--Advertisement--

बजरंग दल ने अपनाया विरोध का अनूठा तरीका, बैंड- बाजे से गौ तस्करो को पहुंचाया थाने

गायों को तस्करी से बचाने का अच्छा काम करने के बाद भी गोरक्षकों पर मारपीट और हिंसा करने जैसे गंभीर आरोप लगते रहे हैं।

Danik Bhaskar | Jan 21, 2018, 01:08 AM IST
गाड़ी में दो पार्टीशन कर ऊपर 25 और नीचे 22 मवेशियों को बेरहमी से भरा था। गाड़ी में दो पार्टीशन कर ऊपर 25 और नीचे 22 मवेशियों को बेरहमी से भरा था।

बैतुल (मध्यप्रदेश). गायों को तस्करी से बचाने का अच्छा काम करने के बाद भी गोरक्षकों पर मारपीट और हिंसा करने जैसे गंभीर आरोप लगते रहे हैं। ऐसे आरोपों से बचने के लिए मध्यप्रदेश के मुतलाई में गोरक्षकों ने विरोध का अनूठा तरीका अपनाया। दरअसल, कुछ लोग गाय की तस्करी करने जा रहे थे। मिली सूचना के बाद बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने आरोपियों पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। ड्राइवर सहित ट्रक को बाजे-गाजे के साथ थाने पहुंचाया और पुलिस के हवाले किया। क्या है मामला...

- बजरंग दल के मुताबिक, आरोपी मवेशियों को ट्रक में भरकर महाराष्ट्र के कत्लखाने ले जा रहे थे। नेशनल हाईवे पर खंबारा टोल प्लाजा के पास शनिवार सुबह गांव के कार्यकर्ताओं ने इस ट्रक को पकड़ा।

- सूचना मिलते ही दल के सभी कार्यकर्ताओं के साथ मौके पर पहुंचे। ट्रक तिरपाल से ढंका हुआ था। ट्रक के डाले में लकड़ी से दो पार्टीशन कर ऊपर 25 और नीचे 22 मवेशियों को बेरहमी से भरा था।

- ट्रक और ड्राइवर को बाजे-गाजे के साथ पुलिस थाना पहुंचाया। पुलिस ने ट्रक में भरे मवेशियों को गोशाला पहुंचाया।

- ट्रक ड्राइवर शानू के खिलाफ गोवंश प्रतिशोध अधिनियम के तहत कार्रवाई की। ट्रक को राजसात करने की कार्रवाई की जा रही है।

- तस्करी में लोकल लोगों के शामिल होने की आशंका गांव वालों ने बताया ट्रक को रोकने पर एक बोलेरो पहुंची। उसमें शहर के कुछ युवक बैठे थे।

- उन्होंने ट्रक में बैठे दो लोगों को उतारा और बोलेरो में चिल्हाटी गांव की ओर ले गए। ट्रक ड्राइवर शानू ने बताया रास्ते में एक बाइक सवार ने ट्रक को रोककर 10 हजार रुपए की डिमांड की।

- इसके बाद वह बोलेरो लेकर आया। बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने ट्रक पास कराने के लिए रुपए मांगने वाले और बोलेरो सवार आरोपियों पर कार्रवाई करने की मांग एसडीओपी अनिल कुमार शुक्ला से की।

बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने उन्हें पकड़कर पुलिस के हवाले किया। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने उन्हें पकड़कर पुलिस के हवाले किया।
तस्करों को ट्रक और ड्राइवर को बाजे-गाजे के साथ पुलिस थाना पहुंचाया। तस्करों को ट्रक और ड्राइवर को बाजे-गाजे के साथ पुलिस थाना पहुंचाया।