• Hindi News
  • Mp
  • Bhopal
  • 45 m of master plan The widened road survived only 7 meters, here also the Metro route

मप्र / मास्टर प्लान की 45 मी. चौड़ी रोड बची सिर्फ 7 मी., यहीं मेट्रो रूट भी

45 m of master plan The widened road survived only 7 meters, here also the Metro route
X
45 m of master plan The widened road survived only 7 meters, here also the Metro route

  • मेट्रो रूट की रेड लाइन का सर्वे  भदभदा से रत्नागिरी तक के रूट में सामने आई हकीकत
  • इस रूट पर मंगलवार को 8 किमी का सर्वे

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 05:54 AM IST

अजय वर्मा | भोपाल . भदभदा से रत्नागिरी के बीच मेट्रो के 12.99 किमी रूट पर 384 बाधाएं हैं। कहीं पर दुकानें, कहीं झुग्गीबस्ती, कहीं मल्टीस्टोरी बिल्डिंग और कहीं मकान आड़े आ रहे हैं। इस रूट पर सबसे ज्यादा बाधाएं लिली टॉकीज चौराहे से पुल बोगदा के बीच आ रही हैं, यहां पर करीब 231 बाधाएं हैं। इन्हेें दूर किए बिना मेट्रो का संचालन मुश्किल है। यहां पर प्रभावित लोगों की संख्या पूर्व में किए गए सर्वे में करीब 902 है। 
जवाहर चौक रूट पर करीब 96 बाधाएं आ रही हैं। यहां पर प्रभावितों की संख्या करीब 354 है। कुल प्रभावित लोगों की संख्या 1423 है। जिंसी चौराहे से मेट्रो की डबल लाइन हो जाएगी।

यहां से एक लाइन डिपो के लिए जाएगी। इसके चलते जिंसी चौराहे पर बनी मल्टीस्टोरी बिल्डिंग भी इसकी जद में आ रही है। मेट्रो रेल कंपनी को मैन रूट के दोनों तरफ 5 से 10 मीटर इलाका क्लियर चाहिए। ताकि मेट्रो के संचालन में भविष्य में दिक्कत न आए। रूट के बीच आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए जिला प्रशासन, मेट्रो रेल कंपनी और ट्रैफिक पुलिस ने मंगलवार से सर्वे शुरू कर दिया है। पहले दिन भदभदा से रत्नागिरी के रूट पर करीब 8 किमी मुआयना किया गया। 


छोटे तालाब में आएगा पिलर 
जहांगीराबाद जैन मंदिर के आगे मेट्रो का पिलर छोटे तालाब के भीतर आएगा। यहां से चिकलोद रोड से होते हुए मेट्रो पुल बोगदा की तरफ जाएगी। लेकिन लिली टॉकीज से पुल बोगदा के बीच की दूर करीब डेढ़ किमी है। वर्तमान में इस मार्ग की चौड़ाई अतिक्रमण की वजह से 7 मीटर बची है, जबकि मास्टर प्लान में यह सड़क 45 मीटर चौड़ी दिखाई गई। आसपास सैकड़ों ऐसे अतिक्रमण हैं, जिनको क्लियर जाना किया जाना है। इसमें पेट्रोल पंप की बाउंड्रीवाॅल, अस्पताल का आधा हिस्सा, दुकान-मकान शामिल हैं।

12.99 किमी के रूट पर 384 बाधाएं... सबसे ज्यादा अड़चनें लिली टॉकीज से पुल बोगदा के डेढ़ किमी के रूट पर

  • एक धार्मिक स्थल का हिस्सा। इसके अलावा इसी के  नीचे और सामने बनी दुकानें
  • चिकलोद रोड पर बनी दुकानें और कुछ मकान भी मेट्राे रूट में अड़चन बन रहे हैं। 
  • एक पेट्रोल पंप की बाउंड्रीवाल और उसके सामने बनी दुकानें और मकानों का हिस्सा 
  • वरदान अस्पताल का कुछ हिस्सा। इसके अलावा उसके सामने बनी दुकानें और एक धार्मिक स्थल मेट्रो रूट की जद में आ रहा है। 
  • जहांगीराबाद जैन मंदिर के आगे मेट्रो का पिलर छोटे तालाब के भीतर भी आएगा

यह भी अड़चनें 

  •  डिपो चौराहे के पास बनी दुकानें और अन्य 17 निर्माण हैं, जिनको हटाया जाएगा। 
  •  जवाहर चौक पर बंद हो चुके बस स्टैंड से लगी हुई 96 दुकानें और अन्य निर्माण हैं, जिनको हटाया जाना प्रस्तावित है। 
  •  रोशनपुरा पर स्थित झुग्गीबस्ती... इसमें से ज्यादातर को हटाया जाएगा। नगर निगम इनको शिफ्ट करेगा।
  •  मिंटो हॉल के सामने फुटपाथ पर बनी 11 दुकानों को शिफ्ट किया जाएगा। इसमें अभी टाइपिंग, फोटोकॉपी और वकीलों की नोटरी की शॉप संचालित हो रही हैं। 
  •  पीएचक्यू के आगे सरकारी अस्पताल की बिल्डिंग और 6 से 8 दुकानें आ रही रूट पर। 

लाल परेड मैदान के सामने आएगा मेट्रो का स्टेशन  
लाल परेड मैदान के सामने मेट्रो का स्टेशन प्रस्तावित है, लेकिन जिला प्रशासन और ट्रैफिक पुलिस के अफसर इसे लिली टॉकीज चौराहे के पास शिफ्ट कराना चाहते हैं। इसकी वजह यहां पर बरखेड़ी, जहांगीराबाद, पुराने शहर से आने वाले लोगों को सीधा फायदा होगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना