है। जबकि 57 उपद्रवियों पर एसपी प्रशांत खरे ने 3.24 लाख रुपए का इनाम घोषित किया है। पुलिस इनकी तलाश में लगातार दबिशें दे रही है।

इन पुलिस कर्मचारियों को किया लाइन अटैच

मेहगांव थाना के प्रधान आरक्षक धनपाल सिंह जाटव, आरक्षक बनवारी जाटव, लहार थाना के प्रधान आरक्षक मनोज कुमार, मछंड चौकी के रामकुमार दोहरे और आरक्षक सुल्तान सिंह राठौर को पुलिस लाइन भेज दिया है। यहां बता दें कि मछंड चौकी पर पदस्थ प्रधान आरक्षक रामकुमार दोहरे और आरक्षक सुल्तान सिंह पर उपद्रव वाले दिन महावीर सिंह पुत्र रंधौर सिंह निवासी गांद की गोली मारकर हत्या का आरोप भी रौन थाना में दर्ज है। जबकि शेष पुलिस कर्मचारियों की भूमिका का अफसर खुलासा नहीं कर रहे हैं।

एडीएम से जांच करवा रहे हैं

भारत बंद के दौरान हुए उपद्रव के बाद कुछ पुलिस कर्मचारियों को थानों से लाइन भेजा गया है। बंद के दौरान उनकी भूमिका कुछ संदिग्ध रही थी। - प्रशांत खरे, एसपी भिंड

भारत बंद में जिन कर्मचारियों की भूमिका रही है इस संबंध में जांच चल रही है। एडीएम मामले की जांच कर रहे हैं। अभी 18 संदिग्ध सामने आए हैं। - डॉ. इलैया राजा टी, कलेक्टर भिंड

अब तक पांच कर्मचारी हो चुके हंै सस्पेंड

यहां बता दें कि भारत बंद के आंदोलन में शामिल हुए अब तक पांच अधिकारी कर्मचारियों के वीडियो और फुटेज सामने आने के बाद उन्हें सस्पेंड किया जा चुका है, जिसमें कलेक्ट्रोरेट के लिपिक सुरेश कुमार कौशल, भृत्य प्रवेश कुमार, लिपिक योगेश गुप्ता और एटीओ महेश वर्मा सहित एक अन्य शामिल हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhind

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×