आत्महत्या के लिए उकसाने वाले पति-ससुर कोआजीवन कारावास

Bhind News - शादी के 9-10 महीने बाद ही विवाहिता ने फांसी लगाकर की थी आत्महत्या भास्कर संवाददाता|अंबाह शादी के 9 महीने बाद ही...

Oct 13, 2019, 06:25 AM IST
शादी के 9-10 महीने बाद ही विवाहिता ने फांसी लगाकर की थी आत्महत्या

भास्कर संवाददाता|अंबाह

शादी के 9 महीने बाद ही दहेज के लिए पति व ससुर ने विवाहिता को इतना प्रताड़ित किया कि उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में अंबाह द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश डॉ. धर्मेंद्र टाडा की अदालत ने आरोपी पति व ससुर को आजीवन कारावास व 3 साल के सश्रम कारावास सहित जुर्माने से दंडित किया है।

अपर लोक अभियोजक अंबाह रामसेवक मिश्रा ने बताया कि सिहोनियंा थाना क्षेत्र के ग्राम लेपा निवासी शिवम पुत्र संग्राम सिंह तोमर का विवाह कविता नामक युवती से 13 जुलाई 2016 को हुआ था। शादी के 8-9 माह तक सब-कुछ ठीक चला। कविता ने एक बेटी को भी जन्म दिया। इसके बाद ससुरालीजन उसे दहेज में 50 हजार रुपए नकद व बाइक लाने के लिए प्रताड़ित करने लगे। रोज-रोज की प्रताड़ना से तंग आकर 9 फरवरी 2017 को शिवम की प|ी कविता ने घर के आंगन में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में पुलिस ने मर्ग जांच के बाद कविता के परिजन की शिकायत पर ससुरालियों के विरुद्ध दहेज के लिए प्रताड़ित करने व आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर किया। केस डायरी अंबाह द्वितीय अपर सत्र न्यायालय में पेश की गई। शनिवार को अपर सत्र न्यायाधीश डॉ. धर्मेंद्र टाडा ने घटना के बाद साक्ष्य व गवाहों के बयानों के आधार पर मृतक विवाहिता कविता के पति शिवम व उसके ससुर संग्राम सिंह पुत्र स्व. छोटेसिंह उर्फ छ़ट्‌टन को आजीवन कारावास (चार-चार साल सश्रम सहित) की सजा सुनाई है। वहीं दोनों के ऊपर एक-एक हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना नहीं भरने की दशा में दोनों आरोपियों को तीन-तीन महीने का अतिरिक्त कारावास अलग से भुगतना होगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना