• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhind News
  • स्कूल ओलिंपियाड से खुलेंगे खेल प्रतियोगिताओं के रास्ते
--Advertisement--

स्कूल ओलिंपियाड से खुलेंगे खेल प्रतियोगिताओं के रास्ते

विगत वर्ष आनन- फानन में शुरू हुई स्कूल ओलिंम्पियाड की प्रक्रिया इस वर्ष व्यवस्थित तरीके से चलेगी। इस वर्ष संकुल से...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:20 AM IST
विगत वर्ष आनन- फानन में शुरू हुई स्कूल ओलिंम्पियाड की प्रक्रिया इस वर्ष व्यवस्थित तरीके से चलेगी। इस वर्ष संकुल से संभाग स्तर तक की प्रतियोगिताएं 15 जुलाई से 31 अगस्त तक आयोजित होंगी। जमीन स्तर से खेल प्रतिभाएं निखरें और शिखर तक पहुंचे इसके लिए स्कूल ओलिंम्पियाड की शुरूआत की गई है। स्कूल ओलिंम्पियाड में उन खेलों में बच्चों को प्रोत्साहित करने की प्रक्रिया चलेगी जिनके लिए अधिक संसाधन, खेल सुविधाओं और उपकरणों की आवश्यकता नहीं होती। खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन संकुल केंद्र, विकास खंड, जिला एवं संभाग स्तर तक होगा। इसके बाद खिलाड़ियों के लिए आगे बढ़ने के रास्ते खुल जाएंगे। वे विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में भागीदारी कर सकेंगे।

आयोजन

15 जुलाई से 31 अगस्त तक स्कूल लेवल पर होंगे खेल, खेलों के प्रति प्रोत्साहित होंगे बच्चे

15 जुलाई से 31 अगस्त तक कराई जाएंगी प्रतियोगिताएं

शहरी-ग्रामीण अंचल में जमीनी स्तर पर प्रचलित खेलों को बढ़ावा देने के लिए चलने वाले इस अभियान के सफलतम क्रियान्वयन के लिए स्कूल चलें, पढ़ें और खेलें हम नारा दिया गया है। लोक शिक्षण आयुक्त द्वारा स्कूल ओलिंम्पियाड में जिले के सभी मिडिल स्कूल, हाईस्कूल, हायर सेकंडरी स्कूल के छात्र- छात्राएं भागीदारी करें इसके लिए प्रोत्साहित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। सभी प्रतियोगिताओं का आयोजन 15 जुलाई से 31 अगस्त 2018 तक कर लिया जाएगा। इस संदर्भ में जिला शिक्षा अधिकारी विशंभर सिंह सिकरवार द्वारा सभी शिक्षण संस्था प्रमुखों को निर्देशित किया गया है कि वे खेलों का आयोजन सतत रूप कराएं जिससे प्रतिभाएं निखर सकें।

बुलाए जाएंगे जनप्रतिनिधि एवं खेलों में रुचि रखने वाले लोग

प्रतियोगिताओं में सांसद, विधायक, नगरीय निकाय अध्यक्ष, जनपद पंचायत अध्यक्ष, पार्षद, सरपंच, पंच के अलावा ऐसे शासकीय अधिकारी, कर्मचारी आदि को आमंत्रित किया जाएगा जो खेलों में रुचि रखते हैं। विभिन्न स्तरीय प्रतियोगिताएं संभागीय संयुक्त संचालक, सहायक संचालक, प्रभारी सहायक संचालक खेल, जिला शिक्षा अधिकारी, विकास खंड शिक्षा अधिकारी, जिला क्रीड़ा अधिकारी के निर्देशन में हाेंगी। इनमें व्यायाम निदेशक, उत्कृष्ट खिलाड़ियों का योगदान रहेगा।

खेल प्रतिभाओं काे निखारने का अभिनव कार्यक्रम है