आयुर्वेद में हर मर्ज का इलाज, इसे विदेशी भी अपना रहे: राजाैरिया

Bhind News - देश के आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेजों में आयुर्वेदिक और एक्यूपंक्चर के विशेषज्ञों की मांग बढ़ गई है। आयुर्वेद आज से...

Nov 10, 2019, 06:26 AM IST
Bhind News - mp news treating every merge in ayurveda adopting it overseas rajaeria
देश के आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेजों में आयुर्वेदिक और एक्यूपंक्चर के विशेषज्ञों की मांग बढ़ गई है। आयुर्वेद आज से नहीं बल्कि कई हज़ारों वर्ष पहले से निरंतर चला आ रहा है। यह प्राचीन काल में भी उपयोगी था और आधुनिक काल में भी मानव के उपयोग है क्योंकि आयुर्वेदिक शास्त्रों में बताई गई बातें केवल हमारे ऊपरी त्वचा को से हमारे शरीर के आंतरिक अंगों को स्वस्थ रखने में हमारी मदद करते हैं और आयुर्वेद में बताई औषधियों का उपयोग भारत में ही बल्कि अन्य देशों में किया जा रहा है। क्योंकि बड़ी बड़ी बीमारियों बहुत ही आसान से दूर करने की शक्ति रखता है। आयुर्वेद हमारे शरीर को रोगों कैसे बचाता है। यह बात शनिवार को विजय मांगलिक भवन अटेर रोड पर अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन शाखा भिंड द्वारा आयोजित किए गए नि:शुल्क रोग निदान शिविर में संस्था के संरक्षक डॉ.एसके राजौरिया ने कही।

उन्होंने कहा कि आयुर्वेद एक ऐसी चिकित्सा है जो शरीर, मस्तिष्क और मन के बीच संतुलन बनाए रखने में मदद करती है। आयुर्वेद प्राकृतिक तरीके से व्यक्ति की शारीरिक परेशानियां दूर करती है। इस चिकित्सा के दौरान व्यक्ति के शरीर में उत्पन्न हुए उस असंतुलन का पता लगाया जाता है जो उसकी इस बीमारी का कारण है। असंतुलन को पता कर उसको प्राकृतिक तरीके से दूर करने की कोशिश की जाती है। आयुर्वेद में चिकित्सा शरीर के संचालन प्रारूप को ध्यान में रखकर की जाती है। इसमें शरीर और मस्तिष्क के ताल-मेल पर खास ध्यान दिया जाता है। वहीं कार्यक्रम में शामिल हुए सिविल सर्जन डॉ.अजीत मिश्रा ने कहा कि आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति हमारे देश की है। साथ ही आयुर्वेद और एक्यूपंक्चर पद्धति से किए जाने वाले इलाज को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

575 मरीजों के स्वास्थ्य की हुई जांच

शिविर में डॉ.राधेश्याम शर्मा, डॉ.देवेश शर्मा सहित अन्य विशेषज्ञ डॉक्टर्स के द्वारा शिविर में आने वाले मरीजों के स्वास्थ्य की जांच की गई। इस दौरान 575 मरीजों की जांच हुई साथ ही उनको नि:शुल्क दवाएं भी दी गई। वहीं मरीजों की बीपी, शुगर की भी जांच की गई। साथ ही मरीजों को स्वस्थ्य रहने के तरीके बताए गए। शिविर में आने वाले मरीजों को आयुर्वेद से इलाज और उसके फायदों को भी बताया गया।

शिविर में मरीजों के स्वास्थ्य की जांच करते हुए डॉक्टर।

बैठक में दी जानकारी

स्वास्थ्य शिविर समापन के बाद बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में उपस्थित प्रांतीय प्रतिनिधि डॉ.ओमप्रकाश टकसाली, डॉ.सुशील भारती ने प्रांतीय प्रतिनिधियों को संस्था से संबंधित जानकारी दी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष डॉ.वासुदेव नरवरिया, डॉ.आरडी परिहार, डॉ.उमाशंकर मिश्रा, डॉ.नदीम खान,डॉ.तरूण शर्मा, बालकदास, डॉ. सुरेश शाक्य, वैद्य रामनरेश कुशवाह, डॉ.जेपी सविता, डॉ.सुरेश वर्मा, डॉ.हनुमंत सिंह आदि मौजूद रहे।

X
Bhind News - mp news treating every merge in ayurveda adopting it overseas rajaeria
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना