भगवान बनने का प्रयास नहीं करो, प्रकृति कुचल देगी

Bhind News - हवन के बाद शांति कुंज हरिद्वार से पधारे पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य के पुत्र योगेश शर्मा ने मंच से प्रवचन देते हुए...

Oct 12, 2019, 08:30 AM IST
हवन के बाद शांति कुंज हरिद्वार से पधारे पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य के पुत्र योगेश शर्मा ने मंच से प्रवचन देते हुए कहा कि यदि कोई व्यक्ति भगवान बनने का प्रयास करता है, तो यह प्रकृति स्वरूपा ईश्वरीय शक्ति उसे कुचल देती है या उसे नष्ट कर देती है। भगवान की प्राप्ति भगवत बस्ती से होती है और सत्संग से ही ईश्वर से मिलन संभव है। गायत्री का नाम त्रिपदा भी रखा गया है। यह किस उद्देश्य से रखा गया है इसकी तीन धाराएं प्रख्यात हैं। सृष्टि के प्रारम्भ में भगवान का जो स्वरूप प्रकट हुआ था, उसे हम सत चित और आनन्द इन तीन शब्दों में व्याख्या कर सकते हैं। इस मौके पर आयोजन कर्ता अशोक भाद्वाज, राकेश सिंह जादौन, खनिज निगम के पूर्व चेयरमैन कोक सिंह नरवरिया, भाजपा नेता अजय सिंह भदौरिया, बिहारी बाल मंदिर के संचालक राजेश शर्मा, बरहद के प्रभात किशोर उर्फ लल्ला दुबे आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना