4 साल बाद बिजली कंपनी की जमीन का हुआ सीमांकन, हटेगा कब्जा

Bhind News - मौ-मेहगांव रोड पर बने बिजली कंपनी के कार्यालय की जमीन का बुधवार को राजस्व विभाग के अधिकारियों ने सीमांकन कराया है।...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 03:52 AM IST
Mo News - mp news after 4 years the power demarcation of the power company will be lost
मौ-मेहगांव रोड पर बने बिजली कंपनी के कार्यालय की जमीन का बुधवार को राजस्व विभाग के अधिकारियों ने सीमांकन कराया है। इस दौरान राजस्व अमले ने नापजोख कर कंपनी की आठ बीघा जमीन चिन्हित की है। इस दौरान कुछ किसानों ने सीमांकन का विरोध जताने का प्रयास किया।

तहसीलदार कृष्णकांत दुबे ने बताया कि सीमांकन के बाद अगर कब्जाधारी सहजता से जमीन छोड़ते हैं तो प्रशासन को जगह मुक्त कराने में आसानी होगी, लेकिन विरोध जताने पर कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि सब स्टेशन की 5 बीघा 8 बिस्वा के करीब जमीन है। इसमें एक बीघा जमीन पर स्टेशन संचालित किया जा रहा है, जबकि अन्य जमीन अतिक्रमण की चपेट में है। जिसे मुक्त कराने के लिए प्रशासन ने सीमांकन कराया है।

विकसित होगा कंपनी कार्यालय

सब स्टेशन को विकसित करने के लिए बिजली कंपनी द्वारा पहले चौतरफा बाउंड्रीवॉल कराई जाएगी। इसके बाद नगर में बिजली की समुचित सप्लाई प्रदाय करने के लिए अतिरिक्त ट्रांसफार्मर बढ़ाए जाएंगे। बाउंड्रीवॉल करने के लिए टेंडर हो चुका है। ठेकेदार ने एक साइड से बाउंड्री के लिए नींव भी खुदवा दी है। लेकिन काम इसलिए रोक दिया गया है, क्योंकि उक्त जमीन को अतिक्रमण से खाली कराना है। जेई रविंद्र गौड़ का कहना है कि सब स्टेशन चौतरफा खुला हुआ है। जिससे कोई भी अंदर घुस जाता है। इससे करंट के साथ फीडर सेपरेशन का कार्य भी प्रभावित होता है। अंदर अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाए जाने के अलावा अर्थिंग के लिए पानी की सुविधा की जानी है। जिससे लोगों को बिजली की समुचित सुविधा प्रदान कराई जा सके।

कंपनी की जमीन पर हो रही खेती

डाक बंगला तिराहा के पास बना बिजली सब स्टेशन आसपास खेतों से घिरा हुआ है। तीन ओर से किसानों के खेत हैं तो एक तरफ से रहवास बना हुआ है। कुछ किसानों ने धीरे-धीरे अपने खेतों में कंपनी की जमीन को जोतना शुरू कर दिया। जिस पर वह आज आसानी से खेती कर फसल उगा रहे हैं। आसपास रहने वाले लोग पक्का निर्माण कर अतिक्रमण करने में लगे हुए हैं। कंपनी अधिकारी जब इन्हें कब्जा हटाने के लिए कहते हैं तो दबंग झगड़ने पर आमादा हो जाते हैं। जिससे यह मामला लंबे समय से विवाद में घिरा हुआ है। कंपनी के अधिकारी प्रशासन के सहयोग से जमीन खाली कराना चाहते हैं, जिससे वहां बिजली के अन्य उपकरण स्थापित किए जा सकें। सीमांकन के दौरान रहवासी कदम सिंह ने विरोध जताया। लेकिन अधिकारियों ने उसे समझाइश देकर शांत करा दिया। सीमांकन के दौरान राजस्व विभाग के तहसीलदार कृष्णकांत दुबे, पटवारी घनश्याम बघेल, जेई रविंद्र सिंह गौड़ मौजूद रहे।

X
Mo News - mp news after 4 years the power demarcation of the power company will be lost
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना