--Advertisement--

अलर्ट / जीका का संक्रमण बढ़ा, 23 नए पॉजिटिव मरीज मिले

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 01:32 AM IST


23 suspected patients have reported Zika positive
X
23 suspected patients have reported Zika positive

  • 155 गर्भवती महिलाओं के ब्लड सैंपल जांच के लिए एम्स भेजे, रिपोर्ट आने पर होगा खुलासा
  • चार इमली, कोलार, अवधपुरी के बाद अब ईश्वर नगर में मिला पॉजिटिव मरीज

भोपाल. लार्वा और फीवर सर्वे के बाद भी भोपाल, सीहोर और विदिशा में जीका का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। गुरुवार को 23 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट जीका पॉजिटिव आई है। इन मरीजों के ब्लड सैंपल जांच के लिए ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंसेस (एम्स) स्थित रीजनल वायरोलॉजी लैब भेजे गए थे। 23 नए मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रदेश में जीका पॉजिटिव मरीजों की संख्या 9 से बढ़कर 32 हा़े गई है।  

 

नेशनल हेल्थ मिशन के अफसरों ने बताया कि जीका बुखार के पॉजिटिव मरीज भोपाल, सीहोर और विदिशा में मिले हैं। भोपाल में चार पॉजिटिव मरीज गोविंदपुरा, अवधपुरी, सर्वधर्म कॉलोनी (कोलार) में मिले हैं। पॉजिटिव मरीजों की गुजरात अथवा राजस्थान की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं मिली है। लेकिन, कांटेक्ट हिस्ट्री मिली है। इस कारण एहतियातन पॉजिटिव मरीज के परिजनों और उसके दोस्तों के ब्लड सेंपल की जांच भी कराई गई है। ताकि जीका वायरस के संक्रमण को बढ़ने से पहले रोका जा सके। 
 

पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने से युवक को हुआ जीका का संक्रमण :  
नेशनल हेल्थ मिशन के अफसरों ने बताया कि भोपाल के चार इमली में रहने वाली जीका पॉजिटिव छात्रा के सहपाठी की रिपोर्ट भी जीका पॉजिटिव आई है। अफसरों के मुताबिक गुरूवार को भोपाल के जिन चार मरीजों की रिपोर्ट जीका पॉजिटिव आई है, उनमें एक 14 वर्षीय किशोर भी शामिल है। वह चार इमली में रहने वाली छात्रा के साथ पढ़ता है, जिसकी रिपोर्ट बीते सप्ताह पॉजिटिव आई थी। शेष तीन मरीज अवधपुरी, कोलार और ईश्वर नगर के रहने वाले हैं।  
 

कहां कितने पॉजिटिव मरीज :

  • भोपाल - 5
  • सीहोर - 15
  • विदिशा - 11
  • सागर - 1
  •  

मरीज की मौत के बाद आई जीका पॉजिटिव रिपोर्ट : 
एम्स में दो रोज पहले जीका के जिस संदिग्ध मरीज की मौत हुई थी, उसकी रिपोर्ट भी जीका पॉजिटिव आई है। एनएचएम अफसरों के मुताबिक युवक को जीका का संक्रमण होने के अलावा जैपनिज एनसिफेलाइटिस और डेंगू भी था। तीन जानलेवा वायरस का संक्रमण होने के कारण उसकी मौत हो गई।

 

फीवर सर्वे में मिलीं 155 गर्भवती महिलाओं को माना संदिग्ध मरीज : 
जीका बुखार के संक्रमण को काबू करने के लिए राजधानी में पिछले सप्ताह शुरू किए गए लार्वा और फीवर सर्वे अभियान के दौरान 155 गर्भवती महिला को जीका का संदिग्ध मरीज माना गया है। इन सभी महिलाओं के ब्लड सैंपल जांच के लिए एम्स भोपाल भेजे गए हैं, जहां फिलहाल सभी नमूनों की रिपोर्ट पेंडिंग है।  

 

पायरेथ्रम के स्थान पर साइफिनोथ्रीम से फॉगिंग शुरू :  
नगर निगम उपायुक्त हर्षित तिवारी ने बताया कि डेंगू, चिकनगुनिया और जीका संक्रमण फैलाने वाले मच्छरों को मारने शहर की सभी 19 जोन में फॉगिंग शुरू कर दी गई है। पिछले सप्ताह तक यह फॉगिंग में कीटनाशक पायरेथ्रम का उपयोग किया जा रहा था, जिसके स्थान पर कीटनाशक  साइफिनोथ्रीम का उपयोग किया जा रहा है।

 

प्रदेश में अब तक 32 पॉजिटिव मरीज मिले : 

डॉ. चौहान ने बताया कि प्रदेश में अब तक 32 जीका पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इन मरीजों के ट्रीटमेंट की निगरानी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अफसरों की टीम कर रही है। जीका , एडीज मच्छर के काटने से होता है। इसके संक्रमण से बचने के लिए घर में पानी को 7 दिन से ज्यादा दिन तक कतई स्टोर न करें।

Astrology
Click to listen..