निजी स्कूलों से टक्कर लेने शिक्षकों ने खुद के खर्चे पर बनवा दिए हाईटेक कक्ष

Bhind News - सरकारी कन्या स्कूल में कम्प्यूटर का प्रशिक्षण लेती छात्राएं। 36 छात्राएं हेल्थ केयर के लिए सिलेक्ट स्कूल के...

Bhaskar News Network

Nov 10, 2019, 07:47 AM IST
Gohad News - mp news teachers built hi tech rooms at private expenses to compete with private schools
सरकारी कन्या स्कूल में कम्प्यूटर का प्रशिक्षण लेती छात्राएं।

36 छात्राएं हेल्थ केयर के लिए सिलेक्ट

स्कूल के प्रिंसिपल केएल सेजवार ने भास्कर प्रतिनिधि को जानकारी देते हुए बताया कि हमने एक हेल्थ केयर बनाया है, जिसके लिए 36 छात्राओं को चयनित किया गया है। यह सभी छात्राएं साइंस की होंगी और उन्हें अपने सभी सब्जेक्ट से एक विषय छोड़कर हेल्थ केयर का सब्जेक्ट लेना होगा। इसका लाभ यह होगा कि जो छात्रा हेल्थ केयर को चुनती हैं उन्हें सीधे पीएमटी परीक्षा देने का अवसर प्राप्त होगा। इसके साथ ही वह प्राथमिक उपचार भी सीख सकेंगी।

लाइब्रेरी में पढ़ने को मिलती हैं बायोग्राफी

विद्यालय में इन सभी सुविधाओं के साथ छात्राओं के लिए एक बड़ी लाइब्रेरी बनाई गई है। हालांकि अभी शुरुआत में संपूर्ण पुस्तकें नहीं आई हैं, फिर भी छात्राओं के मुताबिक किताबें मौजूद हैं। मैग्जीन, महापुरुषों की बायोग्राफी, इतिहास आदि की पुस्तकों को छात्राएं बड़े चाव से पढ़ती हैं। प्रिंसिपल सेजवार का कहना है कि छात्रों को किताबी ज्ञान के अलावा देश, दुनिया का ज्ञान होना चाहिए। इसके लिए ही स्कूल में लाइब्रेरी शुरू की गई है, जिससे छात्राएं पढ़ाई में रुचि लें।

गोहद के सरकारी कन्या स्कूल के कक्षों का हुआ नामकरण।

कम्प्यूटर शिक्षा के लिए उत्साह

छात्राओं में कम्प्यूटर शिक्षा प्राप्त करने के लिए बहुत उत्साह है। ग्रामीण इलाकों से आने वाली छात्राएं भी कम्प्यूटर सीखना चाहती हैं। इसके लिए विद्यालय में ही आधुनिक शिक्षा को महत्व देते हुए 10 कम्प्यूटर सिस्टम लगाए गए हैं। इन पर 20-20 बच्चियों का बैच पढ़ाई के लिए जाता है। एक प्रशिक्षक भी नियुक्त किया गया है जो छात्राओं को कम्प्यूटर के विषय में ज्ञान देता है। शिक्षकों द्वारा पढ़ाई जा रही कम्प्यूटर शिक्षा में छात्राओं द्वारा गंभीरता से रुचि ली जा रही है। छात्राओं को यह शिक्षा लंच के वक्त दी जाती है, जिससे उनकी पारंपरिक शिक्षा पर भी कोई प्रभाव नहीं पढ़ता है।

खुद के सहयोग से कर रहे व्यवस्थाएं

शिक्षा विभाग द्वारा स्कूल में जो सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं, उसके परे शिक्षकों के सहयोग से इसे हाईटेक बनाने का प्रयास किया जा रहा है। स्कूल में टाइल्स लगाने का कार्य संचालित है, इसके लिए प्रिंसिपल सेजवार को शिक्षकों ने सहयोग प्रदान किया है। शिक्षकों का मत है कि स्कूल में पढ़ने वाली सभी 752 छात्राएं अपने भविष्य को निर्धारित करें। उन्हें यह महसूस न हो कि किसी प्राइवेट विद्यालय से कम सुविधाएं मिल रही हैं। प्रिंसिपल सेजवार ने बताया कि अगर शिक्षक अपने कर्तव्यों का ठीक से पालन करें तो सरकारी स्कूल से बेहतर शिक्षा प्राइवेट स्कूलों में नहीं है। सरकारी स्कूलों में आयाम की कमी नहीं है, इसलिए शिक्षक अपना पूरा ध्यान छात्रों के भविष्य पर दें।

Gohad News - mp news teachers built hi tech rooms at private expenses to compete with private schools
X
Gohad News - mp news teachers built hi tech rooms at private expenses to compete with private schools
Gohad News - mp news teachers built hi tech rooms at private expenses to compete with private schools
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना