बाजार में सड़क से गुमटी-ठेले हटें, पार्किंग के साथ वन-वे हो ट्रैफिक, तभी खत्म होगी जाम की समस्या

Bhind News - दिवाली के बाद यातायात पुलिस ने शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के प्रयास किए थे। इसके चलते मुख्य बाजारों में...

Nov 22, 2019, 06:26 AM IST
Bhind News - mp news remove gum carts from the road in the market one way traffic with parking only then the problem of jam will end
दिवाली के बाद यातायात पुलिस ने शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के प्रयास किए थे। इसके चलते मुख्य बाजारों में लोगों ने रोड के किनारे अपने वाहनों को खड़े करना बंद कर दिया था। अब हालात जस की तस हो गए हैं। सदर बाजार, बतासा बाजार, पुस्तक बाजार हो या फिर लश्कर रोड, सभी मुख्य सड़कों पर इन दिनों ट्रैफिक जाम से शहरवासी परेशान हैं। लोगों का कहना है कि बाजार में सड़क किनारे से गुमटी-ठेले हटवा दिए जाएं। साथ ही पार्किंग व्यवस्था कर मुख्य मार्गों को वन वे कर दिया जाए तो ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात मिल सकती है।

गौरतलब है कि इन दिनाें शादियों का सीजन होने से बाजार में दिन के साथ-साथ देर रात तक वाहनों की आवाजाही लगी हुई है। दिन में बाजार में बड़ी संख्या में खरीदार आते हैं। बाजारों में बेतरतीब रखे दो पहिया और चार पहिया वाहनों से ट्रैफिक अवरुद्ध होता है। यही नहीं गांव से आने वाले ग्रामीण ट्रैक्टर ट्रॉली और लोडिंग वाहन भी बाजारों में ही खड़े कर देते हैं जिससे स्थिति और खराब हो जाती है, स्थानीय प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

यह है सदर बाजार की रोड... यहां एक ओर ठेले खड़े रहने के कारण सड़क आधी घिर जाती है

सदर बाजार में पार्किंग नहीं है। साथ ही रोड पर ठेले लगे रहते हैं। इस कारण यहां दिनभर ट्रैफिक जाम होता है।

जानिए बाजार में तीन प्रमुख समस्याएं और उनका समाधान

सदर बाजार में नहीं है पार्किंग: सदर बाजार शहर का सबसे व्यस्ततम बाजार है, लेकिन यहां वाहन पार्किंग तक का इंतजाम नहीं है। अक्सर यहां से पैदल निकलना भी मुश्किल होता है। ग्राहक दो पहिया और चार पहिया वाहनों को रोड किनारे खड़े कर देते हैं। इसके अलावा सड़क की दूसरी ओर ठेले लगे होने से रोड की चौड़ाई बहुत कम रह जाती है।

समाधान: बाजार में पार्किंग की व्यवस्था की जाए और यहां पर लगने वाले ठेलों को अन्य जगह शिफ्ट किया जाए तो ट्रैफिक जाम से लोगों को निजात मिल जाएगी।

पुस्तक बाजार में नहीं बचती है जगह: पुस्तक बाजार से अटेर रोड और नए रेलवे स्टेशन की तरफ जाने वाले वाहन निकलते हैं। सब्जी मंडी पास होने से भी यहां अधिक भीड़ रहती है। दुकानों के सामने दो पहिया वाहन खड़े हो जाने की वजह से इस मार्ग पर जगह नहीं बचती। नतीजा ट्रैफिक जाम होना शुरू हो जाता है।

समाधान: पुस्तक बाजार में दोनों ओर से घुसने वाले वाहनों को रोककर एक ओर का ट्रैफिक भूता बाजार से भी निकाला जा सकता है। पुस्तक बाजार और भूता बाजार को वन वे कर देना चाहिए।

बैंकों पर नहीं हैं पार्किंग:

लश्कर रोड और इटावा रोड पर 14 से अधिक बैंक हैं। किसी भी बैंक के पास पार्किंग नहीं हैं। ऐसे में यहां पर काम के सिलसिले में आने वाले लोग अपनी गाड़ियां सड़क पर पार्क कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में रोज दिन में हर 10 से 15 मिनट में ट्रैफिक जाम होता है।

समाधान: नगर पालिका और यातायात पुलिस को बैंक अधिकारियों से चर्चा कर पार्किंग की व्यवस्था करानी चाहिए। इसके अलावा यातायात अधिकारियों को बैंकों के पास ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए पाॅइंट लगाना चाहिए।

बतासा बाजार और बंगला बाजार से हटे अतिक्रमण

बतासा बाजार, बंगला बाजार भी सदर बाजार की तरह शहर के मुख्य बाजार हैं। यहां भी ट्रैफिक का बुरा हाल है। इसका कारण दुकानदारों द्वारा किया गया अतिक्रमण है। स्थिति यह है कि दोनों बाजारों में सड़क 35 से 40 फीट चौड़ी है लेकिन अतिक्रमण के कारण जगह 15 से 20 फीट रह जाती है। वहीं भूता बाजार में भी दिन में कई बार ट्रैफिक जाम की समस्या से लोगों को जूझना पड़ता है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए यातायात पुलिस को इन बाजारों के मार्गों को वन वे कर देना चाहिए। साथ ही इस का पालन भी सख्ती से हाेना चाहिए।

वन-वे मार्ग की रूपरेखा बना रहे, जल्द लागू करेंगे


X
Bhind News - mp news remove gum carts from the road in the market one way traffic with parking only then the problem of jam will end
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना