जेसीबी देख डरे व्यापारी तो दुकानें बंद कीं, विधायक बोले- मास्टर प्लान से नहीं, राजस्व नक्शे से नापा कब्जा, इसमें आपका फायदा

Bhind News - जेसीबी देखकर दुकानदारों ने बंद की दुकानें(ऊपर) व विधायक से शिकायत करते आक्रोशित व्यापारी। (नीचे) आग की तरह फैली...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:36 AM IST
Bhind News - mp news fearing the jcb the traders closed the shops the mla said not with the master plan the revenue map measured your advantage in this
जेसीबी देखकर दुकानदारों ने बंद की दुकानें(ऊपर) व विधायक से शिकायत करते आक्रोशित व्यापारी। (नीचे)

आग की तरह फैली जेसीबी की खबर

बताया जा रहा है कि शुक्रवार की सुबह जब व्यापारी अपनी दुकानें खोलने की तैयारी कर रहे थे तभी गोल मार्केट से नगरपालिका की एक जेसीबी मशीन गुजरी। यह देख व्यापारी डर गए। उन्होंने समझा कि नगरपालिका आज से बजरिया तोड़ने की कार्रवाई प्रारंभ कर रही है। यह खबर पूरी बजरिया के व्यापारियों में आग की तरह फैल गई। व्यापारियों अपनी दुकानें न खोलते हुए सामूहिक रूप से गोल मार्केट पर एकत्रित होने लगे। वहीं भिंड विधायक संजीव सिंह को भी यह सूचना भेजी गई। मौके पर विधायक संजू भी पहुंच गए।

जैन मंदिर में जुटे व्यापारी, पूर्व विधायक को भी सुनाया दुखड़ा

भिंड विधायक संजीव सिंह से चर्चा के बाद बजरिया के व्यापारियों ने जैन मंदिर में भी बैठक की। यहां पूर्व विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह को बुलाया गया। जहां व्यापारियों ने पूर्व विधायक कुशवाह को दस्तावेज दिखाते हुए अपने तर्क उनके सामने रखे। हालांकि पूर्व विधायक ने व्यापारियों की पूरी बात सुनने के पश्चात इस संबंध में भिंड कलेक्टर और प्रशासनिक अफसरों से चर्चा करने की बात कही तथा पूरा सहयोग देने का आश्वासन भी दिया। इसके बाद वे वहां से चले गए।

पहले से आधा रह गया अतिक्रमण

इस बार नगर पालिका ने बजरिया से अतिक्रमण हटाने के लिए 1940 के राजस्व नक्शे के आधार पर चिंहित किया है। इसके परिणामस्वरूप पिछली बार की तुलना इस बार व्यापारियों का आधा अतिक्रमण चिंहित किया गया है। बजरिया निवासी श्यामाचरण लखेरे ने बताया कि उनका पहले सवा पांच फीट अतिक्रमण चिंहित किया गया था। इस बार दो फीट बताया है। इसी प्रकार जुग्गन दीक्षित को पहले आठ फीट अब दो फीट का नोटिस दिया गया है। वहीं मधुर जैन को पहले सात फीट और अब साढ़े तीन फीट का नोटिस दिया गया है।

व्यापारियों के 4 तर्क, हमने नहीं किया कोई अतिक्रमण

1.बजरिया 100 से 150 साल पुरानी है। इसमें 10 से ज्यादा प्राचीन मंदिर हैं, जो कि ककईयां ईंट और चूने से बने हैं। इनका निर्माण भू-स्वामियों ने स्वयं के आधिपत्य की जमीन पर विधिवत नगरपालिका व अन्य एजेंसियों से अनुमति लेकर कराया है।

2.वर्ष 2010 में पहली बार नगरपालिका ने बजरिया अतिक्रमण बताकर व्यापारियों को नोटिस दिए। तब से अब तक करीब पांच से छह बार नोटिस दिए जा चुके हैं। हर बार अतिक्रमण की पैमाईस अलग अलग बताई जाती है, जिससे साबित होता है कि नगरपालिका के अतिक्रमण सिद्ध करने के लिए कोई ठोस रिकार्ड नहीं है।

3. बजरिया की सड़क राजस्व रिकार्ड में सर्वे क्रमांक 3721 में रकवा 19, 3724 में रकवा 14 विस्वा पर स्थित है। पैमाईश भी वर्तमान में इसी राजस्व रिकार्ड के अनुसार की गई है। आज भी सड़क किनारे 100 साल पुरानी वी शेप नालियां बनी है। इनके बाद मकान दुकानें बनी है, जिससे तय है कि अतिक्रमण नहीं है।

4. बजरिया बाजार एक पिछड़ा और पुरानी रिहायशी वाला घनी आबादी वाला इलाका है, जिसमें ज्यादातर मजदूर पेशा, सेवा कार्य करने वाले दुकानदार कारोबार करते हैं। उनके द्वारा जीवन भर की कमाई जोड़कर नियमानुसार अपनी निजी स्वामित्व की जमीन पर छोटे छोटे आशियानें व दुकानें बनाई हैं।

कलेक्टर के चैंबर में सीमांकन करने वाले को बुलाकर कराई चर्चा

भिंड विधायक संजीव सिंह के साथ बजरिया के व्यापारी कलेक्टर छोटे सिंह से मिलने कलेक्टोरेट पहुंचे। हालांकि यहां कलेक्टर नहीं थे। लेकिन विधायक संजीव सिंह ने कलेक्टर के चैंबर में ही एडीएम एके चांदिल और बजरिया का सीमाकंन करने वाले एसएलआर मुन्ना सिंह गुर्जर को मौके पर बुला लिया। व्यापारियों के सामने ही उन्होंने अतिक्रमण किस आधार पर चिह्नित किया गया, यह चर्चा की। एडीएम ने बताया कि हाईकोर्ट के आदेश पर यह कार्रवाई की जा रही है। एसएलआर की ओर से वर्ष 1940 के राजस्व नक्शे के आधार पर बजरिया में जहां जितनी सड़क है, उतनी वर्तमान सड़क के मध्य से दोनों ओर अतिक्रमण चिह्नित किया गया है। एडीएम ने यह भी बताया कि पहले जो अतिक्रमण चिह्नित किया गया था वह मास्टर प्लान के आधार पर चिह्नित था। इस पर विधायक ने आपत्ति जताते हुए कहा कि अभी जब भिंड में मास्टर प्लान लागू नहीं है तो उसके आधार पर अतिक्रमण कैसे चिह्नित कर सकते हैं। इस पर एडीएम ने बताया कि तभी राजस्व नक्शे के आधार पर सीमाकंन किया गया है। इसमें व्यापारियों का ज्यादा अतिक्रमण भी नहीं आ रहा है। तब विधायक ने भी व्यापारियों को समझाने का प्रयास किया। इसके बाद कुछ व्यापारी संतुष्ट हो गए।

Bhind News - mp news fearing the jcb the traders closed the shops the mla said not with the master plan the revenue map measured your advantage in this
X
Bhind News - mp news fearing the jcb the traders closed the shops the mla said not with the master plan the revenue map measured your advantage in this
Bhind News - mp news fearing the jcb the traders closed the shops the mla said not with the master plan the revenue map measured your advantage in this
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना