• Hindi News
  • Mp
  • Bhind
  • Mo News mp news vehicles were taken out of the field to cross the slap and then dug out

रपटा पार करने खेत से निकाले वाहन तो खोद दिया रास्ता

Bhind News - एमपीआरडीसी ने ऊमरी-प्रतापपुरा कनावर मार्ग पर वाहनों से टोल टैक्स शुरू कर दिया है। लेकिन क्वारी नदी पर पुल टूटने के...

Dec 09, 2019, 09:31 AM IST
Mo News - mp news vehicles were taken out of the field to cross the slap and then dug out
एमपीआरडीसी ने ऊमरी-प्रतापपुरा कनावर मार्ग पर वाहनों से टोल टैक्स शुरू कर दिया है। लेकिन क्वारी नदी पर पुल टूटने के बाद जिस किसान के खेत से होकर वाहन गुजर रहे थे उसने अब अपनी जमीन खोद दी है। जिससे अब इस रास्ते पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से बंद कर दी है। ऐसे में इस मार्ग पर केवल दो पहिया वाहन ही निकल पा रहे हैं, जबकि चार पहिया छोटे-बड़े वाहनों के पहिए थम गए हैं। मामले को लेकर एमपीआरडीसी के अधिकारी भी कुछ स्पष्ट बोलने से परहेज कर रहे हैं।

बता दें कि टोल संचालन का जिम्मा एमपीआरडीसी ने कनावर के नीतू सिंह भदौरिया को दिया है। 5 दिसंबर को वाहनों से टोल वसूलकर उन्हें नदी पर बने रपटा से होकर निकाला जा रहा था। मगर रपटा पर पहुंचने के लिए किसान नीरज सिंह भदौरिया के खेतों से रास्ता बनाया गया है। जिस पर आपत्ति जाहिर करते हुए इस मार्ग को बंद किया गया है। नीरज भदौरिया ने बताया कि एमपीआरडीसी द्वारा जब वाहनों से टोल वसूला जा रहा है तो वह निकलने के लिए रास्ता भी दें। हम अपने खेतों से होकर वाहनों को किसी भी कीमत पर नहीं निकलने देंगे। मालूम हो कि कनावर के पास टूटे क्वारी नदी के पुल पर वाहन नहीं निकलते हैं। पुल के बगल में एक अस्थायी रपटा नदी पर बनाया गया है। इस रपटा पर पहुंचने के लिए वाहनों को खेतों से होरक बनाए कच्चे मार्ग से निकलना पड़ता है जो अब बंद कर दिया गया है।

ऊमरी-प्रतापपुरा रोड पर टोल टैक्स बनाया गया है। लेकिन जब से यह टोल टैक्स चालू हुआ है विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसमें एमपीआरडीसी के अधिकारी संज्ञान नहीं ले रहे हैं। ऐसे में वाहन चालकों की परेशानी बढ़ गई है।

कनावर पुल के पास कच्चे रास्ते पर खुदाई कर आवागमन किया बंद।

समस्या के समाधान के लिए नहीं पहुंचे अिधकारी

लोगों का मानना है कि जो रास्ता बंद किया गया है वह उनकी निजी जगह है और टोल संचालक का मानना है कि यह शासकीय जगह है। फिलहाल यहां जाम जैसी स्थिति हर रोज बनी रहती है। इसके बावजूद मौके पर शासन व प्रशासन का कोई भी अधिकारी समाधान के लिए नहीं पहुंचा है। इस संबंध में जब टोल संचालक से बात की तो उन्होंने बताया कि टोल पूरी तरह से वैध है। रास्ता बंद होने की सूचना वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचा दी गई है। देखना है कि मार्ग पर वाहनों की आवाजही कब तक बहाल होती है।

X
Mo News - mp news vehicles were taken out of the field to cross the slap and then dug out
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना