• Hindi News
  • Mp
  • Bhind
  • Ron News mp news village electricity cut villagers come to complain je said first deposit the arrears

गांव की बिजली काटी, ग्रामीण शिकायत करने पहुंचे तो जेई बोले- पहले बकाया जमा कराएं

Bhind News - बिजली कंपनी का 25 लाख बकाया, ग्रामीण बोले- नियमित नहीं मिलते बिल रौन जनपद के नौधा और बसंतपुरा में बिजली...

Jan 25, 2020, 08:45 AM IST
Ron News - mp news village electricity cut villagers come to complain je said first deposit the arrears

बिजली कंपनी का 25 लाख बकाया, ग्रामीण बोले- नियमित नहीं मिलते बिल

रौन जनपद के नौधा और बसंतपुरा में बिजली कर्मचारियों ने बकाया राशि वसूलने के लिए हाईटेंशन लाइन से ट्रांसफार्मर बंद कर गांव की सप्लाई रोक दी है। जिससे गांवों में बिजली-पानी का संकट बढ़ गया है। समस्या को लेकर बिजली कंपनी के जेई बलराम राजपूत से बात की तो उन्होंने कहा कि पहले बकाया बिल की 10 फीसदी राशि जमा करें उसके बाद ही बिजली की सप्लाई बहाल की जाएगी।

यहां बता दें कि नौधा गांव में कुल 372 कनेक्शन हैं, जिन पर बिजली कंपनी का करीब 25 लाख रुपए बकाया है। मुसीबत यह है कि ग्रामीणों को हर महीने बिल नियमित नहीं मिलते हैं। उपभोक्ताओं को यह तक मालूम नहीं है कि उन्हें हर महीने कितनी राशि का बिल जारी किया जा रहा है। अधिकारियों ने बिल वितरण की जिम्मेदारी लाइनमैन को सौंप रखी है जो उपभोक्ताओं तक बिल नहीं पहुंचा पाते हैं। ऐसी स्थिति में अधिकांश ग्रामीण बिल का भुगतान नहीं कर रहे हैं। बावजूद कंपनी ने अब गांव के ट्रांसफार्मर बंद करके लोगों को अंधेरे में कर दिया है।

गांव में सबसे बड़ी समस्या है कि किसी के यहां बिजली के कनेक्शन नहीं लगाए गए हैं। इसके अलावा खंभों पर अभी तक केबलीकरण नहीं किया गया है। लोग खुद ही बाजार से डोरी खरीदकर खंभों से तार डालकर घरों में बिजली का प्रबंध कर रहे हैं। मालूम हो कि राजीव गांधी विद्युत योजना के तहत गांव में चार साल पहले खंभे व लाइन लगाकर लोगों को कनेक्शन दिए गए थे। मगर यह योजना विफल हो गई। इसके बाद अटल ज्योति योजना का काम गांव में किया गया। इस योजना में ठेकेदारों ने अधूरा काम करके योजना को मंजूर करा लिया और लाखों रुपए हड़प लिया।

गांव की नल-जल योजना ठप, निजी बोर भी नहीं चल पा रहे, हैंडपंपों से भर रहे पानी


नौधा गांव में पानी संकट बढ़ गया है। गुरुवार की शाम कंपनी के कर्मचारियों ने गांव में रखे दोनों ट्रांसफार्मर के जंपर काट दिए थे। जिसके बाद गांव की बिजली गुल हो गई। लोगों ने बिजली कंपनी में फोन कर समस्या पूछना चाहा तो अधिकारियों ने फोन रिसीव नहीं किया। स्थिति यह है कि गांव की नल-जल योजना ठप हो गई है। लोग प्राइवेट बोर तक नहीं चला पा रहे हैं। पानी के संकट से जूझ रहे लोग हैंडपंपों से मशक्कत करते दिखाई देते हैं। स्थानीय रहवासी रामरतन सिंह का कहना है कि बिजली बंद करने के बाद वसूली की कार्रवाई की जा रही है। जबकि ग्रामीणों को अभी तक यह नहीं बताया गया है कि किसके कनेक्शन पर कितने रुपए का बिल बकाया है।

चुनाव में बिल माफ हुए थे, एक साल में कैसे बढ़ सकती है इतनी राशि

बिजली कंपनी के मुताबिक अगस्त माह तक ग्रामीण उपभोक्ताओं पर 25 लाख रुपए का बिल बकाया हो गया है। गांव के गांव के छोटेसिंह, रामरतन सिंह, राजेश सिंह, तेजसिंह का कहना है कि विधानसभा चुनाव से पहले सभी लोगों के बिल माफ किए गए थे। कंपनी ने जीरो बैलेंस के बाद बिल जारी भी किए थे। उसके बाद अचानक एक साल में इतना बिल कैसे हो गया है। जिसकी जांच होनी चाहिए। हालांकि कंपनी अधिकारियों ने भी यह स्पष्ट नहीं बताया है कि यह बिल कितने समय का है। फिलहाल ग्रामीणों में कंपनी के खिलाफ आक्रोश बढ़ा हुआ है। लोगों की मांग है कि गांव की बिजली जल्द ही बहाल की जाए। इतना ही नहीं कुछ ग्रामीण उपभोक्ताओं को कंपनी द्वारा डबल बिल भी थमाए जा रहे हैं।

बिल जमा करें उपभोक्ता, तभी सप्लाई होगी बहाल


नौधा में ट्रांसफार्मर के टूटे जंपर दिखाते ग्रामीण।

X
Ron News - mp news village electricity cut villagers come to complain je said first deposit the arrears

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना