--Advertisement--

न्यू डाइमेंशन ग्रुप : इसका मकसद है बच्चों का ओवरऑल डेवलपमेंट

कुछ अलग करने की तमन्ना से इस्माइल कुरैशी और कंवलजीत इस्माइल ने साल 1994 में न्यू डाइमेंशन ग्रुप की शुरुआत की थी।

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 02:16 PM IST
The Pride of Madhya Pradesh : new dimension group bhopal

भोपाल। कुछ अलग करने की तमन्ना से इस्माइल कुरैशी और उनकी पत्नी कंवलजीत इस्माइल ने साल 1994 में न्यू डाइमेंशन ग्रुप की शुरुआत की थी। यह न केवल बच्चों को सुरक्षित और पारिवारिक वातावरण प्रदान करता है, बल्कि शिक्षा के उच्चतम स्तर को प्राप्त करने में भी मदद करता है। यहां व्यवहार कौशल पर भी काफी जोर दिया जाता है।

The Pride of Madhya Pradesh सीरीज में आज हम इसी न्यू डाइमेंशन ग्रुप की बात कर रहे हैं जो इस साल अपनी स्थापना की 25वीं जयंती मनाएगा। इस स्कूल में केवल अकादमिक ही नहीं, बल्कि स्टूडेंट्स के ओवरऑल डेवपलमेंट पर फोकस किया जाता है। इसलिए स्कूल के पाठ्यक्रम में विज्ञान, कला, संगीत, आडियो वीडियो लर्निंग, खेल, योग और शैक्षणिक यात्राओं को भी शामिल किया गया है।

कैसे हुई शुरुआत?
न्यू डाइमेंशन ग्रुप की फाउंडर और ग्रुप प्रिंसिपल कंवलजीत बताती हैं कि उनकी इंटर कास्ट मैरिज हुई थी। इस कारण वे फाइनेंशियल स्ट्रांग नहीं थे। इसलिए उन्होंने अर्निंग के लिए सबसे पहले छोटे बच्चों की कोचिंग क्लासेस शुरू की। इसी के अनुभव से इस स्कूल की नींव रखी। प्रारंभ में इसमें केवल 30 बच्चे थे। लेकिन बाद में कारवां बढ़ता गया। न्यू डाइमेंशन स्कूल (कोहेफिजा) के डायरेक्टर इस्माइल कुरैशी बताते हैं कि वे हमेशा अपने काम के प्रति ईमानदार और डैडिकेटेड रहे। इसलिए उन्हें सफलता मिलती रही।

ऐसे मिली सफलता :
इस ग्रुप से समीर इस्माइल और इस्मत समीर के जुड़ने से यह और भी तेजी से आगे बढ़ा। समीर इस्माइल न्यू डाइमेंशन स्कूल (गुलमोहर) के डायरेक्टर हैं। समीर बताते हैं कि वे इस स्कूल से तब से जुड़े, जब सातवीं कक्षा में पढ़ते थे। उन्होंने तब स्कूल में एन्युअल फंक्शन कंडक्ट किया था। वे बताते हैं कि हमारी स्कूल की डिमांड काफी थी, लेकिन नए भोपाल के लोगों को कोहेफिजा तक आने में काफी दिक्कत होती थी। इसलिए हमने गुलमोहर एरिया में नई ब्रांच शुरू की। भविष्य में हमारी योजना और भी ब्रांचेस खोलने की है। हम फ्रेंचाइजी आउटलेट्स देने पर भी विचार कर रहे हैं।


अवार्ड्स:

न्यू डाइमेंशन स्कूल को कई अवार्ड्स से भी नवाजा जा चुका है।

- स्कूल की ग्रुप प्रिंसिपल कंवलजीत इस्माइल को 2010 में एजुकेशन एक्सीलेंस के लिए शिक्षा भारती अवार्ड से सम्मानित किया गया। इसी साल किंडरगार्टन के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए उन्हें इंडियन अचीवर्स अवार्ड से नवाजा गया।
- स्कूल को 2012 में शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों के लिए इंडियन लीडरशिप अवॉर्ड फॉर एक्सीलेंस प्रदान किया गया।
- न्यू डाइमेंशन स्कूल को प्राइम टाइम द्वारा 2014 में बेस्ट किंडर गार्डन स्कूल का अवार्ड मिला। ISO सर्टिफिकेट से सम्मानित किया जाने वाला यह पहला किंडर गार्डन स्कूल है।
- न्यू डाइमेंशन स्कूल को 26 जून 2016 को Praxis Media द्वारा भोपाल का बेस्ट किंडरगार्टन स्कूल से नवाजा गया।

X
The Pride of Madhya Pradesh : new dimension group bhopal
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..