--Advertisement--

98 BJP विधायक ट्विटर से तो 47 FB पर गायब, सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने की नसीहत बेकार

सोशल मीडिया पर भाजपा पदाधिकारियों और विधायकों की सक्रियता का रिपोर्ट कार्ड।

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2018, 12:25 AM IST
Bhasakar Exclusive  BJP leaders social media activeness report card after party recommendation

भोपाल(मध्यप्रदेश). सरकार और संगठन के खिलाफ होने वाले दुष्प्रचारों का टि्वटर और फेसबुक पेज बनाकर माकूल जवाब देने के लिए दी गई नसीहत को भाजपा विधायकों ने भुला दिया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर मुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष की सीख भी बेअसर है। संगठन ने सात महीने पहले सारे विधायकों को सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने को कहा था। बकायदा फेसबुक पेज और टि्वटर अकाउंट्स खाते खोलने के निर्देश दिए थे। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व की निगरानी के चलते प्रदेश संगठन अपने पदाधिकारियों और विधायकों की सोशल मीडिया पर सक्रियता देखता है। भाजपा के 165 में से 98 विधायकों ने अभी तक अपना ट्विटर अकाउंट नहीं खोला है तो फेसबुक पर 47 विधायकों ने पेज नहीं बनाया है।

40 विधायक तोेे ऐसे हैं, जिन्हें एक हजार लाइक्स भी नहीं

इनमें फॉलोअर्स और लाइक्स की संख्या भी चौंकाने वाली है। ट्विटर पर 1 हजार से कम फॉलोअर्स वाले 41 विधायक हैं। वैसे ही फेसबुक पेज बनाने वाले 40 विधायक तोेे ऐसे हैं, जिन्हें एक हजार लाइक्स भी नहीं मिलते हैं। अभी तक दो बार विधायकों के सोशल मीडिया अकाउंट्स की गोपनीय रिपोर्ट बन चुकी है। दोनों रिपोर्ट में 50 फीसदी विधायक ट्विटर और फेसबुक पेज से गायब मिले हैं।


मंत्रियों की सक्रियता पहले से बढ़ी

कुछ माह में मंत्रियों के फॉलोअर्स बढ़े हैं। सीएम के 44 लाख 70 हजार, कैलाश विजयवर्गीय के 5 लाख 50 हजार, भूपेंद्र सिंह के 44,200, संजय पाठक के 34,200, राजेंद्र शुक्ल के 24,400 फॉलोअर्स हैं। जयभान सिंह पवैया, गौरीशंकर शेजवार, रुस्तम सिंह और कुसुम महदेले टि्वटर पर मौजूद नहीं हैं।

नसीहत बेअसर... शाह ने कहा था सोशल मीडिया पर बढ़ाएं सक्रियता
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सात माह पहले भोपाल दौरे पर सोशल मीडिया पर सक्रियता बढ़ाने की संगठन को नसीहत दी थी। शाह ने संगठन के कामों और किसी भी दुष्प्रचार के खिलाफ तुरंत सोशल मीडिया पर जवाबी हमला करने की बात कही थी। ये तक कहा था कि अगली बार दौरे पर सोशल मीडिया का रिपोर्ट कार्ड देखा जाएगा।

नजरअंदाज... सीएम-प्रदेशाध्यक्ष के निर्देश नहीं मान रहे विधायक
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने सभी को सोशल मीडिया पर योजनाओं का प्रचार करने को कहा है। सरकार-संगठन के खिलाफ चलने वाले दुष्प्रचार का ठोस जवाब देने के निर्देश दिए हैं। आईटी सेल को किसी भी मामले में तुरंत जवाब देने के निर्देश हैं। इसके बावजूद संगठन के चुनिंदा पदाधिकारी-विधायक ही फेसबुक-ट्विटर पर सक्रिय हैं।

आईटी सेल के प्रदेश संयोजक शिवराज सिंह डाबी ने बताया कि 4 महीने में ट्विटर पर मंत्रियों की सक्रियता और फॉलोअर्स काफी बढ़े हैं। शहरी क्षेत्र के विधायक सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं। पिछड़े इलाकों के विधायकों की सोशल मीडिया पर सक्रियता इसिलए कम है, क्योंकि उनके क्षेत्रों में लोगों की रुचि सोशल मीडिया पर है। आईटी सेल लगातार कोशिश कर रहा है कि प्रत्येक विधायक ट्विटर-फेसबुक पर सक्रिय हों। - ,

X
Bhasakar Exclusive  BJP leaders social media activeness report card after party recommendation
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..