रावतपुरा सानी में दबंगों ने मुख्य रास्ता किया बंद, ग्रामीणों ने एसडीएम बंगले पर किया प्रदर्शन

Bhind News - लहार क्षेत्र के रावतपुरा सानी गांव में कुछ दबंगों ने ग्रामीणों का रास्ता बंद कर मुख्य रोड पर कब्जा कर लिया है।...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:15 AM IST
Lahar News - mp news dabangs stopped in main road in rawatpura sani villagers performed on sdm bungalow
लहार क्षेत्र के रावतपुरा सानी गांव में कुछ दबंगों ने ग्रामीणों का रास्ता बंद कर मुख्य रोड पर कब्जा कर लिया है। लोगों ने रास्ता खोलने के लिए बहुत प्रयास किया, लेकिन दबंगों ने अतिक्रमण नहीं हटाया है। इससे रोड के साथ ही ग्रामीणों के घरों में बारिश का गंदा पानी पहुंच रहा था। शनिवार को गुस्साए लोगों ने अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर एसडीएम बंगले का घेराव कर लिया। ग्रामीणों ने एसडीएम मोहम्मद इकबाल को एक ज्ञापन सौंपकर पांच दिन का अल्टीमेटम दिया है। दिए गए समय में अगर रास्ता नहीं खोला गया तो ग्रामवासी उग्र आंदोलन के लिए बाध्य हो जाएंगे। जिसकी जिम्मेदारी फिर प्रशासन की होगी। इसके बाद एसडीएम ने लोगों को समझाइश देकर शीघ्र मामले की जांच कर मुख्य रोड से कब्जा हटाने का भरोसा ग्रामीणों को दिलाया है।

एसडीएम बंगले के सामने बैठे धरने पर: पहले आंदोलनकारी एसडीएम इकबाल को समस्या बताते रहे, लेकिन ठोस आश्वासन नहीं मिला तो समस्त ग्रामीणजन बंगला के सामने धरने पर बैठ गए। एसडीएम ने लोगों को समझाया कि जिन बाहुबलियों ने गांव के रास्ते को बंद कर दिया है, उनके खिलाफ उचित कार्रवाई कर रास्ता खाली कराया जाएगा। इसके बाद ही ग्रामीणों ने धरना समाप्त किया। लेकिन करीब एक घंटे तक चले इस तमाशे में फरियाद लेकर आए ग्राम वासियों में क्रोश था। लोगों को शांत कराने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने प्रयास किया और अंत में उन्हें मुख्य रास्ता से कब्जा हटाकर इस बदहाली से निजात दिलाने का आश्वासन दिया गया। गांव के लोगों में पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी एसडीएम से अतिक्रमण हटाने की गुहार लगाई है।

पूरा गांव है परेशान

दबंगों ने शासकीय जगह पर कब्जा कर आवागमन की रोड ही बंद कर दी है। गांव के रामदयाल वाजपेयी ने बताया पहले भी गांव का रास्ता बंद कर दिया था। लेकिन अब मुख्य रोड बंद होने से पूरा गांव परेशान है। मना करते हैं तो दबंग झगड़ने पर आमादा हो जाते हैं। लाठी व बंदूक दिखाकर जान से मारने का भय दिखाते हैं। इससे समूचे गांव के लोग तंग आ गए हैं। ग्रामीणों को चिंता सता रही है कि रास्ता जल्द ही नहीं खोला गया तो अधिक बारिश में लोगों के घरों में गंदा पानी भर सकता है। ऐसा हुआ तो मुसीबत और बढ़ जाएगी। ग्रामीणों ने फिलहाल एसडीएम से कहा है कि अगर प्रशासन ने ठोस कार्रवाई नहीं की तो वह धरने पर बैठ जाएंगे। इस संबंध में एसडीएम इकबाल का कहना है कि मामले की जांच कर उक्त रास्ते को शीघ्र ही खाली कराया जाएगा। ज्ञापन देने वालों में गेंदालाल, रामदीन, भगवानदास, विद्याराम, मानसिंह, सुख्वासी, रामकली बाई, मायादेवी परमा, सुषमा, मोहरश्री, ममता, मीनादेवी, तेजा देवी, मुकुट, अशोक, पानसिंह, पिंकू कड़ोरे, विंदोले, रामस्वरूप, पप्पू बाजपेयी, राजूसिंह, धीरज,बंटी, मुलायमसिंह, माताचरन, पुष्पेंद्र, दीपू, हृदेश आदि ग्रामीणजन मौजूद रहे।

एसडीएम को ज्ञापन देते रावतपुरा सानी गांव के ग्रामीण।

ग्रामीण बोले- आखिर कब तक सहन करें

समाजसेवी संजीव नायक के नेतृत्व में ग्रामीणों ने ज्ञापन देते हुए एसडीएम से कहा कि कब तक सहन करें। जिस रास्ते से निकलते थे, उस पर दबंगों ने घूरा व कचरा डालकर बंद कर दिया है। इससे पानी की निकासी बंद हो गई है। बारिश के साथ ही घरों से निकलने वाला गंदा पानी बीच रोड पर भरा हुआ है। गंदगी इतनी बढ़ गई है कि घरों में मच्छरों के प्रकोप से महामारी फैलने का खतरा मडरा रहा है। सरपंच व सचिव से इस संबंध में कई बार अवगत कराया पर उन्होंने भी केवल आश्वासन देकर टाल दिया। अब बच्चों को स्कूल जाना हो या लहार, रास्ता बंद होने से निकलना मुश्किल हो गया है। दूसरे रास्ते से घूमकर जाते हैं तो वहां से वाहन नहीं निकल पाते हैं। दूसरे रास्ते पर जलभराव है। इससे लोगाें के वाहन कीचड़ में फंस जाते हैं। मुख्य रोड तक पहुंचना मुश्किल हो जाता है।

भास्कर संवाददाता|लहार

लहार क्षेत्र के रावतपुरा सानी गांव में कुछ दबंगों ने ग्रामीणों का रास्ता बंद कर मुख्य रोड पर कब्जा कर लिया है। लोगों ने रास्ता खोलने के लिए बहुत प्रयास किया, लेकिन दबंगों ने अतिक्रमण नहीं हटाया है। इससे रोड के साथ ही ग्रामीणों के घरों में बारिश का गंदा पानी पहुंच रहा था। शनिवार को गुस्साए लोगों ने अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर एसडीएम बंगले का घेराव कर लिया। ग्रामीणों ने एसडीएम मोहम्मद इकबाल को एक ज्ञापन सौंपकर पांच दिन का अल्टीमेटम दिया है। दिए गए समय में अगर रास्ता नहीं खोला गया तो ग्रामवासी उग्र आंदोलन के लिए बाध्य हो जाएंगे। जिसकी जिम्मेदारी फिर प्रशासन की होगी। इसके बाद एसडीएम ने लोगों को समझाइश देकर शीघ्र मामले की जांच कर मुख्य रोड से कब्जा हटाने का भरोसा ग्रामीणों को दिलाया है।

एसडीएम बंगले के सामने बैठे धरने पर: पहले आंदोलनकारी एसडीएम इकबाल को समस्या बताते रहे, लेकिन ठोस आश्वासन नहीं मिला तो समस्त ग्रामीणजन बंगला के सामने धरने पर बैठ गए। एसडीएम ने लोगों को समझाया कि जिन बाहुबलियों ने गांव के रास्ते को बंद कर दिया है, उनके खिलाफ उचित कार्रवाई कर रास्ता खाली कराया जाएगा। इसके बाद ही ग्रामीणों ने धरना समाप्त किया। लेकिन करीब एक घंटे तक चले इस तमाशे में फरियाद लेकर आए ग्राम वासियों में क्रोश था। लोगों को शांत कराने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने प्रयास किया और अंत में उन्हें मुख्य रास्ता से कब्जा हटाकर इस बदहाली से निजात दिलाने का आश्वासन दिया गया। गांव के लोगों में पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी एसडीएम से अतिक्रमण हटाने की गुहार लगाई है।

पूरा गांव है परेशान

दबंगों ने शासकीय जगह पर कब्जा कर आवागमन की रोड ही बंद कर दी है। गांव के रामदयाल वाजपेयी ने बताया पहले भी गांव का रास्ता बंद कर दिया था। लेकिन अब मुख्य रोड बंद होने से पूरा गांव परेशान है। मना करते हैं तो दबंग झगड़ने पर आमादा हो जाते हैं। लाठी व बंदूक दिखाकर जान से मारने का भय दिखाते हैं। इससे समूचे गांव के लोग तंग आ गए हैं। ग्रामीणों को चिंता सता रही है कि रास्ता जल्द ही नहीं खोला गया तो अधिक बारिश में लोगों के घरों में गंदा पानी भर सकता है। ऐसा हुआ तो मुसीबत और बढ़ जाएगी। ग्रामीणों ने फिलहाल एसडीएम से कहा है कि अगर प्रशासन ने ठोस कार्रवाई नहीं की तो वह धरने पर बैठ जाएंगे। इस संबंध में एसडीएम इकबाल का कहना है कि मामले की जांच कर उक्त रास्ते को शीघ्र ही खाली कराया जाएगा। ज्ञापन देने वालों में गेंदालाल, रामदीन, भगवानदास, विद्याराम, मानसिंह, सुख्वासी, रामकली बाई, मायादेवी परमा, सुषमा, मोहरश्री, ममता, मीनादेवी, तेजा देवी, मुकुट, अशोक, पानसिंह, पिंकू कड़ोरे, विंदोले, रामस्वरूप, पप्पू बाजपेयी, राजूसिंह, धीरज,बंटी, मुलायमसिंह, माताचरन, पुष्पेंद्र, दीपू, हृदेश आदि ग्रामीणजन मौजूद रहे।

X
Lahar News - mp news dabangs stopped in main road in rawatpura sani villagers performed on sdm bungalow
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना