--Advertisement--

दूसरे विषय का पेपर दिया तो छात्रों ने नहीं दी परीक्षा

पॉलीटेक्निक कॉलेज के गेट पर नारे बाजी करते परीक्षार्थी। परीक्षार्थियाें को इनडायरेक्ट टैक्स की जगह थमा दिया...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:30 AM IST
पॉलीटेक्निक कॉलेज के गेट पर नारे बाजी करते परीक्षार्थी।

परीक्षार्थियाें को इनडायरेक्ट टैक्स की जगह थमा दिया जीएसटी का पर्चा

भास्कर संवाददाता | भिंड

शहर के पॉलीटेक्निक काॅलेज के छात्रों को दूसरे विषय का पेपर दे दिया। छात्रों की मांग के बावजूद पेपर नहीं बदला गया। जिसके बाद छात्रों ने पेपर का वॉकआउट कर काॅलेज के गेट पर खड़े होकर प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं काॅलेज की छात्रों ने शिक्षकों पर हॉस्टल के छात्रों को परीक्षा के दौरान पैसे लेकर नकल कराने का आरोप लगाया।

गौरतलब है कि पॉलीटेक्निक काॅलेज में एमओएम ब्रांच चौथे सेम के 37 छात्र-छात्रा गुरुवार की सुबह काॅलेज में इनडायरेक्ट टैक्स सबजेक्ट का पेपर देने के लिए पहुंचे। लेकिन परीक्षा हॉल के अंदर उनको परीक्षा वीक्षक ने छात्रों को जीएसटी का पेपर हल करने के लिए थमा दिया। इस दौरान छात्र संबंधित विषय की जगह अन्य सबजेक्ट के पेपर देख भड़क गए। उन्होंने पेपर देने से मनाकर दिया। उसके बाद भी छात्र कालेज के मेन गेट पर आकर काॅलेज प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

हॉस्टल के छात्रों को कराते हैं नकल: कालेज में सिविल ब्रांच की छात्रा विभा मिश्रा ने शिक्षकों पर आरोप लगाते बताया कि काॅलेज के शिक्षक परीक्षा के दौरान हॉस्टल के छात्रों से रुपए लेकर नकल कराते हैं। जिसका अन्य छात्रों के द्वारा कई बार विरोध भी किया गया तो शिक्षक हम लोगों को फेल कराने की धमकी देते हैं।

भोपाल से आया था पेपर

काॅलेज प्राचार्य अनिल शर्मा का कहना है कि गुरुवार को एमओएम ब्रांच चौथे सेमेस्टर में इनडायरेक्ट टैक्स विषय का पेपर था। लेकिन भोपाल से जीएसटी विषय के पेपर भेजे गए थे। मुझे जो पेपर भेजे गए, उनको मैंने परीक्षा के दौरान बंटवा दिया। इसमें मेरी क्या लगती है। साथ ही हॉस्टल के छात्रों को नकल कराने का जो अाराेप है वह झूठा है।