मृत्यु का भय दूर करती है भागवत: किशोरी

Bhind News - रौन के मौनी महाराज की बगिया में चल रही भागवत कथा का रसपान करने पहुंचे विधायक भागवत कथा के रसपान करने से ही...

Feb 02, 2020, 08:56 AM IST
Ron News - mp news bhagwat removes fear of death teenager

रौन के मौनी महाराज की बगिया में चल रही भागवत कथा का रसपान करने पहुंचे विधायक

भागवत कथा के रसपान करने से ही अमृत की प्राप्ति होती है। मनुष्य जन्म मृत्यु के भय से छूट जाता है। यह बात मोनी महाराज की बगिया में चल रही भागवत कथा में कथा वाचक हस्ता किशोरी ने कही। कथा का रसपान करने मेहगांव विधायक ओपीएस भदौरिया भी पहुंचे। किशोरी ने कथा में बताया प्रहलाद को उनके माता के शुद्ध चरित्र के कारण ही गर्भ में ज्ञान हो गया था। इसके कारण हरि को हर समय भजते रहे और उनके पिता हिरण्य कश्यप ने उनका बहुत विरोध किया। अंत में अपनी बहन डुंडी के माध्यम से मरवाना चाहा लेकिन डुंडी का जो वस्त्र था वह अग्निरोधक था। जिसे पहनकर प्रहलाद को गोद में लेकर बैठी थी भगवान की लीला के चलते अग्निरोधक जलकर राख हो गया। प्रहलाद रूपी सत्य उस अग्नि से तपकर प्रकट हुआ और तभी से होलिका दहन बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के रूप में संपूर्ण भारत वर्ष में मनाया जाता है।

इधर रौन के भीमनगर में चल रही भागवत कथा के अंतिम दिन पंडित हितेंद्र कृष्ण महाराज ने बताया कि जब अमृत का खोज हुआ तो चंद्रमा, समुद्र, सुंदरी के अधर में, स्वर्ग में ढूंढा गया लेकिन अमृत नहीं मिला। यदि अमृत स्वर्ग में मिलता तो देवताओं का पतन नहीं होता। आखिर में श्रीमद् भागवत कथा के रसपान करने से ही अमृत की प्राप्ति होती है। महाराज ने बताया जब कोई व्यक्ति बढ़ता है तो उसके आसपास का व्यक्ति स्वयं बढ़ जाता है। व्यक्ति को अपने जीवन में चाहिए कि सामूहिक प्रयास करे। दूसरे को उठाने का प्रयास करे या स्वयं उठने का प्रयास करे, इससे स्वयं का जीवन तो उच्च होगा ही साथ ही अन्य व्यक्तियों का जीवन भी उच्च होगा। सनातन धर्म में बड़े से बड़े पूजा है इसे व्यक्ति अकेले नहीं कर सकता। लेकिन संयुक्त रूप में पूजा करने से सरलता के साथ पूजा संपन्न होती है। कथा के दौरान समाजसेवी दिनेश शिवहरे और अशोक शिवहरे सहित समस्त श्रोता मौजूद थे।

भागवत कथा में आशीर्वाद लेते विधायक।

X
Ron News - mp news bhagwat removes fear of death teenager

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना