--Advertisement--

बर्खास्त SI का आरोप- एडीजी के दबाव में झूठे केस दर्ज कर पुलिस ने बना दिया अपराधी

संबंध में बर्खास्त एसआई ने मुख्यमंत्री को शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है।

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 07:30 AM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश पुलिस से बर्खास्त सब इंस्पेक्टर ने आरोप लगाए हैं कि एक एडीजी ने अपनी महिला मित्र को भतीजी बताकर मुझसे शादी करा दी थी। उनके अवैध संबंधों के विरोध की सजा मुझे भुगतना पड़ रही है। उनके दबाव में पुलिस ने मुझ पर कई झूठे मामले दर्ज करवा दिए। पुलिस ने फरार घोषित कर पांच हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर दिया है। इस संबंध में बर्खास्त एसआई ने मुख्यमंत्री को शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है।


सब इंस्पेक्टर अमिताभ प्रताप सिंह को इंदौर में हत्या के दो मामले समेत तीन मामलों में आरोपी बनाया गया था। कोर्ट से तीनों ही प्रकरण में दोषमुक्त होने के बाद भी वर्ष 2010 में अमिताभ को बर्खास्त कर दिया था। अब अमिताभ ने मुख्यमंत्री से शिकायत की है। उन्होंने आरोप लगाए कि एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा ने एक युवती को अपनी अनाथ भतीजी बताकर उससे मेरी शादी कराई थी। शादी के तीन साल बाद मुझे मेरी पत्नी का असली नाम पता चला। वह पहले ही एक पति को तलाक दे चुकी थी। वर्ष 2009 में मैंने दोनों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा था, लेकिन गोविंदपुरा पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। इसके 15 दिन बाद ही मेरा ट्रांसफर बालाघाट कर दिया गया।

मैं पत्नी को साथ रखना चाहता था, लेकिन एडीजी मिश्रा ने मेरी पत्नी से ही मेरे खिलाफ सीहोर में दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कराया। इसमें कोर्ट के आदेश पर खात्मा लग गया था। इसके बाद कमला नगर पुलिस ने मेरे खिलाफ दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज किया। कमला नगर में भी अन्य मामले दर्ज हैं। एडीजी के दबाव में 2014 में क्राइम ब्रांच ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में हिरासत में लिया था, लेकिन तीन दिन बाद योजना के तहत वहां से भगा दिया गया। उसके बाद मुझ पर दुष्कर्म का मामला दर्ज कर दिया। इस मामले में भी कोर्ट ने बरी किया। रातीबड़ और जहांगीराबाद थाने में मुझ पर मामला दर्ज किया गया। भोपाल पुलिस ने पांच हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। इधर मप्र राज्य महिला आयोग ने आयोग की फर्जी सील का दुरुपयोग करने के मामले में एसआई की पत्नी पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश श्यामला हिल्स पुलिस को दिए हैं। अमिताभ का कहना है कि 37 साल की उम्र में मेरा आपराधिक रिकाॅर्ड नहीं था, ऐसा क्या हुआ जो सब इंस्पेक्टर बनने के बाद मेरे खिलाफ एफआईआर होने लगी।


एजीडी बोले- अभी छुट्टी पर हूं, वापस आने के बाद बात करूंगा
एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा से जब मोबाइल पर बात कर उन्हें बताया गया कि अमिताभ प्रताप सिंह ने आपके खिलाफ शिकायत की है कि आपके दबाव में पुलिस एफआईआर कर रही है। उनका कहना था कि अभी वे एक महीने की छुट्टी पर हैं, वापस आने के बाद इस संबंध में बात करेंगे।