--Advertisement--

मुख्यमंत्री के फार्म हाउस की गायों का बिकेगा दूध, भोपाल में घरों में सैंपलिंग शुरू

बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान ने फूलों के स्टार्टअप के बाद अब दूध डेयरी का कारोबार शुरू कर दिया है।

Danik Bhaskar

Dec 21, 2017, 06:49 AM IST

भोपाल. सीएम शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान ने फूलों के स्टार्टअप के बाद अब दूध डेयरी का कारोबार शुरू कर दिया है। इसके लिए उन्होंने 5 करोड़ का लोन लिया है। दूध के इस ब्रांड को ‘सुधामृत’ नाम दिया गया है, जो 65 रुपए लीटर में मिलेगा। अगले दो सप्ताह तक भोपाल में रोजाना 800 लीटर दूध की सप्लाई करने की तैयारी है। कार्तिकेय ने विदिशा के ढोलखेड़ी में सुंदर डेयरी के नाम से डेयरी शुरू की है। डेयरी 10 एकड़ जमीन पर खोली गई है। बुधवार को एक-एक लीटर दूध की बोतलों में सैंपलिंग शुरू हो गई है। पहले दिन 400 लीटर दूध चार इमली, ई-1 अरेरा कॉलोनी, पारस हर्मिटेज के घरों में भेजा गया। गुरुवार से पारस सिटी में दूध भेजा जाएगा। एक सप्ताह तक शहर में दूध की सैंपलिंग होगी।

हॉलैंंड नस्ल की गाय का दूध
- सुंदर डेयरी में अभी 200 गाय खरीदी गई हैं। यह गाय हॉलैंड की होल्सटीन फ्राइयेशियन (एचएफ) नस्ल की हैं। ये औसतन एक बार में 15 से 18 लीटर दूध देती हैं। कुछ गाय 30 लीटर तक भी दूध देती हैं। एक गाय 40 से 90 हजार में आती है। डेयरी में अभी 200 गाय और आएंगी। इनमें देसी नस्ल की गाय भी होंगी। डेयरी में 800 लीटर तक क्षमता वाला प्लांट लगाया गया है।

होर्डिंग्स ने चौंकाया... ‘दूध का धुला’... दरअसल पिछले कुछ दिनों से शहर के हर हिस्से में लगे बड़े होर्डिंग्स ने चौंकाया था। ये होर्डिंग्स ‘जल्द आ रहा है, दूध का धुला गाय का दूध’ शीर्षक से नजर आ रहे थे। कैंपेन के बाद चर्चाओं ने जोर पकड़ा था कि आखिर कौन सी बड़ी कंपनी दूध के धंधे में आ रही है।

ये बोला कार्तिकेय चौहान..

किसने किया कैंपेन... इस पर हो रही अगर-मगर
- शहरभर में लगे होर्डिंग्स किसने लगवाए? इसे लेकर भी तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं। बताया जा रहा है कि शहर में लगे 40 से ज्यादा दूध के होर्डिंग्स विजन फोर्स के डायरेक्टर संजय प्रगट ने लगवाए हैं। यह कंपनी राज्य सरकार के कई प्रमुख कार्यक्रमों का मैनेजमेंट करती है।

- त्रिशूल और दिल्ली की प्लेनेट एडवरटाइजर्स कंपनियों की सभी प्रॉपर्टी पर ये होर्डिंग्स लगे हैं। कंपनी के राजेश शर्मा ने स्वीकार किया है कि उन्हें संजय प्रगट ने होर्डिंग्स लगाने को कहा है। वे ही भुगतान भी करेंगे। उधर, प्रगट ने कहा कि मैं तो सिर्फ सरकार के इवेंट का काम संभालता हूं। होर्डिंग्स लगवाने के धंधे में कभी नहीं उतरा।

फूलों के बाद अब डेयरी कारोबार भी शुरू कर दिया?
- सुधामृत दूध सेहत के लिए काफी फायदेमंद होगा। आधुनिक पद्धति के साथ अॉटोमेटिक मशीन से दूध निकाला जाता है। हम मानव स्पर्श रहित रसायन मुक्त दूध उपलब्ध कराएंगे।
- कितने शहरों में दूध सप्लाई करेंगे?
अभी सिर्फ भोपाल में। विदिशा में भी देंगे। बाद में अन्य जगह का सोचेंगे।

प्रोडक्ट का नाम सुधामृत ही क्यों?
- दादी का नाम सुंदर और नानी का नाम सुशीला है। पहले से ही सोचा था कि ‘सु’ नाम से ही प्रोडक्ट होगा।

क्या राजनीति में नहीं जाएंगे?
- अभी राजनीति में जाने का इरादा नहीं है। यह प्रोजेक्ट परिवार के लिए कर रहा हूं। मेरे दो उद्देश्य हैं। मेरे साथ डेयरी में जो काम कर रहे हैं, उनका बेहतर भविष्य बनाऊं। दूसरा, आसपास के किसानों का जीवन बेहतर बनाऊं।

Click to listen..